ताज़ा खबर
 

जम्‍मू-कश्‍मीर: शोपियां एनकाउंटर में छह आतंकी ढेर, पूरे जिले में मोबाइल इंटरनेट बंद

हालात को देखते हुए शोपियां में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं ठप कर दी गई हैं। इससे पहले इलाके में घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया गया था। शोपियां में सुरक्षा बलों की ओर से लगातार आतंक-निरोधी अभियान जारी है।

एहतियात के तौर पर जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। (Express File Photo)

जम्मू एवं कश्मीर के शोपियां जिले के एक गांव में मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के 6 आतंकवादी मारे गए जबकि एक भारतीय जवान शहीद हो गया। रक्षा प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। ग्रामीणों और सुरक्षाबलों के बीच सुबह झड़प होने से एक नागरिक घायल हो गाय। उसे गोली लगी थी। इस बीच अभियान जारी है। उत्तरी कमान के उधमपुर मुख्यालय के प्रवक्ता ने कहा,”प्रादेशिक सेना का एक जवान शहीद हो गया जबकि राष्ट्रीय राइफल्स, पुलिस के विशेष संचालन समूह (एसओजी) के जवान और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बलों के संयुक्त अभियान के तहत बाटागुंड गांव में आतंकवादियों को मार गिराया गया।”

सुरक्षबलों ने खुफिया जानकारी मिलने के बाद शनिवार को अभियान शुरू किया। पुलिस अधिकारी ने बताया, “जैसे ही सुरक्षाबलों ने घेराव कड़ा किया, वैसे ही आतंवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई।” दिन के समय ग्रामीणों ने सुरक्षाबलों के अभियान को बाधित करने की कोशिश की। पुलिस अधिकारी ने बताया कि जिस युवक को गोली लगी थी, उसकी पहचान फैजान अहमद के रूप में हुई है। उसे श्रीनगर भेजा गया है। एएनआई के अनुसार, हालात को देखते हुए शोपियां में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं ठप कर दी गई हैं।

शोपियां में सुरक्षा बलों की ओर से लगातार आतंक-निरोधी अभियान जारी है। 20 नवंबर को एक मुठभेड़ में भारतीय सेना का एक पैरा कमांडो शहीद हो गया था। इस मुठभेड़ में चार आतंकवादी भी ढेर कर दिए गए थे। मुठभेड़ के बाद प्रदर्शनकरियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई झड़प में चार नागरिक घायल हो गए। एक पुलिस अधिकारी ने बताया था कि गोली लगने से तीन लड़कियां घायल हो गईं जबकि एक युवक की आंख चोटिल हो गई, उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मुठभेड़-स्‍थल की तस्‍वीरें।

24 नवंबर को शोपियां जिले में आतंकवादियों ने पूर्व विशेष पुलिस अधिकारी (एसपीओ) की अगवा कर हत्या कर दी गई थी। पुलिस के अनुसार, पूर्व एसपीओ बशरत अहमद का शव पुलवामा जिले से बरामद किया गया। उन्हें शुक्रवार को शोपियां जिले से बंदकधारियों ने अगवा कर लिया था। आतंकवादियों ने जिन दो अन्य लोगों को भी अगवा किया गया था, उन्हें बिना नुकसान पहुंचाए रिहा कर दिया गया है। बीते 15 दिनों में बंदूकधारियों द्वारा लोगों को अगवा कर उनकी हत्या करने का यह तीसरा मामला है। इससे पहले भी शोपियां जिले से दो लोगों को अगवा कर उनकी हत्या कर दी गई थी।

एजंसी इनपुट्स के साथ

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Ayodhya Dharma Sabha: स्वामी रामभद्राचार्य बोले- राम मंदिर पर 11 दिसंबर के बाद बड़ा ऐलान, शिवपाल यादव ने कहा, ‘सरयू किनारे हो निर्माण’
2 अयोध्‍या में लगेगी भगवान राम की 221 मीटर ऊंची मूर्ति, बनेगा मॉडर्न म्‍यूजियम, योगी ने दी हरी झंडी
3 करतारपुर गलियारा: आधारशिला समारोह में नहीं जाएंगी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज