विवादित बयान देकर फंस गए सिद्धू के सलाहकार, अमरिंदर मनीष तिवारी के विरोध के बाद, सिद्धू ने जारी किया समन

नवजोत सिंह सिद्धू के चार एडवाइजर्स में से एक मलविंदर सिंह माली ने उस समय विवाद खड़ा कर दिया था जब उन्होंने कश्मीर के एक अलग देश होने का दावा किया था। उन्होंने कहा था कि भारत और पाकिस्तान दोनों अवैध कब्जेदार हैं।

Amarinder Singh, Navjot Singh Sidhu, Manish Tewari
पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह, नवजोत सिंह सिद्धू और मनीष तिवारी (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

पंजाब कांग्रेस में विवाद जारी है। पार्टी चीफ नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मलविंदर सिंह माली द्वारा कश्मीर को लेकर दिए गए बयान के बाद उनके ऊपर हमले तेज हो गए हैं। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बाद अब पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी ने भी हमला बोला है। तिवारी ने हरीश रावत को ट्वीट कर कहा है कि जो लोग जम्मू-कश्मीर को भारत का हिस्सा नहीं मानते हैं और अन्य जो पाकिस्तान समर्थक झुकाव रखते हैं, उन्हें पंजाब कांग्रेस का हिस्सा होना चाहिए या नहीं? बिगड़ते हालात को देखते हुए सिद्धू ने समन जारी किया है।

तिवारी ने ट्वीट में लिखा कि इस तरह का बयान उन सभी का मजाक उड़ाता है जिन्होंने भारत के लिए खून बहाया है। दरअसल, नवजोत सिंह सिद्धू के चार एडवाइजर्स में से एक मलविंदर सिंह माली ने उस समय विवाद खड़ा कर दिया था जब उन्होंने कश्मीर के एक अलग देश होने का दावा किया था। उन्होंने कहा था कि भारत और पाकिस्तान दोनों अवैध कब्जेदार हैं। माली ने कहा था कि कश्मीर एक अलग देश है और भारत व पाकिस्तान, दोनों अवैध कब्जेदार हैं। कश्मीर वहां के लोगों का है।

उनके बयान के बाद सीएम अमरिंदर ने पार्टी चीफ नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकारों को हिदायत देते हुए कहा था कि वो उन्हें सलाह देने तक सीमित रहें। कश्मीर-पाक जैसे मसलों पर बोलने से गुरेज करें। नहीं तो बात का बतंगड़ बन सकता है। राष्ट्रीय सुरक्षा के लिहाज से भी ऐसे मसलों पर बोलना गलत है।

बताते चलें कि माली ने एक और विवादित काम किया है। उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में इंदिरा गांधी का स्केच बनाया है। इसमें वह मानव खोपड़ी के ढेर के पास खड़ी हुई दिखाई दे रही हैं। फोटो में उन्होंने एक बंदूक पकड़ी हुई है। उसकी नली पर भी खोपड़ी लगी है। जिसके बाद से पंजाब कांग्रेस में हंगामा खड़ा हो गया है। गौरतलब है कि हाल में ही सिद्धू को पंजाब कांग्रेस की कमान दी गयी है। जिसके बाद उन्होंने अपने लिए सलाहकार की नियुक्ति की थी।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट