ताज़ा खबर
 

BJP पर भड़के Shiv Sena के संजय राउत, बोले- किसी की प्रॉपर्टी नहीं है NDA, जेडीयू-पीडीपी-एलजेपी पर भी दिया बयान

संजय राउत का बयान पीएम नरेंद्र मोदी के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि गठबंधन के सहयोगियों की अलग-अलग विचारधारा हो सकती है लेकिन वे एक बड़े परिवार की तरह हैं

Author मुंबई | Published on: November 18, 2019 12:23 PM
शिवसेना नेता संजय राउत। (एक्सप्रेस फोटो)

बीजेपी और शिवसेना के संबंधों में महाराष्ट्र चुनाव के बाद आई कड़ुवाहट के बाद एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी का दौर भी तेज हो गया है। रविवार को एनडीए की दिल्ली में बैठक हुई। इसमें शिवसेना की तरफ से कोई शामिल नहीं हुआ। शिवसेना अब विपक्ष की भूमिका में आ गई है। सोमवार को शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा है कि एनडीए एक पार्टी की संपत्ति नहीं है। उनका स्पष्ट इशारा बीजेपी की तरफ था।

पीएम मोदी ने एनडीए को एक बड़ा परिवार बताया था संजय राउत का बयान पीएम नरेंद्र मोदी के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि गठबंधन के सहयोगियों की अलग-अलग विचारधारा हो सकती है लेकिन “वे एक बड़े परिवार की तरह हैं और उन्हें विभिन्न मतभेदों से परेशान नहीं होना चाहिए।” एनडीए की मीटिंग के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, “एनडीए की बहुत अच्छी बैठक हुई। हमारा गठबंधन भारत की विविधता और 130 करोड़ भारतीयों की आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व करता है। हम सब मिलकर अपने किसानों, नौजवानों, नारी शक्ति और गरीब से गरीब व्यक्ति के जीवन में गुणात्मक बदलाव लाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।”

Hindi News Today, 18 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

कहा पुराने “पुराने एनडीए और आज के एनडीए” में अंतर आ गया मीडिया से बात करते हुए संजय राउत ने बीजेपी पर तंज कसा, ” वे गैरराष्ट्रवादी दल पीडीपी को एनडीए में ले आए।”  कहा कि बिहार के सीएम नीतीश कुमार और लोकजनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष राम विलास पासवान ने पीएम मोदी के खिलाफ कई बार बयान दिए, इसके बावजूद वे अब भी एनडीए में हैं। संजय राउत ने शनिवार को बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए के काम करने के तरीके को लेकर बयान दिया था और कहा था कि “पुराने एनडीए और आज के एनडीए” के बीच बहुत अंतर है।

सवाल एनडीए के अस्तित्व का है  मुंबई में पत्रकारों से बात करते हुए, संजय राउत ने कहा, “राज्यसभा में शिवसेना सांसदों की बैठने की व्यवस्था बदल दी गई है। कहा कि एनडीए के अस्तित्व पर सवाल खड़ा हो गया। यह किसी एक पार्टी का डोमेन नहीं है। कई दलों ने समय के साथ गठबंधन में शामिल हुए हैं। उनमें से कुछ में समान विचारधारा भी नहीं थी। हालांकि, हम इसका हिस्सा बने हुए थे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Mumbai Mayor Election: शिवसेना के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ेगी BJP, शरद पवार ने महाराष्ट्र की सियासत पर दिया बड़ा बयान
2 आसाराम केस के प्रमुख गवाह पर हमला, कहा- समझौते के लिए बनाया जा रहा दबाव
3 ‘अर्बन नक्सल, अराजकतावादी और नास्तिक जा रहे सबरीमाला’, मोदी सरकार के मंत्री का दावा
जस्‍ट नाउ
X