ताज़ा खबर
 

अभिषेक बनर्जी से बातचीत के बाद सांसद शताब्दी रॉय ने कहा, ‘टीएमसी में ही रहूंगी, दिल्ली नहीं जा रही’

टीएमसी सांसद शताब्दी रॉय का कहना है कि उन्होंने पार्टी नेता अभिषेक बनर्जी से बातचीत की है। बनर्जी ने उनकी बात सुनी। रॉय अब दिल्ली नहीं जा रही हैं और टीएमसी के साथ ही रहेंगी।

shatabdi roy, mamta banarjee, tmc,bjpशताब्दी रॉय ने तारापीठ विकास परिषद से दिया इस्तीफा

टीएमसी सांसद शताब्दी रॉय का कहना है कि उन्होंने पार्टी नेता अभिषेक बनर्जी से बातचीत की है। बनर्जी ने उनकी बात सुनी। रॉय अब दिल्ली नहीं जा रही हैं और टीएमसी के साथ ही रहेंगी। उन्होंने कहा, ”मैंने आज अभिषेक बनर्जी के साथ बातचीत की और उन्होंने मेरे द्वारा उठाए गए मुद्दों को संबोधित किया। मैं कल दिल्ली नहीं जा रही हूं। मैं टीएमसी के साथ ही रहने वाली हूं।”

इससे पहले TMC सांसद शताब्दी रॉय ने तारापीठ विकास परिषद से इस्तीफा दे दिया था। अटकले लगाई जा रही थी कि वे बीजेपी के बड़े नेताओं से दिल्ली में मुलाकात कर सकती हैं। मालूम हो कि रॉय वीरभूमि से TMC सांसद हैं। इससे पहले बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने दावा किया था कि 50 टीएमसी विधायक भाजपा में शामिल हो सकते हैं। सोशल मीडिया पर दिए गए एक संदश के मुताबिक सांसद शताब्दी रॉय ने लिखा था, “अगर मैं कोई फैसला लेती हूं तो 16 जनवरी दोपहर तक आपको सूचित करूंगी।”

दोपहर में टीएमसी सांसद ने कहा था, ”मैं टीएमसी में बहुत कुछ बर्दाश्त कर रही हूं। फेसबुक पोस्ट वास्तविक है और मेरे द्वारा किया गया था। मैं कल दिल्ली जा रही हूं। अगर मैं दिल्ली जा रही हूं तो इसका मतलब यह नहीं है कि मैं भाजपा में शामिल हो रही हूं। मैं एक सांसद हूं और मैं दिल्ली जा सकती हूं।”

वीरभूम से शताब्दी साल 2009 से सांसद हैं। इससे पहले दिसंबर महीने में बोलपुर में जब सीएम ममता बनर्जी ने पैदल मार्च किया था तो उस समय शताब्दी रॉय ममता बनर्जी के साथ ही दिखीं थीं। वीरभूम के लोगों के लिए उन्होंने फेसबुक पर लिखा कि उनको शिकायत है कि टीएमसी द्वारा उन्हें कई कार्यक्रमों में बुलाया नहीं गया। पार्टी द्वारा उनको कार्यक्रमों के बारे में बताया नहीं जाता है। उन्होंने शिकायत की कि वे अपने लोगों से इस के चलते जुड़ाव नहीं रख पा रही हैं।

सोशल मीडिया के मुताबिक शताब्दी ने लिखा, “नए साल के मौके पर मैं नए फैसले लूंगी। जिससे कि मैं अपने लोगों के साथ पूरी तरह से रह सूकं। 2009 से आप लोगों ने मेरा साथ दिया है। मुझे लोकसभा भेजा है। उम्मीद है कि आगे भी आप लोगों का प्यार मुझे मिलता रहेगा। मेरे नेता बनने से पहले भी बंगाल के लोगों ने मुझे बहुत प्यार दिया है। अगर मैं कोई फैसला लेती हूं तो इसके बारे में 16 जनवरी दोपहर तक आप लोगों को बता दिया जाएगा।”

इस मुद्दे पर टिप्पणी करते हुए टीएमसी सांसद सौगत रॉय ने कहा कि मुझे हैरानी है शताब्दी किस बारे में बात कर रही हैं। मैं शनिवार तक इंतजार करूंगा जिसके बाद मालूम चलेगा कि वे किस बारे में बात कर रहीं थीं। मालूम हो कि एक और टीएमसी नेता राजीव बनर्जी का कहना है कि वे भी 16 जनवरी को फेसबुक के जरिए संदेश देंगे।

इससे पहले टीएमसी नेता पार्थ चटर्जी ने राजीव बनर्जी से बात की लेकिन कुछ बात बनती नजर नहीं आई। इससे पहले कई टीएमसी नेता एक साथ बीजेपी में शामिल हुए हैं।

Next Stories
1 राम मंदिरः निर्माण को केंद्र ने 1 रुपए, तो Shivsena ने 1 करोड़ का दिया चंदा; राष्ट्रपति ने दिया पहला दान
2 Galwan में सैनिकों का बलिदान नहीं जाएगा व्यर्थ, हमारे संयम की परीक्षा लेने की कोशिश न करे कोई- Army Day पर बोले सेना प्रमुख
3 ममता हिंदुस्तान की सबसे मजबूत नेत्री- बोले पैनलिस्ट, Republic TV एंकर का तंज- ये कैसी मजबूती? सब छोड़ कर जा रहे
ये पढ़ा क्या?
X