scorecardresearch

लखीमपुर खीरी कांड का ‘साइड इफेक्ट’, स्टेडियम का शिलान्यास करने पहुंचे थे भाजपा नेता, किसानों ने गाड़ दिया अपना टेंट

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब समेत कई राज्यों में भाजपा नेताओं को किसानों के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है।

लखीमपुर खीरी कांड का ‘साइड इफेक्ट’, स्टेडियम का शिलान्यास करने पहुंचे थे भाजपा नेता, किसानों ने गाड़ दिया अपना टेंट
बीते दिनों उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसक घटना में आठ लोगों की मौत हो गई थी। इनमें 4 किसान शामिल थे। (फोटो: पीटीआई)

उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा का साइड इफेक्ट पड़ोसी राज्य उत्तराखंड में भी देखने को मिल रहा है। लखीमपुर में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा के द्वारा किसानों को गाड़ी से कुचलने की घटना से गुस्साए किसानों ने स्टेडियम का शिलान्यास करने पहुंचे उत्तराखंड के खेल मंत्री अरविंद पांडेय का जमकर विरोध किया। जिसकी वजह से खेल मंत्री को अपना कार्यक्रम तक रद्द करना पड़ा। इस दौरान किसानों ने कार्यक्रम स्थल के सामने ही अपना टेंट गाड़ दिया।

दरअसल बीते दिनों उत्तराखंड के शिक्षा व खेल मंत्री अरविंद पांडेय अपने विधानसभा क्षेत्र में एक स्टेडियम का शिलान्यास करने जाने वाले थे। लेकिन जैसे ही किसानों को इसकी जानकारी मिली तो उनलोगों ने अपना टेंट भी कार्यक्रम स्थल के सामने गाड़ दिया। किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए खेल मंत्री अरविंद पांडेय ने अपना कार्यक्रम रद्द कर दिया और वर्चुअल तरीके से स्टेडियम का शिलान्यास किया। 

किसानों के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए कार्यक्रम स्थल के पास भारी पुलिसबल को तैनात किया गया था। लेकिन इसके बावजूद खेल मंत्री कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए। खेल मंत्री के बेटे से जब इस बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें प्रधानमंत्री मोदी के एक कार्यक्रम में शामिल होना था। इसलिए वो शिलान्यास कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए और उन्होंने वर्चुअल तरीके से स्टेडियम का शिलान्यास किया।

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, पंजाब समेत कई राज्यों में भाजपा नेताओं को किसानों के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। कहा जा रहा है कि इसका असर आगामी उत्तरप्रदेश, पंजाब और उत्तराखंड विधानसभा चुनावों में भी पड़ सकता है। इन राज्यों के कई हिस्सों में किसान आंदोलन काफी प्रभावी है।

गौरतलब है कि 3 अक्टूबर को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे ने कथित रूप से प्रदर्शनकारी किसानों पर गाड़ी चढ़ा दी थी। इस हिंसक घटना में आठ लोगों की मौत हो गई थी। इनमें 4 किसान, 3 भाजपा कार्यकर्ता और एक पत्रकार शामिल थे। जिसके बाद इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा समेत 14 लोगों के खिलाफ हत्‍या, आपराधिक साजिश सहित कई धाराओं में एफआईआर दर्ज किया गया।  

शनिवार को केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा का बेटा आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के सामने पेश हुआ। जहां घंटों तक उसके साथ पूछताछ की गई। लखीमपुर खीरी मामले में बनी जांच कमेटी के अध्यक्ष डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने भी उससे पूछताछ की। जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस इस मामले में पहले ही उसके दो सहयोगियों लव कुश और आशीष पांडे को गिरफ्तार कर चुकी है। 

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 10-10-2021 at 01:15:12 pm
अपडेट