ताज़ा खबर
 

शिवसेना MLA और डिप्टी मेयर ने अपनी ही पार्टी के नेता को धुन डाला, सड़क के ठेके को लेकर हुआ था विवाद

पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिरसाट और जंजाल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 323, 324 (जानबूझकर चोट पहुंचाना), 504 (शांति भंग करने के लिए भड़काने के इरादे से जानबूझकर अपमान करना), 506 (आपराधिक धमकी) 143 (गैरकानूनी रूप से एकत्र होना), 147, 148 और 149 (दंगा करना) के तहत आरोप लगाए गए हैं।

Author औरंगाबाद | Updated: January 20, 2020 4:51 PM
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे। (फाइल फोटोः पीटीआई)

शिवसेना के विधायक संजय शिरसाट और औरंगाबाद के डिप्टी मेयर राजेंद्र जंजाल के खिलाफ पार्टी के एक पूर्व पार्षद को कथित रूप से पीटने के मामले में प्राथमिकी दर्ज की गई है। अधिकारियों ने सोमवार (20 जनवरी) को यह जानकारी दी है। बता दें कि शिवसेना के एक पूर्व पार्षद सुशील खेडकर ने आरोप लगाया है कि सड़क संबंधी एक निविदा के लिए बोली जमा करने पर औरंगाबाद पश्चिम सीट से विधायक शिरसाट और शिवसेना के नेता जंजाल ने अन्य कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर शनिवार को उन्हें पीटा था। वहीं इस मामले में मुकदमा दर्ज हो गया है।

पीड़ित पूर्व पार्षद का आरोपः सुशील खेडकर ने आरोप में कहा, ‘विधायक ने मुझे 2.25 करोड़ रुपए की निविदा के लिए बोली नहीं लगाने को कहा था लेकिन मैंने उनकी बात नहीं मानी। डिप्टी मेयर राजेंद्र जंजाल ने भी शिरसाट के साथ मिलकर मुझे पीटा। मुझे सरकारी अस्पताल में भर्ती होना पड़ा।’

Hindi News Live Hindi Samachar 20 January 2020: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

शिरसाट और जंजाल ने आोरपों का किया इनकारः मामले में खेडकर ने कहा कि बाद में वह मामला दर्ज कराने के लिए वेदांत नगर पुलिस थाना गए। शिरसाट और जंजाल ने इन ओरोपों से इनकार किया है और दावा किया है कि खेडकर को पार्टी कार्यकर्ताओं ने पीटा है। पुलिस सहायक आयुक्त हनुमंत भापकर ने बताया कि इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है।

लंबे समय से मुझ पर बना रहे थे दबाव शिरसाट-खेडकर: एक अन्य पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिरसाट और जंजाल के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 323, 324 (जानबूझकर चोट पहुंचाना), 504 (शांति भंग करने के लिए भड़काने के इरादे से जानबूझकर अपमान करना), 506 (आपराधिक धमकी) 143 (गैरकानूनी रूप से एकत्र होना), 147, 148 और 149 (दंगा करना) के तहत आरोप लगाए गए हैं। खेडकर ने शनिवार को आरोप लगाया कि शिरसाट औरंगाबाद के सातारा इलाके में सड़क निर्माण निविदा को लेकर लंबे समय से उन पर दबाव बना रहे थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 इलेक्टोरल बॉन्ड पर तत्काल रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार
2 मुंबई के सिद्धि विनायक मंदिर भक्त ने चढ़ाया 14 करोड़ रुपए का सोना, गुंबद और दरवाजे में लगेगा 35 किलो सोना
3 J&K: शोपियां एनकाउंटर में हिजबुल कमांडर समेत 3 आतंकी ढेर, DGP ने गिरफ्तार DSP देविंदर पर कही यह बात
ये पढ़ा क्या?
X