जम्मू-कश्मीर में हुई हत्याओं को लेकर शिवसेना का भाजपा पर निशाना, ‘तुम्हें हिंदुत्व पर गर्व लेकिन अपनों को नहीं बचा पा रहे’

पिछले करीब एक सप्ताह के दौरान आतंकवादियों ने घाटी में सात लोगों की हत्या कर दी। जिसमें चार अल्पसंख्यक समुदाय से थे। बीते गुरुवार को आतंकवादियों ने ईदगाह इलाके में स्थित एक स्कूल में घुसकर स्कूल के प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और टीचर दीपक चंद की हत्या कर दी थी।

कश्मीर घाटी में अल्पसंख्यक समुदाय के ऊपर हो रहे हमले के विरोध में जम्मू में प्रदर्शन करते भाजपा कार्यकर्ता। (फोटो – पीटीआई)

पिछले कुछ समय से कश्मीर घाटी में आतंकवादी घटनाओं में बढ़ोतरी हो रही है और घाटी से अल्पसंख्यक हिंदू और सिख समुदाय के लोगों के मारे जाने की कई घटनाएं सामने आई हैं। अल्पसंख्यक समुदाय के ऊपर हो रहे हमले को लेकर शिवसेना ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि तुम्हें हिंदुत्व पर गर्व लेकिन अपनों को बचा नहीं पा रहे।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखे एक लेख में भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा केंद्र शासित प्रदेश में अल्पसंख्यक समुदाय की रक्षा में विफल रही है। साथ ही शिवसेना ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता और प्रवक्ता हर जगह दिखते हैं लेकिन जम्मू कश्मीर में नहीं दिखते हैं। कश्मीर एक बार फिर से हिंसा के मुहाने पर खड़ा है। केंद्र सरकार ने दावा किया था कि नोटबंदी आतंकवाद को रोकने में कारगर होगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ।  

इसके अलावा शिवसेना ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त करने पर सवाल उठाते हुए कहा कि इससे कश्मीर घाटी में हिंसा पर अंकुश नहीं लगा और वहां हताहतों की संख्या में कमी नहीं आई। भाजपा ने कश्मीर घाटी में कश्मीरी पंडितों की वापसी को लेकर बड़ा हंगामा किया लेकिन आतंकी हमलों के बढ़ने के बाद वे फिर से घाटी छोड़ कर जा रहे हैं।

गौरतलब है कि पिछले करीब एक सप्ताह के दौरान आतंकवादियों ने घाटी में सात लोगों की हत्या कर दी। जिसमें चार अल्पसंख्यक समुदाय से थे। बीते गुरुवार को आतंकवादियों ने ईदगाह इलाके में स्थित एक स्कूल में घुसकर स्कूल के प्रिंसिपल सुपिंदर कौर और टीचर दीपक चंद की हत्या कर दी थी। इससे पहले आतंकियों ने श्रीनगर के इकबाल पार्क स्थित बिंदरू मेडिकल के मालिक माखन लाल बिंदरू की हत्या की थी। बिंदरू की हत्या के दिन ही आतंकियों ने लाल बाजार इलाके में वीरेंद्र पासवान की हत्या कर दी। वीरेंद्र पासवान बिहार के भागलपुर के रहने वाले थे और गोलगप्पे बेचा करते थे।

जम्मू कश्मीर में लगातार हो रही हत्याओं को लेकर शनिवार को दिल्ली में एक हाईलेवल मीटिंग बुलाई गई है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में होने वाली इस मीटिंग में जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा भी शामिल होंगे। इसके अलावा इसमें खुफिया एजेंसियों और जम्मू-कश्मीर प्रशासन के अधिकारी भी शामिल हो सकते हैं। इस मीटिंग में एनएसए अजीत डोभाल के भी उपस्थित रहने की उम्मीद है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट