ताज़ा खबर
 

शिवसेना ने मोदी को चेताया, महंगा साबित होगा पाक की धरती को चूमना

शिवसेना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लाहौर की अचानक यात्रा की आलोचना करते हुए कहा कि पाकिस्तान के बहुत निकट जाने वाले नेताओं का राजनीतिक करियर नीचे की ओर चला गया है..

Author मुंबई | December 29, 2015 00:58 am
लाहौर हवाई अड्डे पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी का स्वागत किया।

शिवेसना ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लाहौर की अचानक यात्रा पर सोमवार को कहा कि भारतीय खून से सनी पाकिस्तानी भूमि को चूमना महंगा साबित होगा। उसने मोदी को याद दिलाया कि इस पड़ोसी देश से ‘बहुत अधिक नजदीक’ होने का प्रयास करने पर भाजपा के दिग्गज नेताओं अटल बिहारी वाजपेयी और लाल कृष्ण आडवाणी का राजनीतिक करियर नीचे की ओर चला गया।

पार्टी ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा है- ‘जिस बात को याद रखे जाने की जरूरत है वह यह है कि ऐसी आम मान्यता रही है कि अतीत में पाकिस्तान के बहुत करीब होने की कोशिश करने वाला नेता लंबे समय तक राजनीति में नहीं रह पाया। लाल कृष्ण आडवाणी एक बार मोहम्मद अली जिन्ना की मजार पर गए थे और उनकी प्रशंसा की थी। इसके बाद उनका राजनीतिक ग्राफ गिरने लगा और आज वह अलग थलग पडेÞ हैं।’

भाजपा की सबसे पुरानी वैचारिक साझेदार शिवसेना ने पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की लाहौर बस यात्रा और आगरा में परवेज मुशर्रफ के साथ बातचीत के कदमों को भी याद कराया। उसने कहा-‘वाजपेयी ने दोनों देशों के तनावपूर्ण संबंधों को सुधारने की कोशिश में ‘लाहौर बस’ सेवा शुरू की और वे आगरा में जनरल मुशर्रफ से भी मिले। इसके बाद वाजपेयी के नेतृत्व में भाजपा सरकार कभी सत्ता में नहीं आई।’

पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अचानक पाकिस्तान जाने पर भाजपा की प्रतिक्रिया को लेकर भी सवाल उठाया। उसने कहा-‘पूरा देश यह पूछ रहा है कि यदि कांग्रेस का कोई प्रधानमंत्री अचानक इस तरह लाहौर उतरा होता तो क्या भाजपा उसी तरह इस फैसले का स्वागत करती जैसे उसने मोदी के मामले में किया है। पाकिस्तान की भूमि शापित है और इसे चूमना महंगा साबित होगा क्योंकि यह लाखों निर्दोष भारतीयों के खून से सनी है।’

हिंदुत्व समर्थक व केंद्र और महाराष्ट्र की सत्ता में भाजपा के साथ भागीदार शिवसेना कई मुद्दों लेकर मोदी की आलोचना करती आ रही है। उसने दादरी की घटना व मुंबई में पाकिस्तानी गजल गायक गुलाम अली का कार्यक्रम रद्द होने के मुद्दे को लेकर मोदी पर निशाना साधा था। मंगोलिया को एक अरब डॉलर के कर्ज को लेकर भी उसने प्रधानमंत्री की आलोचना की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App