ताज़ा खबर
 

दुर्घटना में मारे गए रमेश नागर के बच्‍चों का आरोप- हमें सड़क पर मरता छोड़ गई थीं स्‍मृति ईरानी, मंत्री का इनकार

मीडिया से बातचीत में परिवार ने कहा कि हादसे के बाद उन्‍होंने रमेश को जल्द हॉस्पिटल ले जाने की बात की थी, लेकिन कोई तैयार नहीं हुआ।

Author आगरा | March 8, 2016 12:28 PM
कई मीडिया में रिपोर्ट में एफआईआर के हवाले से यह भी दावा किया जा रहा है कि स्‍मृति ईरानी के काफिले की किसी कार ने मोटरसाइकिल को टक्‍कर मारी थी। अभी तक यही कहा जा रहा था कि मोटरसाइकिल को एक होंडा सिटी कार ने टक्‍कर मारी थी।

यमुना एक्सप्रेस वे पर शनिवार रात हुए सड़क हादसे में मारे गए शख्‍स की बेटी ने मानव संसाधन मंत्री स्‍मृति ईरानी पर मदद नहीं करने का आरोप लगाया है। हादसे में रमेश कुमार नागर की 12 साल की बेटी संदली ने मीडिया के साथ बातचीत में यह भी दावा किया है कि दुर्घटना के बाद वह और उसका 8 साल का भाई पंकज सात घंटे तक तड़पते रहे। पीडि़त परिवार के रिश्‍तेदारों का दावा है कि बच्‍चों को किसी प्रकार की मेडिकल एड नहीं दी गई थी। हम लोगों ने सुबह 4 बजे एम्‍बुलेंस से बच्‍चों को आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज पहुंचाया था। दूसरी ओर मथुरा जिला अस्‍पताल के चीफ मेडिकल सुपरिंटेंडेंट डॉक्‍टर कामता प्रसाद गर्ग परिवार के दावे को झूठा बता रहे हैं। उनका दावा है कि बच्‍चों को पेन किलर्स, एंटीबायटिक टैब्‍लेट्स दी गई थीं। दूसरी ओर स्‍मृति ईरानी ने ट्वीट करके दावा किया है कि उन्‍होंने घायलों की मदद की थी।

इस बीच मानव संसाधन मंत्रालय के प्रवक्‍ता ने सफाई दी है कि मोटरसाइकिल पर सवार रमेश नागर की मौत ईरानी के काफिले की कार से टक्‍कर के चलते नहीं हुई, बल्कि एक अन्‍य कार ने बाइक को टक्‍कर को मारी थी। आपको बता दें कि कई मीडिया में रिपोर्ट एफआईआर के हवाले से दावा किया जा रहा है कि ईरानी के काफिले की कार ने बाइक को टक्‍कर को मारी थी। इससे पहले बताया गया था कि होंडा सिटी कार ने बाइक को टक्‍कर मारी थी, जिसके बाद ईरानी के काफिले की कारें आपस में टकरा गई थीं।

मीडिया से बातचीत में परिवार ने कहा कि हादसे के बाद उन्‍होंने रमेश को जल्द हॉस्पिटल ले जाने की बात की थी, लेकिन कोई तैयार नहीं हुआ। स्‍मृति ईरानी नीचे उतरी थीं, लेकिन देखने के बाद फिर कार में बैठ गईं। इसके बाद शीशा चढ़ाया और निकल गईं। संदली ने बताया कि वे नोएडा शादी में हिस्सा लेने के लिए जा रहे थे। उनकी बाइक की स्पीड बहुत कम थी फिर भी पीछे से एक कार ने टक्कर मार दी। होंडा सिटी कार के पीछे स्मृति ईरानी के काफिले की गाड़ियां चल रही थी, जो अचानक हादसे के बाद एक-दूसरे से टकरा गईं। बताया जा रहा है कि मरने वाला रमेश कुमार आगरा के कालिंदी विहार का रहने वाला है। हादसे में उसकी बेटी और बेटा भी घायल हुए थे। इस बीच मथुरा के एसएसपी राकेश कुमार सिंह का भी बयान आया है और उन्‍होंने भी घायलों की मदद की गई थी।

आपको बता दें कि स्मृति ईरानी वृंदावन में हुए भाजयुमो के राष्ट्रीय अधिवेशन में शामिल होकर शनिवार रात वापस दिल्ली लौट रही थीं। इसी दौरान रात 10.30 बजे के करीब यमुना एक्सप्रेस-वे पर मथुरा के नजदीक वृंदावन में हुआ है। हादसे के वक्‍त स्मृति ईरानी के साथ बीजेपी के कई सीनियर लीडर भी साथ थे। एक प्रत्‍यक्षदर्शी के मुताबिक, आगरा से नोएडा जा रहे रमेश कुमार की बाइक को पीछे से होंडा सिटी कार (DL 3C BA 5315) ने टक्कर मार दी थी। दुर्घटना में स्मृति ईरानी के ड्राइवर और एक कॉन्सटेबल भी जख्मी हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App