शशि थरूर ने बर्नार्ड शा का कमेंट पोस्ट कर कसा तंज तो बीजेपी सांसद ने खुद को कह दिया सूअर

कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर ने बर्नार्ड शा का कमेंट पोस्ट कर बीजेपी नेता पर तंज क्या कस दिया सांसद निशिकांत दुबे खुद को सूअर करार देने लगे।

bjp, congress
बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे और कांग्रेस सांसद शशि थरूर। (एक्सप्रेस फोटो)।

कांग्रेस नेता और सांसद शशि थरूर ने बर्नार्ड शा का कमेंट पोस्ट कर बीजेपी नेता पर तंज क्या कस दिया सांसद निशिकांत दुबे खुद को सूअर करार देने लगे। दरअसल, शशि थरूर ने बर्नार्ड शा के कोटेशन को शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘कुछ अभद्र और आपत्तिजनक टिप्पणियों पर मेरी प्रतिक्रिया मांगने वाले पत्रकारों से कहना चाहूंगा इस वजह से मेरा जवाब देने का कोई इरादा नहीं है!’ शा के कोटेशन में कहा गया है, ‘मैंने बहुत पहले सीखा था कि सूअर से कभी नहीं लड़ें। एक तो आप गंदे हो जाते हैं, दूसरा ये कि सूअर को लड़ना पसंद है।’ थरूर के इस ट्वीट के जवाब में निशिकांत दुबे ने ट्वीट किया , ‘हां मैं सूअर हूं।’

निशिकांत दुबे ने शशि थरूर के खिलाफ दिया था प्रस्ताव: मालूम हो कि बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी संसद की स्थायी समिति के अध्यक्ष शशि थरूर के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था। उन्होंने नियम 222 का हवाला देते हुए कहा कि एक तरफ कांग्रेस विपक्षी दलों के लोग सदन नहीं चलने दे रहे हैं और दूसरी तरफ संसदीय समिति की बैठक हो रही है। दुबे ने कांग्रेस नेता थरूर के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था। गौरतलब है कि समिति पेगासस मामले पर चर्चा करना चाहती है वहीं बीजेपी सांसद समिति की बैठकों से वॉक आउट कर रहे हैं। इस समिति के अधिकतर सदस्य भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के हैं। इसलिए कोरम पूरा न होने के चलते मीटिंग नहीं हो पा रही है।

मालूम हो कि भारत में पेगासस स्पाइवेयर के जरिए 300 से अधिक मोबाइल नंबरों की कथित निगरानी की खबर सामने आने के बाद से सियासी भूचाल आ गया है।


निशिकांत दुबे ने महुआ मोइत्रा पर भी लगाया था आरोप: बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने लोकसभा में बिना किसा का नाम लिये आरोप लगाया था कि तृणमूल कांग्रेस की एक सांसद ने सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) संबंधित संसदीय समिति की बैठक में उनके लिए अपमानजनक शब्दों का इस्तेमाल किया।

दुबे ने ट्वीट भी किया था और तृणमूल कांग्रेस की लोकसभा सदस्य महुआ मोइत्रा पर आरोप लगाया था कि उन्होंने ‘बिहारी गुंडा’ कहा था। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को संबोधित अपने ट्वीट में कहा, ‘‘अपने 13 साल के संसदीय जीवन में पहली बार गाली सुनी, तृणमूल कांग्रेस की सदस्य महुआ मोइत्रा द्वारा आईटी पर संसदीय समिति की बैठक में तीन बार बिहारी गुंडा बोला गया।’’

हालांकि दुबे के इन आरोपों को खारिज करते हुए महुआ मोइत्रा ने ट्वीट किया, ‘‘समिति की बैठक कोरम पूरा नहीं होने के कारण हुई ही नहीं थी। मैं किसी को गाली कैसे दे सकती हूं जो बैठक में मौजूद ही नहीं थे। अटेंडेंस देख लीजिए।’’

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट