घर पर लड़का है पर लड़ नहीं सकता, स्मृति ईरानी ने राहुल-प्रियंका पर कसा तंज

स्मृति ईरानी ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के उस नारे पर चुटकी ली है, जिसमें प्रियंका ने कहा था, ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं।’

Smriti Irani
ईरानी ने राहुल गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि क्या लोगों में उस व्यक्ति के प्रति भावना है? (फोटो सोर्स- पीटीआई)

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधा है। दरअसल स्मृति ईरानी ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के उस नारे पर चुटकी ली है, जिसमें प्रियंका ने कहा था, ‘लड़की हूं, लड़ सकती हूं।’

स्मृति ने प्रियंका के इस नारे को लेकर राहुल गांधी पर तंज कसा और कहा, ‘घर पर लड़का है, पर लड़ नहीं सकता।’ ईरानी ने टाइम्स नाउ समिट 2021 के दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का मजाक उड़ाया।

ईरानी ने आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के नारे का जवाब देते हुए कहा, ‘यूपी में विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ा जाएगा और हमें उम्मीद है कि लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए नीति और विकास के नेतृत्व की चर्चा होगी।’

इस दौरान जब इस बात की चर्चा हुई कि कांग्रेस यूपी विधानसभा चुनाव में 40 प्रतिशत सीटों पर महिला उम्मीदवारों को मैदान में उतारेगी, तो इस पर ईरानी ने कहा कि मतलब साफ है कि घर पर लड़का है पर लड़ नहीं सकता।

ईरानी ने राहुल गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि क्या लोगों में उस व्यक्ति के प्रति भावना है? उन्होंने ये भी कहा कि महिला नेताओं से केवल समाज की महिला सदस्यों की देखभाल करने की अपेक्षा नहीं की जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि जब हम महिला नेताओं के बारे में बात करते हैं तो हम क्यों कहते हैं कि महिला नेताओं को केवल महिलाओं के लिए काम करना चाहिए, हम पुरुषों के लिए भी ऐसा क्यों नहीं कहते?

ईरानी ने कहा कि जब हम किसी को संवैधानिक जिम्मेदारी देते हैं, तो यह भी जिम्मेदारी बनती है कि वह पुरुषों, बच्चों और बड़ों के लिए उतना ही काम करे, जितना महिलाओं के लिए करता है।

ईरानी ने समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव पर भी ये कहते हुए निशान साधा कि लड़के हैं, लेकिन लड़ नहीं सकते।

इसके अलावा चुनाव से पहले राजनीतिक नेताओं के मंदिरों में जाने के सवाल पर ईरानी ने कहा कि 2019 में मेरी चुनावी रैली में, जब अमित शाह अमेठी में प्रचार करने आए, तो उन्होंने एक मस्जिद का भी दौरा किया था। तो हम सिर्फ मंदिरों के बारे में क्यों बात करते हैं?

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रत्याशी समेत अनेक लोगों पर मुकदमा