ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी के इस्तीफे का बहन प्रियंका ने किया समर्थन, कहा- बहुत कम लोगों में ऐसी हिम्मत होती है

राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद बहन प्रियंका गांधी ने उनके इस निर्णय का समर्थन किया है। प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, 'आपने जो किया वैसी हिम्मत बहुत कम लोगों में होती है।'

Author नई दिल्ली | July 4, 2019 10:22 AM
राहुल के इस्तीफे के बाद प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट। (फाइल फोटो/पीटीआई)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद उनकी बहन और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने प्रतिक्रिया व्यक्त की है। पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका ने लोकसभा चुनाव में हार की जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के लिए राहुल गांधी की प्रशंसा की। प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर राहुल के इस फैसले पर उनकी हिम्मत की दाद दी।

प्रियंका ने ट्वीट में लिखा, ‘आपने जो किया वैसा करने की हिम्मत बहुत कम लोगों में होती है। आपके निर्णय का सम्मान करती हूं।’ इससे पहले बुधवार को अपने इस्तीफे की जानकारी सार्वजनिक की थी। राहुल ने लिखा, कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के रूप में काम करना मेरे लिए सबसे बड़ा सम्मान रहा। उन्होंने लिखा कि वह भविष्य में पार्टी के विकास के लिए अपने पद से इस्तीफा दे रहे हैं।

पत्र में राहुल गांधी ने लिखा, ‘कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के नाते 2019 के चुनाव में मिली हार के लिए मैं जिम्मेदार हूं। हमारी पार्टी के भविष्य के लिए जवाबदेही बेहद जरूरी है। यही कारण है कि मैंने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया है। पार्टी को फिर से खड़ा करने के लिए कठोर फैसले और 2019 की हार के लिए बहुत से लोगों को जिम्मेदार ठहराने की जरूरत है। ऐसे में यह बिल्कुल भी न्यायोचित नहीं है कि मैं दूसरों को जिम्मेदार ठहराता रहूं, और पार्टी अध्यक्ष के तौर पर अपनी जवाबदेही को नजरअंदाज करता रहूं।’

प्रियंका ने अपने ट्वीट के साथ राहुल गांधी के इस्तीफे वाली पोस्ट को भी रीट्वीट किया। मालूम हो कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी महज 52 सीटों पर सिमट गई था। पार्टी अध्यक्ष के रूप में राहुल उत्तर प्रदेश की अपनी पारंपरिक अमेठी सीट से भी चुनाव हार गए थे। हालांकि, राहुल केरल में वायनाड संसदीय सीट से चुनाव जीत संसद पहुंचने में सफल रहे। पार्टी की हार के बाद राहुल ने अपने पद से इस्तीफा देने का मन बना लिया था।

हालांकि, उनके इस निर्णय के बावजूद पार्टी के वरिष्ठ नेता उनसे पार्टी का अध्यक्ष पद पर बने रहने के लिए मनाते रहे। राहुल गांधी ने कहा कि पार्टी में मेरे बहुत से सहयोगियों ने सुझाया कि मैं अगले पार्टी अध्यक्ष को नामित करूं। जबकि जरूरी यह है कि कोई नया व्यक्ति हमारी पार्टी का नेतृत्व करे। ऐसे में मेरे द्वारा उस व्यक्ति को चुना जाना सही नहीं होगा। मुझे पूरा भरोसा है कि पार्टी इस बारे में उचित निर्णय लेगी कि अगला अध्यक्ष कौन होगा।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App