ताज़ा खबर
 

शीना बोरा हत्याकांड में नया मोड़: ‘डिजिटल सुपरइंपोजिशन’ का खोपडी से किया गया मिलान

मुंबई पुलिस ने कहा है कि शीना बोरा के प्रोफाइल के ‘डिजिटल सुपरइंपोजिशन’ का मिलान महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के जंगल से मिली खोपड़ी से हो गया है।

Author , मुंबई | September 5, 2015 9:02 AM
शीना हत्याकांड : ‘डिजिटल सुपरइंपोजिशन’ का खोपडी से किया गया मिलान

मुंबई पुलिस ने कहा है कि शीना बोरा के प्रोफाइल के ‘डिजिटल सुपरइंपोजिशन’ का मिलान महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के जंगल से मिली खोपड़ी से हो गया है। पुलिस ने कहा है कि इस मामले में स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी को अभी क्लीन चिट नहीं दी गई है।

शीना बोरा के प्रोफाइल का ‘डिजिटल सुपरइंपोजिशन’ का मिलान रायगढ़ के पेन तहसील स्थित जंगल से मिली खोपड़ी से होना यह पता लगाने के लिए महत्त्वपूर्ण है कि जो खोपड़ी मिली है वह पीटर मुखर्जी की पत्नी इंद्राणी मुखर्जी की बेटी शीना की ही है।
शीना की अप्रैल 2012 में हत्या करने और उसका शव रायगढ़ के जंगल में ठिकाने लगाने के आरोप में इंद्राणी, उसके पूर्व पति संजीव खन्ना और उसके पूर्व चालक श्याम राय को गिरफ्तार किया गया है। मुंबई पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार शाम कहा, ‘शीना के प्रोफाइल के डिजिटल सुपरइंपोजिशन का मिलान रायगढ़ के जंगल से मिली खोपड़ी से हो गया है।’

अधिकारी ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘हमने अभी तक पीटर को कोई क्लीन चिट नहीं दी है।’ पुलिस अधिकारी ने कहा कि इंद्राणी की कंपनी के एक कर्मचारी ने शीना की हत्या के बाद उसके नाम से ईमेल भेजे।

वीडियो में देखें…

पीटर मुखर्जी हालांकि आरोपी नहीं हैं लेकिन उनसे शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन शीना हत्या मामले में खार थाने में गहन पूछताछ की गई। पुलिस पीटर और इंद्राणी के वित्तीय लेनदेन की भी जांच कर रही है। गुरुवार को पीटर के साथ थाने उनके सीए भी आए थे।

इस मामले में शुक्रवार को पीटर के अलावा, उनकी सौतेली बेटी विधि और शीना के जैविक पिता सिद्धार्थ दास भी पुलिस थाने पहुंचे जहां दोनों से पूछताछ की गई। पुलिस ने बताया कि शुक्रवार सुबह पीटर के खार पुलिस थाने पहुंचने के आधे घंटे बाद विधि आई। शीना के जैविक पिता सिद्धार्थ दास दोपहर करीब साढ़े बारह बजे पुलिस थाने पहुंचे। गुरुवार को भी पुलिस ने दास से पूछताछ कर बयान दर्ज किया था।

वे शीना गुरुवार रात आठ बजे से तड़के तीन बजे तक खार पुलिस थाने में थे। दास को गुरुवार शाम कोलकाता से मुंबई लाया गया था। पुलिस ने गुरुवार को दावा किया था कि शीना की मां इंद्राणी ने अपराध में अपनी भूमिका ‘स्वीकार कर ली है’। उधर, गोगादे के जंगल से मिले शीना के कथित अवशेषों की जांच के नतीजे नायर अस्पताल प्रशासन ने गुरुवार को पुलिस को सौंप दिए। नतीजों में कहा गया है कि अवशेष 20 से 25 साल की महिला के हैं। ये अवशेष अब कलीना की रासायनिक प्रयोगशाला में भेजे जाएंगे। प्रयोगशाला से प्राप्त नतीजे शीना हत्याकांड में अहम होंगे।

हत्याकांड में सबूत जुटाने में लगी खार पुलिस हत्या में प्रयुक्त कार तक पहुंच चुकी है। यह कार नाशिक में है। एएम मोटर्स से यह कार भाड़े पर ली गई थी। माना जा रहा है कि पीटर मुखर्जी के नाम से भाड़े पर ली गई इसी कार में शीना की हत्या की गई। शव और कार को रात भर गैरेज में रखा गया। ड्राइवर श्यामवर राय ने रात भर पहरा दिया।

एएम मोटर्स ने यही कार एक डीलर को और डीलर ने इसे नाशिक के एक व्यक्ति को बेची। पुलिस ने उस पेट्रोल पंप मालिक का बयान भी लिया है, जिसके पेट्रोल पंप से शीना के शव को जलाने के लिए पेट्रोल लिया गया था। दूसरी ओर वरली पुलिस थाने के 15 पुलिसवालों ने अपने बयान में स्पष्ट किया कि राहुल ने शीना की गुमशुदगी की रिपोर्ट उनके यहां दर्ज नहीं करवाई थी। राहुल ने बयान दिया था कि शीना के गायब होने के दो दिन बाद उसने पुलिस को इस बारे में जानकारी दी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App