ताज़ा खबर
 

तांडव वालों पर तो केस कर दिया, अर्नब गोस्वामी पर भी तो करके दिखाओ- BJP को शिवसेना ने ललकारा

शिवसेना के मुखपत्र अखबार सामना के संपादकीय में सवाल किया गया है कि वेब सीरीज के खिलाफ आवाज उठाने वाली भाजपा अर्नब गोस्वामी द्वारा कथित रूप से भारत-माता का अपमान किए जाने पर ‘तांडव’ क्यों नहीं कर रही?

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र मुंबई | Updated: January 22, 2021 8:38 AM
Arnab Goswami, Uddhav Thackerayशिवसेना के मुखपत्र सामना में किया गया अर्नब गोस्वामी पर हमला।

रिपब्लिक टीवी के एडिटर अर्नब गोस्वामी और BARC के पूर्व प्रमुख पार्थो दासगुप्ता के बीच लीक हुई चैट को लेकर शिवसेना ने भाजपा को निशाने पर ले लिया है। पार्टी ने अपने मुखपत्र सामना में कहा यह अच्छी बात है कि भाजपा के नेताओं ने वेब सीरीज ‘तांडव’ की सामग्री को लेकर उनके निर्माताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, लेकिन अगर उनमें वास्तव में हिम्मत है तो भारतीय सैनिकों की शहादत का अपमान करने वाले पत्रकार अर्नब गोस्वामी के खिलाफ मामला दर्ज कराएं।

महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार की प्रमुख घटक शिवसेना ने यह भी आरोप लगाया कि किसी के पास से 100 ग्राम गांजा मिलने पर हो-हल्ला मचाने वाली मीडिया गोस्वामी के कथित देशद्रोह के मामले में राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा करने को तैयार नहीं है। गौरतलब है कि मीडिया में जंगल में आग की तरह फैली रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक गोस्वामी और बार्क के पूर्व सीईओ पार्थों दासगुप्ता के बीच वॉट्सऐप पर हुई कथित बातचीत की पृष्ठभूमि में सामना ने संपादकीय लिखा है।

आरोप है कि उस कथित बातचीत से यह पता चलता है कि 26 फरवरी, 2019 को पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी शिविरों पर हवाई हमले के बारे में गोस्वामी को पहले से सूचना थी। बता दें कि कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी, 2019 को पाकिस्तानी आंतकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद द्वारा सीआरपीएफ के काफिले पर किए गए हमले में 40 जवानों की मौत हो गई थी। बाद में पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी शिविरों पर 26 फरवरी को हवाई हमला किया गया था।

‘लोकसभा चुनाव जीतने के लिए बहाया गया जवानों का खून?’: भाजपा की पूर्व सहयोगी शिवसेना ने कहा कि सरकार को इसकी सच्चाई सामने लानी चाहिए। इसमें कहा गया है , जैसे कि आरोप लग रहे हैं, तब तो हमारे सैनिकों की हत्या देश के भीतर एक राजनीतिक षड्यंत्र का हिस्सा थी और हमारे 40 जवानों का खून सिर्फ लोकसभा चुनाव (2019) जीतने के लिए बहाया गया? संपादकीय में आरोप लगाया गया है कि गोस्वामी की बातचीत सामने आने के बाद उन आरोपों को बल मिल रहा है।

‘गोस्वामी के देशद्रोह पर होनी चाहिए चर्चा’: शिवसेना ने भाजपा नेताओं को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह अच्छी बात है कि भाजपा नेताओं ने उत्तर प्रदेश और बिहार में ‘तांडव’ के निर्माता-निर्देशकों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। लेकिन अगर उनमें साहस है तो वे जवानों की शहादत का मजाक उड़ाने वाले गोस्वामी के खिलाफ मामला दर्ज करके दिखाएं। मराठी अखबार ने लिखा है, अगर गोस्वामी के देशद्रोह पर चर्चा होगी तो पुलवामा में शहीद हुए जवानों की आत्मा को शांति मिलेगी।

संपादकीय में सवाल किया गया है कि वेब सीरीज के खिलाफ आवाज उठाने वाली भाजपा गोस्वामी द्वारा कथित रूप से भारत-माता का अपमान किए जाने पर ‘तांडव’ क्यों नहीं कर रही है? शिवसेना ने कहा कि महाराष्ट्र में उसके गठबंधन सहयोगी कांग्रेस ने बुधवार को मामले की जांच की मांग करते हुए सरकारी गोपनीयता कानून के तहत मामला दर्ज करने को कहा था।

Next Stories
1 यूपी: डकैती गैंग चलाने के आरोप में एसआई और दो सिपाही गिरफ़्तार, हाल ही में की थी 35 लाख की लूट
2 कानून वापसी पर अड़े किसान, ठुकराया प्रस्ताव
3 RJD सुप्रीमो लालू यादव की बिगड़ी तबीयत, सांस लेने में हो रही दिक्कत; रिम्स में डॉक्टर कर रहे इलाज
ये पढ़ा क्या?
X