ताज़ा खबर
 

बढ़ती मांग के साथ रेल किराए में होगी बढ़ोतरी, राजधानी, दुरंतो तथा शताब्दी पर लागू होगी नई किराया प्रणाली

रेलवे ने चालू वित्त वर्ष में यात्री किरायों से 51,000 करोड़ रुपए की आय का लक्ष्य रखा है जो पिछले वित्त वर्ष में 45,000 करोड़ रुपए था।

Author नई दिल्ली | September 8, 2016 2:53 AM
भारतीय रेल। (फाइल फोटो)

राजधानी, दुरंतो तथा शताब्दी ट्रेनों से यात्रा करने वाले यात्रियों को 9 सितंबर से मांग के अनुसार बढ़ते किराए की व्यवस्था के तहत 10 से 50 प्रतिशत तक अधिक किराया देना पड़ सकता है। रेलवे की इस मांग के अनुरूप नई किराया प्रणाली से रेलवे को चालू वित्त वर्ष में 500 करोड़ रुपए की अतिरिक्त आय होगी।  इन प्रीमियम ट्रेनों में पहली 10 प्रतिशत सीटों के लिए सामान्य किराया लागू होगा। उसके बाद प्रत्येक 10 प्रतिशत बर्थ की बुकिंग पर किराए में 10 प्रतिशत की बढ़ोेतरी होगी। इसके तहत मांग के आधार पर किराया ज्यादा से ज्यादा 50 प्रतिशत तक बढ़ेगा। विमानन क्षेत्र की तरह मांग के अनुसार किराया या लचीली किराया प्रणाली इन तीन ट्रेनों में परीक्षण के आधार पर सेकेंड एसी, थर्ड एसी तथा चेयरकार और दुरंतो ट्रेनों में स्लीपर क्लास में लागू होगी। हालांकि, इन रेलगाड़ियों में फर्स्ट एसी तथा एक्जिक्यूटिव श्रेणी की यात्रा के लिए मौजूदा किरायों में कोई बदलाव नहीं होगा।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Plus 32GB Fine Gold
    ₹ 8299 MRP ₹ 10990 -24%
    ₹1245 Cashback
  • Vivo V7+ 64 GB (Gold)
    ₹ 16990 MRP ₹ 22990 -26%
    ₹850 Cashback

रेलवे बोर्ड के सदस्य मोहम्मद जमशेद ने कहा कि इन तीनों प्रीमियम ट्रेनों में आधार किराया लचीली किराया प्रणाली के आधार पर होगा। देश में इस समय 42 राजधानी, 46 शताब्दी तथा 54 दुरंतो ट्रेनें चल रही हैं। रेलवे ने चालू वित्त वर्ष में यात्री किरायों से 51,000 करोड़ रुपए की आय का लक्ष्य रखा है जो पिछले वित्त वर्ष में 45,000 करोड़ रुपए था। जमशेद ने कहा, ‘हम लचीली या फ्लेक्सी किराया प्रणाली शुरू कर रहे हैं। यह परीक्षण के आधार पर है। इसकी तीन-चार महीने बाद समीक्षा की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह दलालों के खिलाफ उपाय के रूप में काम करेगा।  सेकेंड एसी और चेयरकार के लिए अधिकतम बढ़ोतरी 50 प्रतिशत की होगी। थर्ड एसी के लिए यह 40 प्रतिशत अधिक होगी। अन्य अनुपूरक शुल्कों
मसलन आरक्षण शुल्क, सुपरफास्ट शुल्क, कैटरिंग शुल्क और सेवा कर में कोई बदलाव नहीं होगा। उदाहरण के लिए नई दिल्ली-मुंबई का मुंबई राजधानी का थर्ड एसी का आधार किराया अभी 1,628 रुपए है। 10 प्रतिशत की वृद्धि के साथ यह 1,791 रुपए होगा और अधिकतम 50 प्रतिशत की वृद्धि के साथ यह 2,279 रुपए पर पहुंच जाएगा।इन ट्रेनों में पहली 10 प्रतिशत सीटों के लिए सामान्य किराया लागू होगा। उसके बाद प्रत्येक 10 प्रतिशत बर्थ की बुकिंग पर किराए में 10 प्रतिशत की बढ़ोेतरी होगी। इसके तहत मांग के आधार पर किराया ज्यादा से ज्यादा 50 प्रतिशत तक बढ़ेगा।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App