सावन के आखिरी सोमवार के दिन ईद, मुस्लिमों से बोले शिया धर्मगुरु- मत दीजिए कुर्बानी

हिंदू धर्म में सावन के आखिरी सोमवार की महत्ता को देखते हुए शिया नेता ने उस दिन कुरबानी नहीं देने की मुसलमानों से अपील की है।

शिया नेता केएच नकवी ने आखिरी सोमवार को कुरबानी नहीं देने की मुसलमानों से अपील की है। (फोटो सोर्स: ANI ट्विटर हैंडल)

सावन का महीना चल रहा है और इसमें सोमवार का दिन भगवान शिव के भक्तों के लिए काफी अहमियत रखता है। लेकिन, बार सावन का आखिरी सोमवार और ईद एक ही दिन पड़ रहे हैं। ऐसे में उत्तर प्रदेश के शिया नेता ने 12 अगस्त को पड़ने वाले ईद-अल-अदहा को कुर्बानी नहीं देने की अपील मुसलमानों से की है। यूनाइटेड शिया मूवमेंट के जनरल सेक्रेटरी केएच नकवी ने कहा कि 12 अगस्त को सावन का आखिरी सोमवार भी है, लिहाजा इस दिन बकरे की कुरबानी नहीं दी जाए।

नकवी के मुताबिक सावन के आखिरी सोमवार को भारी संख्या में शिवभक्त मंदिरों में जाते हैं। ऐसे में कुरबानी अगले दिन भी दी जा सकती है। लिहाजा, मुसलमान समाज उस दिन सिर्फ नमाज पढ़ें।

गौरतलब है कि हिंदू धर्म में सावन के सोमवार काफी अहमियत रखते हैं। आखिरी सोमवार को लेकर शिवालयों में काफी भीड़ रहती है और भारी संख्या में लोगों की आस्था इससे जुड़ी रहती है। लेकिन, इस बार इसी दिन ईद-अल-अजहा भी है। इस दिन कुरबानी देने की प्रथा भी है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट