केरल में कोरोना से हालात बेकाबू! संबित पात्रा बोले- ईद पर छूट देने के लिए धन्यवाद

केरल मुख्यमंत्री ने यह स्वीकार किया कि राज्य महामारी से लड़ने में चुनौतियों का सामना कर रहा है।

corona, covid
केरल में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। (एक्सप्रेस फोटो)।

देश के दक्षिणी राज्य केरल में कोरोना वायरस से इस समय हालात बेकाबू हैं। राज्य में इस स्थिति के लिए बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने केरल सरकार पर निशाना साधा है। नेता ने तंज कसते हुए कहा कि ईद पर छुट्टी देने के लिए धन्यवाद। पात्रा ने ट्वीट किया, ‘ईद पर दी गई छूट के चलते देश में अब आधे कोरोना के मामले केरल से ही रिपोर्ट किए जा रहे हैं। लेकिन हमेशा की तरह लोग दोष कुंभ मेले या कांवड़ यात्रा को देंगे। हम्म…केरल मॉडल?’

केरल में कोरोना की स्थिति की बात की जाए तो मंगलवार को कोविड-19 के 22,129 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 33,05,245 हो गई। वहीं, जांच संक्रमण दर (टीपीआर) फिर से 12 फीसदी के पार हो गई। राज्य में मंगलवार तक 156 मरीजों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 16,326 हो गई। 13,145 मरीजों के संक्रमण मुक्त होने के बाद राज्य में कुल स्वस्थ हुए लोगों की संख्या बढ़कर 31,43,043 हो गई।

राज्य में 1,45,371 मरीजों का उपचार चल रहा है। राज्य के पांच जिलों में संक्रमण के 2,000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। सबसे ज्यादा 4,037 मामले मलाप्पुरम से सामने आए हैं। इसके बाद त्रिशूर में 2,623, कोझिकोड से 2,397 और एर्नाकुलम से 2,352 और पलक्कड़ से 2,115, कोल्लम से 1,914 और कोट्टायम से 1,136, तिरुवनंतपुरम से 1,100, कन्नूर से 1,072 और अलप्पुझा से 1,064 मामले सामने आए।

वहीं, केरल में मंगलवार दो नाबालिगों समेत पांच और व्यक्तियों में जीका वायरस संक्रमण की पुष्टि के बाद इस बीमारी से संक्रमितों की कुल संख्या 56 हो गयी हैं जिनमें से आठ मरीज उपचाराधीन हैं।


दूसरी ओर केरल कांग्रेस ने आरोप लगाया कि कोविड-19 से मरने वालों की वास्तविक संख्या और राज्य सरकार द्वारा जारी आंकड़े में भारी असमानता है। राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, वीडी सतीशन ने कहा, ”मौतों की संख्या के बारे में जानकारी मांगने के लिये 13 जुलाई को आरटीआई आवेदन किया गया था। 23 जुलाई को इसका जवाब आया था। इसमें कहा गया है कि 1 जनवरी, 2020 से इस साल 13 जुलाई तक, राज्य में कोविड ​​​​-19 से 23,486 लोगों की मौत हुई थी। वहीं, मुख्यमंत्री ने कल सदन को बताया कि केवल 16,170 मौतें हुईं।”

इस बीच केरल मुख्यमंत्री ने यह स्वीकार किया कि राज्य महामारी से लड़ने में चुनौतियों का सामना कर रहा है। मुख्यमंत्री ने टीकों की आपूर्ति के विषय पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया पर भी निशाना भी साधा। विजयन ने विधानसभा में कहा, ‘‘ मौजूदा परिस्थिति यह है कि हम टीके की भारी कमी का सामना कर रहे हैं। यही सच्चाई है।’’

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट