ताज़ा खबर
 

PM की काशी बारिश के बाद जलमग्न! फोटो शेयर कर येचुरी ने कसा तंज- PM अब वाराणसी को वेनिस बनाने का दावा करेंगे

सीताराम येचुरी ने वाराणसी की तस्वीर रीट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा और कहा कि अब वह काशी को वेनिस बनाने का दावा कर सकते हैं। बता दें कि लगातार बारिश की वजह से वाराणसी शहर का बुरा हाल है।

वाराणसी की जलमग्न सड़कें। फोटो क्रेडिट- ट्विटर @I_the_India_

इन दिनों उत्तर भारत में लगातार बारिश हो रही है। समय से पहले ज्यादा बारिश लोगों के लिए परेशानी भी लेकर आई है। उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में बारिश की वजह से जलभराव की समस्या हो गई है। पीएम मोदी का वाराणसी भी इससे अछूता नहीं है। वाराणसी की सड़कें जलमग्न दिखाई दे रही हैं। लोगों को घुटने तक पानी में आना-जाना पड़ रहा है। ऐसी ही एक तस्वीर को रीट्वीट करते हुए CPI (M) नेता सीताराम येचुरी ने पीएम मोदी पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा, ‘यह है प्रधानमंत्री मोदी के लोकसभा क्षेत्र का हाल। अब वह वाराणसी को वेनिस बनाने का दावा कर सकते हैं।’ बता दें कि विरोधी पीएम मोदी के उस बयान को लेकर निशाना साध रहे हैं जिसमें उन्होंने बनारस को क्योटो की तर्ज पर विकसित करने की बात कही थी। यूपी कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू भी वाराणसी के दौरे पर निकल थे। उन्होंने भी कहा कि क्योटो के नाम से बनारस के साथ छलावा किया गया है।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘काशी क्योटो तो नहीं बनी लेकिन यहां के हालात ख़राब ज़रूर हो गए हैं। लोग जान जोखिम में डाल घर से बाहर निकल रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार अपनी साख खो चुकी है और 2022 में विदाई तय है।

बता दें कि मोदी सरकार ने जिन शहरों को स्मार्ट सिटी बनाने का दावा किया था उनमें वाराणसी भी शुमार है। हालांकि बारिश के बाद जो हालत दिख रही है उससे कहा जा सकता है कि अभी वो दिन बहुत दूर है। वाराणसी के सभी मुख्य बाजारों और रास्तों पर पानी ही पानी नज़र आ रहा है।

मंगलवार की शाम को बारिश की वजह से सड़क पर पानी भर गया था और इस वजह से बड़ा हादसा भी हो गया। मोटरसाइकल सवार तीन युवक एक मेनहोल में जा गिर। एक युवक को तो निकाल लिया गया था लेकिन बाकी दो की मौत हो गई।इसके बाद नगर निगम के महापौर ने कहा कि इसके लिए युवक ही जिम्मेदार हैं क्योंकि वे तेज गति से मोटरसाइकल चला रहे थे।

Next Stories
1 दिल्ली को मानसून की बौछारों के लिए करना होगा इंतजार, 27 जून तक पहुंचने का है अनुमान
2 चीन के मुकाबले को सीमाई इलाकों में युद्धस्तर पर इन्फ्रास्ट्रक्चर बढ़ा रहा भारत; जानें सालभर में कितने बदल गए हालात?
3 कोरोनाः तीसरी लहर से पहले तैयार हो सकते हैं 1 लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स, PM ने लॉन्च किए छह क्रैश कोर्स
ये पढ़ा क्या?
X