ताज़ा खबर
 

शीना बोरा हत्याकांड: सौतेले पिता संजीव खन्ना ने कबूला कत्ल में हाथ

शीना बोरा हत्याकांड की जांच में शुक्रवार रात उस वक्त नया मोड़ आया जब पुलिस ने दावा किया कि इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व पति संजीव खन्ना ने तीनों आरोपियों की संयुक्त रूप से पूछताछ के दौरान इस मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली..

Author , मुंबई | August 29, 2015 8:22 AM
पुलिस ने दावा किया कि इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व पति संजीव खन्ना ने तीनों आरोपियों की संयुक्त रूप से पूछताछ के दौरान इस मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली। (एपी फोटो)

शीना बोरा हत्याकांड की जांच में शुक्रवार रात उस वक्त नया मोड़ आया जब पुलिस ने दावा किया कि इंद्राणी मुखर्जी के पूर्व पति संजीव खन्ना ने तीनों आरोपियों की संयुक्त रूप से पूछताछ के दौरान इस मामले में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली। दूसरी ओर मुंबई पुलिस को शुक्रवार को कुछ मानव अवशेष मिले हैं जिसका मिलान शीना के डीएनए से किया जाएगा। पुलिस ने देहरादून से शीना का पासपोर्ट भी बरामद किया है।

इंद्राणी, उसके ड्राइवर श्याम राय और खन्ना से आमने-सामने बैठाकर की गई पूछताछ के बाद पुलिस आयुक्त राकेश मारिया ने पत्रकारों से कहा, ‘हमने अभी तीसरे आरोपी (खन्ना) से पूछताछ की है और उसने इस अपराध में अपनी संलिप्तता स्वीकार कर ली है’। खन्ना ने पहले दावा किया था कि उस वक्त वह सो रहा था जब 24 साल की शीना का कत्ल हुआ और उसने उसे एक वाहन में मृत पाया।

मारिया ने कहा, ‘शुक्रवार सुबह हमने शीना बोरा के अवशेष बरामद किए। हमने गुरुवार को देहरादून से उसका पासपोर्ट भी बरामद किया। यह उस बात को गलत साबित करता है कि शीना अमेरिका गई थी। आगे की जांच चल रही है’। पुलिस आयुक्त ने कहा कि शीना के अवशेष को शनिवार को डीएनए जांच के लिए भेजा जाएगा। उन्होंने कहा, ‘हमने मिखाइल बोरा से भी पूछताछ की है और उसने कुछ तथ्य दिए हैं जिनकी पड़ताल की जा रही है’।

मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी के पति और स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी से शुक्रवार को इस मामले में पूछताछ की गई। इंद्राणी और शीना के रिश्ते को लेकर बयान बदलते रहे पीटर को पहली बार पूछताछ के लिए खार थाने बुलाया गया जहां पुलिस आयुक्त राकेश मारिया भी मौजूद थे। पीटर के भाई गौतम से भी संक्षिप्त पूछताछ की गई।

कोलकाता में गिरफ्तार किए गए खन्ना को रहस्यमय तरीके से हुई हत्या के मामले में आरोप दर्ज करने के बाद शुक्रवार को पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। उसे इंद्राणी और उसके ड्राइवर के साथ संयुक्त पूछताछ के लिए किसी अज्ञात स्थान पर ले जाया गया। खन्ना को गुरुवार रात कोलकाता से यहां लाया गया और खार थाने ले जाया गया जहां मुंबई पुलिस आयुक्त राकेश मारिया भी संदिग्धों से पूछताछ के लिए अन्य अधिकारियों के साथ शामिल रहे।

पीटर से करीब दस मिनट तक पूछताछ की गई। पीटर ने पहले कहा था कि इससे पहले तक उन्हें पता भी नहीं था कि शीना इंद्राणी की बेटी है और उनकी पत्नी ने उन्हें बताया था कि शीना अमेरिका में है। पीटर के बेटे राहुल मुखर्जी से पुलिस ने उसकी सौतेली बहन शीना के साथ कथित रिश्ते को लेकर दो दिन तक विस्तार से पूछताछ की।

इस मामले से जुड़े लोगों के आपसी रिश्तों की पहेली में संदेह है कि इंद्राणी को राहुल के साथ शीना के संबंध पसंद नहीं थे। अपराध में खन्ना की कथित संलिप्तता के सिलसिले में जांचकर्ता 24 अप्रैल, 2012 को हुए हत्याकांड की एक वजह में आर्थिक कारणों को भी देख रहे हैं। इस बीच खन्ना ने पहेलीनुमा अंदाज में 2014 के मध्य में एक तस्वीर साझा की थी। इंद्राणी ने इस पोस्ट को लाइक किया था।

शीना के भाई मिखाइल ने चल रही जांच में पुलिस के साथ पूरी तरह सहयोग करने का वादा किया। पुलिस आयुक्त मारिया ने गुरुवार रात कहा था कि ‘तीसरे आरोपी’ (खन्ना) की मौजूदगी रहस्य को उजागर करने में अहम होगी। खन्ना को कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश किया गया जहां उसका चेहरा ढका हुआ था। उसने कहा, ‘मैं मुंबई पुलिस को पूरा सहयोग दूंगा’।

