ताज़ा खबर
 

निगम चुनाव में अकेले उतरेगी शिवसेना, भाजपा से नाता तोड़ा

शिवसेना ने कल्याण-डोंबीवली नगर निगम के चुनावों में अकेले ही उतरने और भाजपा के साथ कोई गठबंधन न करने का फैसला किया है। शिवसेना और भाजपा राज्य और केंद्र में सत्ता के साझीदार..

Author मुंबई | October 13, 2015 4:08 PM
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (बाएं), और शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे। (फाइल फोटो)

शिवसेना ने कल्याण-डोंबीवली नगर निगम के चुनावों में अकेले ही उतरने और भाजपा के साथ कोई गठबंधन न करने का फैसला किया है। शिवसेना और भाजपा राज्य और केंद्र में सत्ता के साझीदार हैं। पार्टी के एक नेता ने कहा कि यह फैसला सोमवार रात को शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं की बैठक के दौरान लिया गया।

शिवसेना की ओर से यह बयान दरअसल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा शिवसेना पर नाराजगी जताए जाने के बाद आया है। फडणवीस ने पाकिस्तान के पूर्व विदेशमंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की पुस्तक के विमोचन समारोह के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए शिवसेना पर नाराजगी जताते हुए कहा था कि उसने राज्य का नाम खराब किया है।

कल्याण और डोंबीवली मुंबई के साथ सटे उपनगर हैं और फिलहाल नगर निगम का नियंत्रण शिवसेना-भाजपा गठबंधन के हाथ में है। शिवसेना सभी 122 सीटों पर अकेले ही लड़ने के लिए तैयार है। केडीएमसी के चुनाव एक नवंबर को होने हैं।

भाजपा की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष रावसाहेब दानवे ने बताया कि पार्टी ने गठबंधन के मुद्दे पर फैसला कल्याण में भाजपा की स्थानीय इकाई पर छोड़ दिया है। उन्होंने कहा, ‘‘हम स्थानीय इकाई पर कुछ भी थोपने नहीं वाले।’’

शिवसेना ने कसूरी की पुस्तक ‘नाइदर ए हॉक, नॉर ए डव: एन इनसाइडर अकाउंट ऑफ पाकिस्तान्स फॉरेन पॉलिसी’ के विमोचन का विरोध करते हुए कहा था कि जब तक पाकिस्तान भारतीय धरती पर आतंकी हमलों का समर्थन करता है, तब तक उसके साथ कोई संबंध नहीं रखा जाना चाहिए।

कल, शिवसेना के सदस्यों ने भाजपा के पूर्व सलाहकार और स्तंभकार सुधींद्र कुलकर्णी पर काले रंग का पेंट लगा दिया था। कुलकर्णी कसूरी की पुस्तक के विमोचन समारोह के आयोजक थे।

शिवसेना के विरोध प्रदर्शनों को खारिज करते हुए सोमवार शाम फडणवीस ने कहा था कि इससे राज्य की प्रतिष्ठा को धक्का लगा है। उन्होंने कहा था, ‘‘हम कसूरी का समर्थन नहीं कर सकते लेकिन अपने राज्य को अराजक स्थल नहीं बनने दे सकते। कानून का शासन बना हुआ है। मुझे लगता है कि जिस तरह से चीजें हुई हैं, उससे हमारे राज्य का नाम खराब हुआ है। विचार रखने के लिए बेहतर तरीके हो सकते थे।’’

कसूरी की पुस्तक का विमोचन सोमवार रात कड़ी सुरक्षा के बीच हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App