ताज़ा खबर
 

शिवसेना बोली, हमें न पढ़ाएं सहिष्णुता का पाठ

शिवसेना ने अपने को सहिष्णुता की सलाह देने वाले वित्त मंत्री अरुण जेटली पर सीधा हमला बोल दिया। शिवसेना ने गुरुवार को कहा कि पाकिस्तानी हमले में निरपराध लोगों के खून से भारत की जमीन लाल हो और ऐसे में लोग हमसे सहिष्णुता की माला फेरने की बात कहें, तो यह नामर्दानगी शिवसेना के खून में नहीं है।

Author मुंबई | Published on: October 23, 2015 8:19 AM
Shiv sena, arun jaitley, jaitley shiv sena, shiv sena jaitley, shiv sena tolerance, tolerance shiv sena, arun jaitley latest news, Shivsena latest news, Shiv Sena news in hindi, india news, शिवसेना, अरुण जेटलीगुरुवार को शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में भाजपा नेताओं की सहिष्णुता की सलाह को हाशिये पर पटकते हुए कहा कि शिवसेना प्रखर हिंदुत्व का एक ज्वलंत अभियान है। आजकल जो उठता है, उसे सहिष्णुता और धर्मनिरपेक्षता का पाठ पढ़ाने की सलाह देने लगता है।

शिवसेना ने अपने को सहिष्णुता की सलाह देने वाले वित्त मंत्री अरुण जेटली पर सीधा हमला बोल दिया। शिवसेना ने गुरुवार को कहा कि पाकिस्तानी हमले में निरपराध लोगों के खून से भारत की जमीन लाल हो और ऐसे में लोग हमसे सहिष्णुता की माला फेरने की बात कहें, तो यह नामर्दानगी शिवसेना के खून में नहीं है।

हिंदवी स्वराज्य की स्थापना करने वाले छत्रपति शिवाजी महाराज और हिंदुत्व के लिए दुश्मनों से भिड़ने वाले शिवसेना प्रमुख के महाराष्ट्र को कोई सहिष्णुता का पाठ न पढ़ाए।

बीते शनिवार को महाराष्ट्र आए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शिवसेना के विरोध प्रदर्शन के तौरतरीकों की आलोचना की थी क्योंकि शिवसेना ने पाकिस्तानी गायक गुलाम अली, पूर्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी और पाक क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष शहरयार खान का उग्र विरोध किया था।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि वह महाराष्ट्र की अस्मिता के दुश्मनों को कभी माफ नहीं करेगी और राष्ट्रहित से कभी समझौता नहीं करेगी। शिवसेना ने अपने हथियारों को न कभी झाड़ पर लटकाया और न ही जंग लगने दी। उसने सवाल उठाया कि देश में सत्ता बदली मगर क्या लोगों के सपने साकार हो रहे हैं? गौमाता के नाम पर हिंसा और आंदोलन शुरू है।

मुंबई में शाकाहारी लोगों ने खाने-पीने पर प्रतिबंध लगाया जिससे शिवसेना निपटी। हम सहिष्णु हैं इसलिए लोकतांत्रिक तरीके से पाकिस्तानी एजंटों के मुंह पर कालिख पोत कर हिंदुस्तान की तीखी भावनाओं को दुनिया को दिखाया। गोमांस खाने वालों को पाकिस्तान जाने का फरमान सुनाने वाले भाजपा के मुख्यमंत्री ने सहिष्णुता के जो विराट दर्शन करवाए, अभी हमने वह भूमिका नहीं अपनाई है।

शिवसेना ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि बीफ पर जम्मू कश्मीर और दिल्ली में टंटा शुरू है। भाजपा गठबंधनवाले कश्मीर में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे बुलंद है। आग लगाने वाली आइएस के झंडे तक लहरा रहे हैं। हिंदुओं को मारने की धमकियां दी जा रही हैं। इसे खुली आंखों से देखें और ठंडे दिमाग से सहन करें और अपनी स्वाभिमानी गरदन पाकिस्तानी कसाइयों के सामने झुकाएं। अगर कोई इसे सहिष्णुता कहता है तो ऐसी फालतू सहिष्णुता से देश में अराजकता और अधर्म आएगा।

शिवसेना ने कहा कि पाकिस्तान हमारे जवान मारे उनका खून बहाए। इसे रोकने में सत्ताधीशों को शिवसेना की मदद करनी चाहिए थी। मगर सत्ता के कारण मति बिगड़ जाती है और सौ बारामती हो जाती है। बता दें कि बारामती पहुंच कर जेटली ने वहां के विकास की तारीफ करते हुए कहा था कि ऐसी सौ बारामती हो तो देश के विकास में मदद मिलेगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राष्ट्रपति ने कहा: बुराई कितनी बड़ी हो, जीत अच्छाई की होती है
2 दशहरे पर जम्‍मू-कश्‍मीर में मुठभेड़, एक आतंकी ढेर
3 पापा अनिल ने कहा: सोनम अभी भी बच्ची की तरह ही है
ये पढ़ा क्या...
X