ताज़ा खबर
 

नए चीफ के चुनाव को बोले थे शीला दीक्षित के बेटे- INC में नेता की कमी नहीं, पार्टी नेताओं ने घेरा तो शशि थरूर ने सपोर्ट में कहा- चुनाव हों

अध्यक्ष नियुक्त करने में विलंब को लेकर दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और दिवगंत नेता शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित ने कहा था इंडियन नेशनल कांग्रेस में योग्य नेताओं की कमी नहीं।

congress, sandeep dikshit, sandeep dikshit on congress president, congress president, shashi tharoor, sanjay nirupamकांग्रेस नेता शशि थरूर और संदीप दीक्षित। फोटो: Indian Express

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने बीते साल पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद 2 महीने तक नए अध्यक्ष को लेकर कयास लगाए लेकिन अंत में सोनिया गांधी कांग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष पद पर काबिज हुईं। अध्यक्ष नियुक्त करने में हुई देरी पर दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और दिवगंत नेता शीला दीक्षित के बेटे संदीप दीक्षित ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को आड़े हाथ लिया है।

उन्होंने कहा है कि इंडियन नेशनल कांग्रेस (आईएनसी) में योग्य नेताओं की कमी नहीं। इसके साथ ही संदीप दीक्षित ने दिल्ली चुनाव में मिली करारी हार पर बयानबाजी करने वाले नेताओं की आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि बयानबाजी करने वाले नेता ज्ञान देने की बजाय अपने इलाकों में ध्यान दें और इसपर विचार करें की दिल्ली में चुनाव क्यों हारे।

उन्होंने नए चीफ के न चुनने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदार ठहराते हुए इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में कहा कि ‘आईएनसी में योग्य नेताओं की कमी नहीं लेकिन डर तो इस बात का है कि बिल्ली के गले में सबसे पहल घंटी कौन बांधेगा।’ दीक्षित के इस बयान के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने उनकी आलोचना की तो शशि थरूर उनके समर्थन में खड़े नजर आए। उन्होंने कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) से आग्रह करते हुए कहा ‘संदीप दीक्षित ने जो कहा पार्टी के दर्जनों वरिष्ठ नेता भी निजी तौर पर यही कहते हैं। इनमें से कई नेता पार्टी में जिम्मेदार पदों पर बैठे हैं। नए पार्टी अध्यक्ष के लिए चुनाव करवाया जाना चाहिए, ताकि पार्टी कैडर में ऊर्जा का नया संचार हो सके।’

वहीं संजय निरूपम ने थरूर के विरोध में कहा ‘राहुल गांधी एकमात्र ऐसे नेता हैं जो इस पद पर काबिज हो सकते हैं।’ वहीं पूर्व सांसद दीक्षित के बयान के बारे में पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘मैंने संदीप दीक्षित जी का बयान नहीं देखा है, लेकिन मैं उनके समेत सभी नेताओं से कहता हूं कि पहले वो यह देखें कि जब चुनाव लड़े तो कितना वोट आए और चुनाव क्यों हारे? इसमें मैं भी हूं। संदीप जी अगर ये सारी मेहनत अपने संसदीय क्षेत्र में लगा दें तो कांग्रेस जीत जाए।’ उन्होंने कहा, ‘मैं इन नेताओं से कहना चाहता हूं कि पूरे देश को ज्ञान देने की बजाय अपने अपने क्षेत्र में अपने काम से फायदा उठाएं।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नए पार्टी अध्यक्ष को लेकर संदीप दीक्षित ने छेड़ा राग, Congress ने किया साफ- ज्ञान न दें, अपने क्षेत्रों में हार पर करें विचार
2 फसल बीमा योजना की आड़ में मोदी सरकार ने चलाई ‘प्राइवेट कंपनी मुनाफा स्कीम’, किसानों को छोड़ा रहमो-करम पर- Congress नेता का निशाना
3 सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवने का दावा- PoK में हैं 15-20 आतंकी कैंप, छिपे हैं 250 से 300 आतंकी
ये पढ़ा क्या...
X