ताज़ा खबर
 

शिवसेना नेता अराफात शेख ने कहा- अगर हाजी अली दरगाह में गईं तृप्ति देसार्इ तो चप्‍पलों से होगी पिटाई

शिवसेना ने अपने वरिष्‍ठ नेता हाजी अराफात शेख के उस बयान से खुद को अलग कर लिया है, जिसमें उन्‍होंने हाजी अली दरगाह में घुसने की कोशिश करने पर महिलाओं को चप्‍पल से पीटने की चेतावनी दी थी।

Shiv Sena, Trupti Desai, Haji Arafat Shaikh, Haji ali, shiv sena news, haji ali news, shiv sena leader haji arafat sheikh, chappal threats to Trupti Desai, women in haji ali dargahभूमाता रणरागिनी ब्रिगेड की अध्‍यक्ष तृप्ति देसाई।

शिवसेना ने अपने वरिष्‍ठ नेता हाजी अराफात शेख के उस बयान से खुद को अलग कर लिया है, जिसमें उन्‍होंने हाजी अली दरगाह में घुसने की कोशिश करने पर महिलाओं को चप्‍पल से पीटने की चेतावनी दी थी। पार्टी प्रवक्‍ता नीलम गोरखे ने शेख के बयान को खारिज कर दिया और उनके खिलाफ कार्रवाई की भी चेतावनी दी। गोरखे ने बताया,’यह पूरी तरह से उनका निजी बयान है। यह शिवसेना का रूख नहीं है। हमे बॉम्‍बे हाईकोर्ट के फैसले का सम्‍मान करते हैं।’

शेख ने भूमाता रणरागिनी ब्रिगेड की अध्‍यक्ष तृप्ति देसाई को चेताया था कि अगर वह हाजी अली दरगाह में गई तो उन पर चप्‍पलें बरसाई जाएंगी। इस पर काफी विवाद हुआ था। इसके चलते शिवसेना ने मामले में तुरंत सफार्इ जारी की। बता दें कि तृप्ति देसार्इ ने कहा था कि वे अन्‍य महिलाओं के साथ 28 अप्रैल को हाजी अली दरगाह में दाखिल होंगी। उनका यह बयान मुस्लिम महिलाओं को दरगाह में जाने की अनुमति देने की मांग के बाद आया था।

तृप्ति देसाई को अहमदनगर में शनि शिंगणापुर और नाशिक में त्रयंबकेश्‍वर मंदिर में महिलाओं को प्रवेश की मांग में सफलता मिली है। इसके बाद वे अब ‘हाजी अली सब के लिए’ अभियान से जुड़ गई हैं। इसके तहत वे पीर हाजी अली शाह बुखारी के मकबरे में जाने और चादर चढ़ाने की मांग करेंगी। इस मांग के बारे में हाजी अली दरगाह ट्रस्‍ट का कहना है कि महिलाओं को मकबरे में घुसने देना इस्‍लाम विरोधी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भुजबल के वास्ते जेल के चिकित्सक ने की थी रजिस्टर से छेड़छाड़
2 Indigo की फ्लाइट में एयरहोस्टेस की फोटो लेने लगा बांग्लादेशी मुसाफिर, हुआ गिरफ्तार
3 महाराष्ट्र में सात सिंचाई बांधों का जल भंडार खत्म
ये पढ़ा क्या?
X