ताज़ा खबर
 

IRCTC INDIAN RAILWAYS: नवंबर से शुरू होने जा रही रामायण यात्रा और रामायण एक्सप्रेस ट्रेन, रामायण सर्किट के अलावा इन शहरों को करेगी कवर

Shri Ramayana Express and Ramayana Yatra tour by IRCTC: आईआरसीटीसी द्वारा नवंबर में इस सर्किट पर रामायण यात्रा और रामायण एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जाएंगी। ये पैकेज IRCTC की भारत दर्शन योजना का हिस्सा हैं। ट्रेन की यात्रा विभिन्न तीर्थस्थलों को कवर करेगी, जो भगवान राम से जुड़े हैं।

Author नई दिल्ली | Updated: August 25, 2019 5:24 PM
Shri Ramayana Express: IRCTC की श्री रामायण एक्सप्रेस ट्रेन 3 नवंबर 2019 से शुरू होगी। (Financial Express Online)

Shri Ramayana Express and Ramayana Yatra tour by IRCTC: भारतीय रेलवे भगवान राम से जुड़े स्थानों को कवर करने के लिए दो विशेष पर्यटक ट्रेनों को फिर से शुरू करने जा रहा है, जिन्हें ‘रामायण सर्किट ऑफ इंडिया’ भी कहा जाता है। पिछले साल, भारतीय रेलवे ने रामायण सर्किट पर चार विशेष पर्यटक ट्रेनें चलाईं थीं। ये ट्रेन 14 दिसंबर, 2018 को दिल्ली से संचालित हुई थी। भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम लिमिटेड (आईआरसीटीसी) द्वारा नवंबर में इस सर्किट पर रामायण यात्रा और रामायण एक्सप्रेस ट्रेन चलाई जाएंगी। ये पैकेज IRCTC की भारत दर्शन योजना का हिस्सा हैं। ट्रेन की यात्रा विभिन्न तीर्थस्थलों को कवर करेगी, जो भगवान राम से जुड़े हैं।

रामायण यात्रा ट्रेन 3 नवंबर 2019 को दिल्ली और जयपुर के बीच शुरू होगी। जयपुर और दिल्ली के अलावा यह ट्रेन रेवाड़ी, दिल्ली के सफदरजंग, गाजियाबाद, मुरादाबाद, बरेली और लखनऊ सहित कई रेलवे स्टेशनों पर रुकेगी। इसके अलावा दौरे में श्रीलंका की एक यात्रा भी उन लोगों के लिए शामिल है, जो पड़ोसी देश की यात्रा करने के इच्छुक हैं। इसके लिए 40 लोग इस पैकेज के तहत श्रीलंका के लिए उड़ान भर सकेंगे। रामायण एक्सप्रेस मध्य प्रदेश के इंदौर से प्रस्थान करेगी और वाराणसी पहुंचेगी। यह ट्रेन 18 नवंबर को इंदौर से रवाना होगी, जिसमें देवास, उज्जैन, मक्सी, शुजालपुर, सीहोर, बैरागढ़ (भोपाल), विदिशा, गंज बसोडा, बीना, ललितपुर और झांसी सहित स्टेशनों पर बोर्डिंग और डीबोर्डिंग होगी।

3 नवंबर से शुरू होने वाला यह दौरा 17 दिवसीय होगा और यात्रा अयोध्या में राम जन्मभूमि और हनुमान गढ़ी, नंदीग्राम में भारत मंदिर, सीतामढ़ी (बिहार) में सीता माता मंदिर, जनकपुर (नेपाल) और तुलसी मानस मंदिर और वाराणसी में संकट मोचन मंदिर, सीतामढ़ी में सीता सम्मान स्थल, त्रिवेणी संगम, प्रयाग में हनुमान मंदिर और भारद्वाज आश्रम, श्रृंगवेर ऋषि मंदिर, श्रृंगवेरपुर में श्रृंगी ऋषि मंदिर, नासिक में चित्रकूट, पंचवटी में रामघाट और सती अनुसुइया मंदिर, रामेश्वरम में हम्पी और ज्योतिर्लिंग शिव मंदिर में स्टाल का भ्रमण करेगी। आने वाले महीनों में एक और ट्रेन तमिलनाडु के मदुरै से दोबारा शुरू होने की उम्मीद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Economic Slowdown: उद्योगों को 5000 करोड़ रुपये वसूला टैक्स लौटाएगी मोदी सरकार!
2 J&K: अब इंटेलिजेंस अफसरों के जरिए अब्दुल्ला और मुफ्ती को साध रही मोदी सरकार!
3 शाहरुख खान पर भड़के पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता, ‘RSS के नाजीवादी हिंदुत्व’ से लड़ने की दे दी सलाह