ताज़ा खबर
 

प्रधानमंत्री को राम मंदिर के शिलान्यास का न्योता

राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास के प्रवक्ता महंत कमल नयन दास ने कहा, ‘हमने ग्रह नक्षत्रों की गणना के आधार पर प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए दो शुभ तिथियों-तीन और पांच अगस्त का सुझाव दिया है।’

Ayodhya, Shri Ram Janmabhoomi Teerth Kshetra Trust, grand Ram templeअयोध्या में निर्मित होने जा रहे श्री राम जन्म भूमि मंदिर का भव्य मॉडल।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर की आधारशिला रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया है। अयोध्या के सर्किट हाउस में शनिवार को राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की दूसरी बैठक में ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने मंदिर निर्माण की आधारशिला रखने के लिए शुभ मुहुर्त पर विचार किया और पाया कि इसके लिए तीन या पांच अगस्त की तिथि तय की। ट्रस्ट के प्रवक्ता ने बताया कि भव्य राम मंदिर की आधारशिला रखने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया गया है। प्रधानमंत्री अपनी सुविधानुसार इन दोनों में से किसी भी तिथि को मंदिर की आधारशिला रख सकते हैं। बताते चलें कि प्रधानमंत्री मोदी ने ही पांच फरवरी को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के गठन की घोषणा की थी।

राम मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास के प्रवक्ता महंत कमल नयन दास ने कहा, ‘हमने ग्रह नक्षत्रों की गणना के आधार पर प्रधानमंत्री की यात्रा के लिए दो शुभ तिथियों-तीन और पांच अगस्त का सुझाव दिया है।’ एक लंबी कानूनी लड़ाई के बाद सुप्रीम कोर्ट के पिछले वर्ष नौ नवंबर को दिए गए फैसले के बाद अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ था।

बैठक के बाद ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि राम मंदिर निर्माण के लिए होने वाले भूमि पूजन की तारीख प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा तय की जाएगी। वहां से तिथि निश्चित होने के बाद जैसे ही ट्रस्ट को सूचना मिलेगी, सभी को बता दिया जाएगा। राय ने आगे बताया कि कोरोना महामारी की वजह से मंदिर निर्माण में बाधा आ रही है। उन्होंने कहा कि मंदिर निर्माण के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चलाकर आम नागरिकों से भी धन एकत्रित किया जाएगा।

चंपत राय ने बताया कि ट्रस्ट की इस दूसरी बैठक में 11 ट्रस्टी उपस्थित थे। बैठक की अध्यक्षता ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने की तथा संचालन महासचिव चंपत राय ने खुद किया। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक में गोविंद देव गिरी जी, परमानंद जी, महासचिव चंपत राय, राजा विमलेंद्र, मोहन प्रताप मिश्र, डॉक्टर अनिल कुमार मिश्र, महंत दिनेंद्र दास निर्मोही अखाड़ा कामेश्वर चौपाल, उत्तर प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी, अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, नृत्य गोपाल दास निर्माण समिति के चेयरमैन व प्रधानमंत्री के पूर्व प्रमुख सचिव नृपेंद्र मिश्र भी मौजूद थे।

बैठक के मद्देनजर सर्किट हाउस के बाहर काफी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था थी और मीडिया के लोगों को अंदर प्रवेश नहीं करने दिया गया। बैठक लगभग दो घंटे तक चली। इसके बाद सभी पदाधिकारी व ट्रस्टी अयोध्या धाम पहुंचे जहां उन्होंने रामलला और हनुमानगढ़ी के दर्शन किए।

Next Stories
1 LAC विवादः नरेंद्र मोदी सरकार की कायरता की कीमत चुकाएगा पूरा भारतवर्ष- चीन को लेकर राहुल गांधी का PM पर प्रहार
2 सितंबर में कोरोना बरपाएगा कहर? एक्सपर्ट ने चेताया- अलग-अलग सूबों में अलग-अलग वक्त पर चरम पर होगी महामारी
3 बुलंदशहर हिंसाः हत्यारोपी को BJP नेता से मिला सम्मान, सफाई में बोले- मैं तो गेस्ट था; ‘शहीद’ इंस्पेक्टर की बीवी ने कहा- दूसरा विकास दुबे पैदा करोगे
चुनावी चैलेंज
X