ताज़ा खबर
 

जांच के तरीके से थरूर चिंतित, कहा-बिना राजनीतिक दबाव के हो पड़ताल

अपनी पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत के बारे में जांच के तरीके पर चिंता जताते हुए कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने मांग की कि बिना किसी राजनीतिक दबाव या हस्तक्षेप और पूर्व निर्धारित नतीजे के बिना पेशेवर पुलिस जांच करवाई जानी चाहिए। उन्होंने जल्द ही मौका मिलने पर दिल्ली पुलिस के सवालों का जवाब देने […]

Author January 10, 2015 9:12 AM
कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि उनकी पत्नी सुनंदा पुश्कर के हत्या की जांच बिना किसी राजनीतिक दबाव के हो।

अपनी पत्नी सुनंदा पुष्कर की मौत के बारे में जांच के तरीके पर चिंता जताते हुए कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने मांग की कि बिना किसी राजनीतिक दबाव या हस्तक्षेप और पूर्व निर्धारित नतीजे के बिना पेशेवर पुलिस जांच करवाई जानी चाहिए।

उन्होंने जल्द ही मौका मिलने पर दिल्ली पुलिस के सवालों का जवाब देने की पेशकश भी की। दिल्ली पुलिस ने थरूर की पत्नी की रहस्यमय मौत के करीब एक साल बाद कुछ ही दिन पहले हत्या का मामला दर्ज किया था। थरूर ने इसके बाद पहली बार मीडियाकर्मियों से मुलाकात कर कहा कि वह ‘निष्पक्ष’ जांच में पूरा सहयोग देंगे। पुलिस आयुक्त को लिखे पत्र में थरूर ने कहा कि वह जल्द ही मौके की तलाश में हैं जब वे ‘उनके लोगों (पुलिस जांचकर्ताओं) के’ सवालों का जवाब दे सकें। उन्होंने कहा, ‘यह बेहद जरूरी है कि यह (जांच) पेशेवर ढंग से की जाए, बिना किसी राजनीतिक दबाव या हस्तक्षेप के और इसमें कोई पूर्व निर्धारित नतीजा भी नहीं होना चाहिए।’

थरूर ने कहा कि वह पुलिस की ओर से हत्या का मामला दर्ज किए जाने से सकते में आ गए क्योंकि परिवार के पास यह मानने का कोई कारण नहीं था कि सुनंदा की मौत में कुछ गड़बड़ी है। थरूर ने कहा, ‘मैं पूरी तरह से सकते में आ गया था क्योंकि परिवार में से किसी का भी यह मानना नहीं था कि उसके निधन में किसी तरह की कुछ गड़बड़ी हुई है। हर कोई उसे (सुनंदा को) प्यार करता था और किसी के द्वारा (उसे) नुकसान पहुंचाने का कोई कारण नहीं है।’

उन्होंने कहा, ‘उस तक पहुंच रखने वाले किसी भी व्यक्ति के पास उसे नुकसान पहुंचाने के लिए कुछ भी करने का कोई कारण नहीं है। लेकिन मैं जांच में पूरे सहयोग की प्रतिबद्धता जताता हूं।’ तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले 58 वर्षीय थरूर ने कहा, ‘मामले के बारे में आ रही बहुत सी चीजें ‘अनावश्यक विवाद, कुप्रचार व कई बार पूरी तरह से झूठ’ हैं। थरूर ने कहा, ‘मैं पिछले एक साल से परेशान हूं। हम इस प्रक्रिया को चाहते हैं ताकि उसको (सुनंदा को), परिजनों को और पति के रूप में मुझ सहित सभी को न्याय मिल सके।’

उन्होंने कहा, ‘मैंने अपनी पत्नी गंवाई है। मुझे एक साल से अधिक समय तक शोक नहीं मनाने दिया गया। मैं बहुत पीड़ा से गुजरा हूं।’ मामले में नई प्राथमिकी दर्ज होने के बाद उनके चुप्पी साधने को लेकर हो रही आलोचनाओं को खारिज करते हुए थरूर ने कहा, ‘मैं एक साल से इस पर चुप था क्योंकि पुलिस जांच जारी है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App