ताज़ा खबर
 

कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया को तोड़ लाई BJP तो सोशल मीडिया पर बोले लोग- फिर से, खेल गए मोटाभाई; ट्रोल्स ने यूं साधा निशाना

ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने पर सोशल मीडिया पर एक यूजर ने कहा- 'अभी-अभी सिंधिया, कमलनाथ के घर की खिड़की में मुंह डालकर 'बुरा न मानों होली है' बोलकर भाग गए।'

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र भोपाल | Updated: March 10, 2020 2:24 PM
सोशल मीडिया यूजर्स ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के भाजपा में जाने पर कई तंज कसे।

Madhya Pradesh, Kamalnath Government Crisis news and updates: ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंगलवार (10 मार्च, 2020) को आखिरकार कांग्रेस छोड़ दी जिसके साथ ही मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर संकट गहरा गया है। यूपीए सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे सिंधिया इस्तीफे के बाद सोशल मीडिया में भी खूब ट्रेंड कर रहे हैं। यूजर्स उनके इस्तीफे पर जमकर मजे ले रहे हैं। ट्विटर यूजर निशा सिंह राठौड़ @therealnisha1 ने अमित शाह की एक फोटो शेयर करते हुए लिखा, ‘खेल गए मोटाभाई।’ बिहारी बाबू @Ranjans53091047 ट्वीट कर लिखते हैं, ‘अभी-अभी सिंधिया, कमलनाथ के घर की खिड़की में मुंह डालकर ‘बुरा न मानों होली है’ बोलकर भाग गए।’ एक यूजर लिखते हैं, ‘मेरा पानी उतरता देख मेरे किनारे पर घर मत बना लेना मैं समंदर हू लौटकर जरूर आऊंगा।’

इसी तरह हंसराज मीणा @HansrajMeena सिंधिया पर निशाने साधते हुए लिखते हैं, ‘पहले अंग्रजो से मिलकर देश के साथ गद्दारी की, अब भाजपा से मिलकर देश को आजादी दिलवाने वाली पार्टी के साथ गद्दारी। सिंधिया परिवार का मूल चरित्र साफ है कि जिस थाली में खाते हैं, उसी में ठेक करते हैं। इतिहास गवाह हैं।’ कांग्रेस के पंकज पूनिया लिखते हैं, ‘कुछ तो शर्म कर लेते, चलो फिर भी गद्दारी का ईनाम मिलने पर बधाई।’ नजराना लिखती हैं, ‘आप प्रधानमंत्री के दावेदार बन सकते थे पर अफसोस अपने अपनी विचारधारा है बदल डाली।’

बता दें कि पार्टी छोड़ने पर कांग्रेस ने कहा है कि पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते सिंधिया को निष्कासित किया गया है। मध्य प्रदेश के कांग्रेस के 17 विधायकों एवं मंत्रियों के बेंगलुरु में होने की खबर है। ये सिंधिया के करीबी बताए जाते हैं। इनमें से सिंधिया के वफादार माने जाने वाले कांग्रेस के 14 विधायकों ने मंगलवार को राज्य के राज्यपाल को अपने इस्तीफे भेज दिए। राजभवन के सूत्रों ने यह जानकारी दी। राजभवन के एक अधिकारी ने बताया, ‘हमें दो ईमेल के जरिए 14 विधायकों के इस्तीफे मिले हैं।’ इस संबंध में आगे के विवरण की प्रतीक्षा है। इससे पहले सिंधिया ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मिलने के कुछ समय बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा सौंप दिया था।

खास बात है कि इन विधायकों के इस्तीफे के बाद कमलनाथ सरकार के अल्पमत में आने का खतरा है। राज्य में कांग्रेस के पास 114 विधायक हैं और उसे चार निर्दलीय, बसपा के दो और समाजवादी पार्टी के एक विधायक का समर्थन हासिल है। भाजपा के 107 विधायक हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात के बाद सिंधिया ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए अपने इस्तीफे की घोषणा की। उन्होंने जो त्यागपत्र साझा किया है उस पर नौ मार्च की तिथि है।

Next Stories
1 Congress को दोहरा झटका! ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के ऐन बाद 19 विधायकों ने भी भेजा त्याग-पत्र
2 संकटग्रस्त Yes Bank ने चालू की IMPS, NEFT सेवा, कहा- अन्य खातों से अदा कर सकते हैं क्रेडिट कार्ड बकाया और लोन
3 देश में Coronavirus के केस बढ़कर 50, ईरान से भारत लौटे 58 भारतीय, दुनिया में अब तक 4,000 से ज्यादा मौतें
ये पढ़ा क्या?
X