पुलिस ने अदालत में दलील दी कि इंद्राणी, उसका चालक और खन्ना, शीना को अगवा कर उसे पेण के जंगल में ले गए जहां उन्होंने कथित तौर पर गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने कहा कि इसके बाद तीनों ने उसके शरीर पर पेट्रोल डालकर जंगल में ही उसे जला दिया। उन्होंने बताया कि वे उस वस्तु को बरामद करना चाहते हैं जिससे शीना का कत्ल हुआ था और उस कार की भी बरामदगी चाहते हैं जिसमें उसका अपहरण कर पेन के जंगल में ले जाया गया।

उन्होंने कहा कि खन्ना का पासपोर्ट, लैपटॉप और मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है और इस आधार पर उन्हें हिरासत में लेने की मांग की गई कि मामले में विस्तृत जांच किए जाने की जरूरत है। इस बीच एक स्थानीय अदालत ने इंद्राणी के वकील की याचिका को स्वीकार करते हुए इंद्राणी को वकील से मिलने की अनुमति दे दी। इंद्राणी के वकील ने गुरुवार को अदालत का दरवाजा खटखटाते हुए याचिका दायर की थी। याचिका को स्वीकार करते हुए अदालत ने पुलिस को निर्देश दिया कि आरोपियों के अधिकारों को लेकर सुप्रीम कोर्ट के तय दिशानिर्देशों का पालन किया जाए।

इंद्राणी को खार पुलिस ने शीना की हत्या में कथित भूमिका को लेकर 25 अगस्त को गिरफ्तार किया था। उसे बांद्रा की अदालत में पेश किया गया जिसने उसे 31 अगस्त तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। उसके अगले दिन खन्ना को हत्या मामले में कोलकाता में गिरफ्तार कर लिया गया। खार पुलिस ने पहले बताया था कि पूछताछ के दौरान चालक ने दावा किया कि इंद्राणी ने शीना की हत्या की और रायगढ़ के जंगलों में शव को ठिकाने लगाने में उसने उसकी मदद की। इस बीच मारिया ने अतिरिक्त
मुख्य सचिव (गृह) केपी बख्शी से मुलाकात की और समझा जाता है कि उन्होंने जांच की प्रगति के बारे में बताया। इस बीच कुछ ऑनलाइन मीडिया रपटों में कहा गया कि शीना मृत्यु के समय गर्भवती थी और पैदा होनेवाले बच्चे का पालन-पोषण करने के लिए भी तैयार थी। रिपोर्ट के मुताबिक यह बच्चा उसकी मां इंद्राणी के एक करीबी व्यक्ति का था।

वीर सांघवी का दावा : एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में दावा किया कि इंद्राणी ने उनसे कहा था कि उनके सौतेले पिता ने उनका यौन शोषण किया था। बकौल सांघवी इंद्राणी शीना का परिचय अपनी ‘सौतली बहन’ के रूप में करवाती थी।

पापा पीटर भी संदेह के घेरे में
शुक्रवार शाम खार पुलिस स्टेशन पहुंचे पीटर मुखर्जी का लिखित बयान पुलिस ने खारिज कर दिया। पुलिस ने पीटर को जाने तो दिया, लेकिन उन्हें पूछताछ के लिए फिर बुलाया जा सकता है। पुलिस आयुक्त राकेश मारिया ने मुखर्जी से पूछताछ की। पुलिस पीटर के बयानों पर भरोसा नहीं कर रही है और अब वे भी संदिग्ध के तौर पर उभर रहे हैं।

हत्याकांड के किरदारों के साथ ‘दृश्यम’

पुलिस ने हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए आरोपियों इंद्राणी, उसके ड्राइवर श्याम राय और खन्ना से आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की। इसके पहले संजीव खन्ना को पुलिस पेण इलाके के उस जंगल में ले गई जहां शीना को जलाने के बाद गड्ढा खोदकर दफना दिया गया था। ड्राइवर श्यामवर का बयान था कि खन्ना ने शीना के शव को गोगादे खुर्द के जंगल में ठिकाने लगाने में इंद्राणी की मदद की थी। पुलिस और फॉरेंसिक विशेषज्ञों का एक दल यहां पहुंचा और उसने पेण नगरपालिका के कर्मचारियों की मदद से लगभग पांच घंटे खुदाई की। खुदाई में कुछ हड्डियां और खोपड़ी का टुकड़ा बरामद हुआ जो संभवत: शीना का है। पुलिस ने कहा कि शीना के डीएनए नमूने उपलब्ध हैं। अवशेषों को जांच के लिए शनिवार को प्रयोगशाला भेजा जाएगा।
शुक्रवार सुबह शीना बोरा का भाई मिखाइल पुलिस निगरानी में मुंबई पहुंचा। पुलिस के मुताबिक, उसने कुछ सबूत दिए हैं, जिसकी जांच की जाएगी। वह कहता रहा है कि शीना की हत्या की वजह मालूम है और उसे अगला शिकार बनाया जा सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App