ताज़ा खबर
 

जब शीला घूंघट में पहुंची थीं ससुराल, स्टोर रूम में बितानी पड़ी थी रात, फिर दादी सास का यूं जीता था दिल

Sheila Dixit Death News: शीला के पति विनोद दीक्षित भी अब इस दुनिया में नहीं हैं। 25 साल पहले उनका भी दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। इन दोनों ने साल 1962 में लव मैरिज की थी।

Author नई दिल्ली | July 20, 2019 10:25 PM
शीला दीक्षित ने अपनी किताब “सिटीजन दिल्ली: माय टाइम्स, माय लाइफ” में कई दिलचस्प बातों का जिक्र किया था।(Photo-Youtube/Screenshot)

Sheila Dixit Death News: दिल्ली की सीएम रहीं शीला दीक्षित का शनिवार (20 जुलाई, 2019) को निधन हो गया। इसी 11 जुलाई को उनकी शादी के 57 साल पूरे हुए थे। हालांकि, उनके पति विनोद दीक्षित भी अब इस दुनिया में नहीं हैं। 25 साल पहले उनका भी दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। इन दोनों ने साल 1962 में लव मैरिज की थी। शीला दीक्षित ने अपनी किताब “सिटीजन दिल्ली: माय टाइम्स, माय लाइफ” में इस बात का जिक्र किया है कि शादी के दो दिन बाद जब वो घूंघट में ससुराल (लखनऊ) गई थीं, तब वहां बार-बार झुककर अनिगनत महिलाओं के पैर छूकर आशीर्वाद लिए थे।

परिवार की परंपरा के मुताबिक नई बहू को घर के सभी लोगों के लिए खाना भी बनाना होता था, इसलिए दिल्ली के मिरांडा हाउस में पढ़ने वाली शीला को वहां कई लोगों का खाना बनाना पड़ा था और रात एक स्टोर रूम में गुजारनी पड़ी थी क्योंकि मेहमानों की वजह से घर में जगह की कमी थी। शीला ने तब अपने पिता श्रीकृष्ण कपूर को खत लिखा था और इन परेशानियों के बारे में बताया था लेकिन शीला ने उसी पत्र में ये भी लिखा था कि वो सबकुछ संभाल लेंगी। परेशान होने की जरूरत नहीं है।

शीला ने अपनी दादी सास की तारीफ करते हुए लिखा है कि जब लोग उनके प्रेम विवाह की बात करते थे तो वो उन्हें बहुत गर्व से कहा करती थीं, “पढ़ी लिखी है, दिल्ली की लड़की है, एक मरांडा से आई है।” (यानी मिरांडा हाउस से पढ़ी लिखी है।) शीला ने लिखा, पति विनोद के अलावा उनके ससुर उमा शंकर दीक्षित जो स्वतंत्रता सेनानी और कांग्रेस के नेता थे, उन दोनों का काफी प्रभाव उनकी जिंदगी पर पड़ा। बतौर शीला दीक्षित विनोद की दादी को लोग प्यार से मामू कहकर पुकारते थे।

शीला ने लिखा है, जब मामू के लिए हमने स्वेटर बनाया तो उसकी बांह तंज रह गई लेकिन मामू उस पर गुस्सा होने की बजाय उसकी तारीफ करने लगीं। दादी सास ने तर्क दिया कि बहूरानी जानती है कि मैं रोज दीया जलाती हूं, इसलिए स्वेटर की बांह में तेल न लग जाए या उसमें आग न पकड़ ले, इसलिए बहूरानी ने स्वेटर स्लीवलेस बना दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App