ताज़ा खबर
 

रुपहला पर्दा-ओटीटी प्लेटफॉर्म : ‘मिर्जापुर 2’ लीक होने ने उड़ाई नींद, रिलीज के एक दिन पहले ही हो गई लीक

ओटीटी प्लेटफार्म अमेजन प्राइम ‘मिर्जापुर 2’ को 23 अक्तूबर को रिलीज करने जा रहा था। मगर 22 अक्तूबर की रात टेलीग्राम और कुछ वेबसाइटों पर यह वेब सीरीज लीक हो गई और इसे 22 तारीख की रात को ही ओटीटी प्लेटफॉर्म पर डालना पड़ा। त्योहारी सीजन में कई प्रमुख ओटीटी प्लेटफॉर्म की चिंताएं इस घटना ने बढ़ा दी हैं।

‘मिर्जापुर 2’ लीक होने ने उड़ाई नींद।

चार नवंबर को नेटफ्लिक्स तमिल और तेलुगू फिल्म ‘मिस इंडिया’ ओटीटी पर दिखाने जा रहा है। नौ नवंबर से डिज्नी+ हॉटस्टार पर अक्षय कुमार अभिनीत ‘लक्ष्मी बम का प्रदर्शन तय किया गया है। मैक्स प्लेयर 11 नवंबर से बॉबी देओल की मुख्य भूमिका वाली वेब सीरीज ‘आश्रम : चैप्टर 2 डार्क साइड’ का प्रदर्शन करने जा रहा है। सभी की एक ही चिंता है कि टोरेंट वेबसाइट उनके कंटेंट मुफ्त में डाउनलोड न करा दें।

ओटीटी प्लेटफॉर्म पर किसी फिल्म या सीरीज के प्रदर्शन के साथ ही उसे अवैध तरीके से डाउनलोड कराने के लिए दसियों पब्लिक टोरेंट वेबसाइट खड़ी हो जाती हैं। नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम, वूट, जी 5, डिज्नी+हॉटस्टार जैसे ओटीटी प्लेफॉर्म के लिए पाइरेसी सिरदर्द बन चुकी है। इसकी वजह यह कि टोरेंट वेबसाइट लगातार अपना डोमेन बदलती रहती हैं।

‘मिर्जापुर-2’ के लीक होने के बाद फिल्में मुफ्त डाउनलोड करवाने वाली एक कुख्यात वेबसाइट पर नकेल डालने की कोशिश की गई। टोरेंट वेबसाइट पाइरेसी के कई स्त्रोत खड़े कर देती हैं, जिनसे पूरी दुनिया में फिल्म आदि डाउनलोड की जा सकती हैं।

शिकायत मिलने के बाद तमिलरॉकर्सस नामक वेबसाइट को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर ब्लॉक किया गया। इस पब्लिक टोरेंट वेबसाइट पर फिल्में और वेबसीरीज आदि लीक करने का आरोप था। अमेजन इंटरनेशनल की शिकायत के बाद बेवसाइट को आइसीएएनएन (इंटरनेट कॉर्पोरेशन फॉर असाइन्ड नेम एंड नंबर) की रजिस्ट्री से हटा दिया गया।

फिल्में और वेबसीरीज लीक होने के कारण ओटीटी प्लेटफॉर्म के ग्राहक अपने को ठगा हुआ महसूस करते हैं कि जब सब कुछ फ्री में मिल रहा है तो वह मासिक शुल्क क्यों चुकाएं। जाहिर है ऐसी स्थिति में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर ग्राहक और विज्ञापन खोने का दबाव बढ़ जाता है।

ओटीटी प्लेटफॉर्म की शुरुआत 2008 में रिलायंस एंटरटेनमेंट के ब्रांड ‘बिग फ्लिक्स’ से हुई थी। आज देश में 40 के आसपास ओटीटी प्लेटफॉर्म हैं। कोरोना के दौर में जब सिनेमाघर बंद हुए तो ओटीटी प्लेटफार्म तेजी से एक विकल्प के रूप में उभरे। ये प्लेटफॉर्म तगड़ी कीमत चुका कर फिल्म या वेबसीरीज के अधिकार खरीदते हैं। उन्हें अपने प्लेटफॉर्म पर रिलीज करते हैं। उनका मुनाफा ग्राहकों से मिलने वाला शुल्क और विज्ञापन दिखा कर होता है। पाइरेसी के कारण ग्राहकों की संख्या और मुनाफा दोनों प्रभावित हो रहे हैं। इसीलिए अमेजन को तुरतफुरत ‘मिर्जापुर 2’ रिलीज करनी पड़ी।

‘मिर्जापुर 2’ अमेजन की चर्चित वेबसीरीज है। इसके पहले भाग के नौ एपिसोड काफी पसंद किए गए थे। 12 करोड़ लागत के पहले सीजन के बाद निर्मातागण -रितेश सिधवानी, फरहान अख्तर और भौमिक गोंदालिया- ने दूसरे सीजन पर 60 करोड़ रुपए का निवेश किया था। इसकी शूटिंग मिर्जापुर, आजमगढ़, सुलतानपुर, जौनपुर, गोरखपुर, लखनऊ और वाराणसी में की गई। अपराध, रोमांच से भरपूर इस वेब सीरीज के तीसरे सीजन की घोषणा की जा चुकी है, जिस पर 72 करोड़ के निवेश की योजना है।

प्राइजवाटरहाउसकूपर्स की रिपोर्ट बताती है कि ओटीटी बाजार 21.82 फीसद की दर से बढ़ रहा है और 2023 तक यह बाजार 11,977 करोड़ रुपए का हो जाएगा। यह दर देश की कुल मीडिया इंडस्ट्री की विकास दर (11.28) की लगभग दो गुनी है। देश में मीडिया इंडस्ट्री 2018 में 2,64,585 करोड़ की थी। रिपोर्ट में अगले चार सालों में इसके 4,51,405 करोड़ हो जाने का अनुमान जताया गया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 हमारी याद आएगी: जयकिशन- खामोश सुर और सूने टेबल पर जलती मोमबत्ती
2 बदलाव की बयार: अपराध, हिंसा और रोमांच से भरी सीरीज दर्शकों की पसंद बनीं, ‘ओटीटी’ पर गालियां चल रही हैं या गोलियां
3 जम्मू-कश्मीर: कुलगाम में भाजपा नेताओं पर आतंकी हमला, तीन की मौत
ये पढ़ा क्या?
X