ताज़ा खबर
 

संयुक्त राष्ट्र में है तत्काल सुधार की जरूरत: शशि थरूर

संयुक्त राष्ट्र महासचिव पद की दौड़ में बान की मून से पीछे रह जाने के बाद वर्ष 2007 में कांग्रेस सांसद थरूर ने संयुक्त राष्ट्र छोड़ दिया था

Author कोलकाता | Published on: July 24, 2016 2:32 PM
केरल के तिरूवनंतरपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर। (पीटीआई फोटो)

संयुक्त राष्ट्र के पूर्व अवर महासचिव शशि थरूर ने यहां कहा कि अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद और नरसंहार के हथियारों की चुनौतियों से निपटने और मानवाधिकारों को बढ़ावा देने के लिए संयुक्त राष्ट्र में तत्काल सुधार की जरूरत है। उन्होंने शनिवार (23 जुलाई) को यहां एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र अपरिहार्य है और इसका कोई विकल्प नहीं है। सुधारों के अभाव में इसकी विश्वसनीयता कम होगी और इसमें तत्काल सुधार की आवश्यकता है।’ संयुक्त राष्ट्र महासचिव पद की दौड़ में बान की मून से पीछे रह जाने के बाद वर्ष 2007 में संयुक्त राष्ट्र छोड़ने वाले तिरूवनंतरपुरम से कांग्रेस सांसद थरूर ने कहा कि पहले से एक खतरा है कि समूह के देश समूह-20 जैसे अन्य मंचों को अधिक तवज्जो दे रहे हैं।

उन्होंने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति हैरी ट्रूमैन को उद्धृत किया, ‘अगर हम उसे (संयुक्त राष्ट्र को) बनाये रखने में विफल रहते हैं तो हम लोग (हिरोशिमा में हुए बम हमले और दो विश्व युद्धों में) मारे गये लोगों के साथ विश्वासघात करेंगे।’ थरूर ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद और नरसंहार से जुड़े हथियारों की बड़ी चुनौतियों से निपटने और मानवाधिकारों को बढ़ावा देने के लिए अब संयुक्त राष्ट्र को और मजबूत बनाने की जरूरत है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता के मुद्दे पर उन्होंने कहा, ‘वह मुद्दा अब निष्प्रभावी हो गया है।’ थरूर ने कहा, ‘यह मुद्दा वर्ष 1945 की भू राजनीतिक स्थिति को दर्शाता है, आज की नहीं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 सभी चिंताओं को दूर होने के बाद ही करेंगे जीएसटी का समर्थन: सिंधिया
2 दयाशंकर सिंह ने इंटरव्यू में मांगी माफी, किया सवाल- क्या मेरी पत्नी-बेटी की इज्जत मायावती से कम है ?
3 800 लोगों का धर्म परिवर्तन करवा चुके हैं जाकिर नाइक के दो साथी: ATS
जस्‍ट नाउ
X