scorecardresearch

शीना बोरा हत्याकांड: कंकाल से मिला इंद्राणी का डीएनए, फॉरेंसिक जांच से साबित

शीना बोरा हत्याकांड की छानबीन में एक सफलता मिलने का दावा करते हुए पुलिस ने कहा कि फोरेंसिक जांच में सोमवार को यह पुष्टि हो गई कि रायगढ़ के जंगलों से बरामद किए गए कंकाल के डीएनए इंद्राणी मुखर्जी और मिखाइल बोरा के डीएनए से मेल खाते हैं।

शीना बोरा मर्डर मिस्ट्री, इंद्राणी मुखर्जी, संजीव खन्ना, पीटर मुखर्जी, sheena murder case, indrani, indrani mukerjea, sheena bora murder case, indrani mukerjea daughter sheena, sheena bora, sheena bora killing, sheena bora murder, peter mukerjea, sheena murder mystery, mumbai, latest news
शीना मर्डरकेस : जंगल से मिले अवशेष शीना के ही, इंद्राणी से मेल खा गए DNA नमूने

शीना बोरा हत्याकांड की छानबीन में एक सफलता मिलने का दावा करते हुए पुलिस ने कहा कि फोरेंसिक जांच में सोमवार को यह पुष्टि हो गई कि रायगढ़ के जंगलों से बरामद किए गए कंकाल के डीएनए इंद्राणी मुखर्जी और मिखाइल बोरा के डीएनए से मेल खाते हैं।

मुंबई पुलिस आयुक्त राकेश मारिया ने सोमवार रात कहा कि डीएनए रिपोर्ट से यह स्पष्ट तौर पर साबित हो गया है कि इंद्राणी मुखर्जी ही शीना बोरा की मां है। उन्होंने यह भी बताया कि इंद्राणी के पति और स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी से देर रात तक पूछताछ जारी रही।

मारिया ने बताया, ‘सोमवार को हमें फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी से डीएनए रिपोर्ट मिली। उसमें कहा गया है कि यह निष्कर्ष निकलता है कि आरोपी इंद्राणी मुखर्जी मृतक शीना की जैविक मां है।’ पुलिस ने रायगढ़ जिले में पेण तहसील के जंगल से कथित तौर पर शीना के कंकाल के अवशेष बरामद किए थे और उन्हें डीएनए जांच के लिए भेजा था।

मारिया ने कहा, ‘हमारी टीम दूसरे आरोपी (संजीव खन्ना, इंद्राणी के पूर्व पति) को कोलकाता ले गई। वह हमें उस जगह पर ले गया जहां से हमें वह जूते बरामद हुए जो आरोपी (संजीव) ने तब पहने थे जब वे (वह और इंद्राणी) शव को ठिकाने लगाने के लिए पेण गए थे। हमने शीना के आभूषण का एक हिस्सा भी बरामद किया है।’

इससे पहले, दिन में एक स्थानीय अदालत ने इंद्राणी और उनके कार चालक श्याम राय को दो सप्ताह के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। उनकी पुलिस हिरासत की 14 दिन की अवधि सोमवार को समाप्त हुई थी।

मारिया ने कहा, ‘हमारी फॉरेंसिकविशेषज्ञों, ऑडिटरों, चार्टर्ड एकाउंटेंटों, आइटी सलाहकारों और आर्थिक अपराध शाखा के हमारे अधिकारियों की एक टीम है। यह टीम न सिर्फ भारत में बल्कि स्पेन और ब्रिटेन में मुखर्जी दंपति से जुड़ी विभिन्न कंपनियों, निवेशों, संपत्तियों और उनके स्वामित्व वाली कंपनियों के ब्योरों का अध्ययन कर रही है।’

शीर्ष पुलिस अधिकारी ने यहां के खार पुलिस थाने के बाहर बताया कि पीटर मुखर्जी से पूछताछ जारी है। आयुक्त मारिया, उनके सहायक, संयुक्त पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) देवेन भारती सोमवार शाम खार पुलिस थाने पहुंचे जहां पीटर मुखर्जी को बुलाया गया था।

पीटर मामले में आरोपी नहीं हैं लेकिन पिछले सप्ताह उनसे लगातार तीन दिन तक पूछताछ की गई।

सोमवार को ही दिन में बांद्रा स्थित मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अदालत ने इंद्राणी और उसके पूर्व ड्राइवर श्याम राय को 21 सितंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया क्योंकि उनकी पुलिस हिरासत की अवधि सोमवार को खत्म हो गई। उन्हें बायकुला स्थित आर्थर रोड जेल ले जाया गया। मामले में तीसरे आरोपी और इंद्राणी के पूर्व पति संजीव खन्ना को कोलकाता की एक अदालत में पेश करने के लिए वहां ले जाया गया।

इन तीनों को अप्रैल 2012 में शीना की हत्या करने और उसके शव को रायगढ़ के जंगल में ठिकाने लगाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने पिछले हफ्ते दावा किया था कि इंद्राणी ने अपनी 24 साल की बेटी शीना की हत्या की बात कबूल कर ली है। शीना के भाई मिखाइल और पीटर के बेटे राहुल व इंद्राणी और संजीव खन्ना की बेटी विधि से पूछताछ की गई। इसके अलावा शीना और मिखाइल के कथित तौर पर असली पिता सिद्धार्थ दास से भी पूछताछ की गई।

शनिवार को बांद्रा मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट की अदालत ने तीनों आरोपियों की हिरासत की मियाद उस समय सोमवार तक के लिए बढ़ा दी थी जब अभियोजन पक्ष ने कहा कि उसकी जांच जारी है और अभी एक बडेÞ क्षेत्र को जांच के दायरे में लेना बाकी है जबकि इंद्राणी जांच में सहयोग नहीं कर रही हैं। आरोपियों की हिरासत की अवधि बढ़ाने के लिए अदालत से आग्रह करते हुए विशेष लोक अभियोजक वैभव बगाड़े ने कहा था कि इंद्राणी जांचकर्ताओं के साथ सहयोग नहीं कर रही हैं और उनसे ‘बात उगलवाना कठिन’ है।

मामले की जांच के सिलसिले में शीना की मां इंद्राणी को रविवार को यहां वर्ली स्थित उनके आवास पर ले जाया गया था जबकि इंद्राणी के पूर्व पति खन्ना और पूर्व चालक राय से खार पुलिस थाने में पूछताछ की गई थी। इंद्राणी को बाद में वापस खार पुलिस थाने लाया गया था।

इस बीच, दिसपुर पुलिस ने सोमवार को इंद्राणी मुखर्जी के माता-पिता के घर का दौरा किया।  पुलिस कर्मियों के एक दल ने आरजी बरुआ रोड पर इंद्राणी के माता-पिता के रहने के स्थान और किराए के परिसर को देखा।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X