ताज़ा खबर
 

अगर सच कहना बग़ावत है तो हां मैं बाग़ी हूं: शत्रुघ्न सिन्हा

बिहार चुनावों में हार को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर नये सिरे से निशाना साधते हुए असंतुष्ट भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने चुटकी ली है कि..

Author नागपुर | Updated: November 16, 2015 1:34 AM
Shatrughan Sinha, Sanjay Dutt, Gandhigiri, Mumbai, Bollywoodभाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा (पीटीआई फाइल फोटो)

बिहार चुनाव के लिए पार्टी की रणनीति और करारी शिकस्त के बाद जिम्मेदारी तय ना करने के उसके रूख की खुलेआम आलोचना करने वाले भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने रविवार को कहा कि उन्होंने केवल ‘सच्चाई’ बयां की है। उन्होंने साथ ही प्रधानमंत्री मोदी पर उनके नेतृत्व में पार्टी द्वारा जीती गयी सीटों को लेकर निशाना भी साधा। सिन्हा ने यहां एक समारोह में कहा, ‘‘अगर सच कहना बगावत करना है तो हां मैं बागी होने का दोषी हूं। मैंने हमेशा पार्टी और राष्ट्र हित में बातें की हैं। अगर कुछ लोगों को बगावत का आरोपी समझा जाता है तो फिर मैं बागी हूं।’’

उन्होंने शनिवार रात कहा कि राज्य (बिहार) में जीती गयी सीटों के लिए मोदी को ‘श्रेय’ जाता है और दावा किया कि राजद प्रमुख लालू प्रसाद पर प्रधानमंत्री के हमले का उलटा असर हुआ। सिन्हा ने साथ ही कहा कि बिहार के मतदाताओं को समझ में आ गया कि मोदी के आर्थिक पैकेज की घोषणा ‘एक चुनावी हथकंडा’ है।

उन्होंने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘बिहार में भाजपा ने जितनी सीटें जीतीं उसका श्रेय मोदीजी को जाता है और इसे लेकर कोई संदेह नहीं होना चाहिए।’’

हाल के समय में पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के मुखर आलोचक बने पटना साहिब के सांसद सिन्हा ने दोहराया कि वह बिहार में हार के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर ‘दृढ़’ है। बिहार विधानसभा चुनाव में जदयू, राजद और कांग्रेस के महागठबंधन ने 178 सीटें हासिल कीं जबकि भाजपा को महज 53 सीटों से संतोष करना पड़ा।

भाजपा सांसद ने कहा, ‘‘मैंने क्या गलत किया है? मैंने केवल (चुनाव प्रचार के दौरान की) गलतियां गिनायीं। उदाहरण के तौर पर मैंने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता दाल और जरूरी सामानों की बढ़ती कीमतों पर रोक लगाना होनी चाहिए क्योंकि आम आदमी मूल्य वृद्धि के कारण पिस रहा है।’’

उन्होंने हिन्दी पत्रकार और संपादक एस एन विनोद को उनके 75वें जन्मदिन पर सम्मानित करने के लिए आयोजित समारोह में कहा, ‘‘फिर मैंने बिहार चुनाव प्रचार के दौरान शुरू हुए ‘बिहारी बनाम बाहरी’ के बहस पर रोक लगाने की मांग की क्योंकि मेरा मानना है कि किसी भी देशवासी को उस राज्य में बाहरी करार नहीं दिया जा सकता।’’

सिन्हा ने भाजपा से अपने बाहर जाने की अटकलों पर रोक लगाने की कोशिश करते हुए कहा कि भाजपा उनकी पहली और संभवत: आखिरी राजनीतिक पार्टी है।

Next Stories
1 अमेरिका जा रहीं सुषमा स्‍वराज पेरिस हमले की खबर सुनते ही बीच रास्ते से लौटीं
2 VHP नेता अशोक सिंघल की हालत गंभीर, मेदांता हॉस्पिटल में चल रहा इलाज
3 टीम 178: मिलिए, उन चेहरों से जिन्‍होंने दिलाई महागठबंधन को जीत
MP Budget:
X