ताज़ा खबर
 

श्मशान और क़ब्रिस्तान दोनों…जो कहा सो किया- राहुल गांधी का नरेंद्र मोदी पर निशाना

राहुल का यह बयान ऐसे वक्त पर आया है, जब कोरोना काल में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं बहुत हद तक चरमरा चुकी हैं। अस्पताल में बेड के बाद श्मशान हो या फिर कब्रिस्तान, वहां लाश क्रमशः जलाने और दफ्नाने के लिए जगह नहीं मिल रही।

Narendra Modi, Rahul Gandhi, Coronavirusपीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने यह बात टि्वटर पर कही। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। शनिवार (17 अप्रैल, 2021) को एक ट्वीट के जरिए उन्होंने कहा, “श्मशान और कब्रिस्तान दोनों…जो कहा सो किया।” कांग्रेसी नेता ने इस कथन के साथ एक हैशटैग भी इस्तेमाल किया, जिसमें अंग्रेजी में लिखा था मोदी मेड डिजास्टर यानी पीएम ने बहुत बड़ी गलती की है।

कोरोना को लेकर कांग्रेसी नेता का है हमलाः राहुल का यह बयान ऐसे वक्त पर आया है, जब कोरोना काल में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं बहुत हद तक चरमरा चुकी हैं। अस्पताल में बेड के बाद श्मशान हो या फिर कब्रिस्तान, वहां लाश क्रमशः जलाने और दफ्नाने के लिए जगह नहीं मिल रही है। कोरोना से मरने वालों के परिजन को मिन्नतें, सिफारिश और दर-दर की ठोंकरें खाने के बाद भी घंटों इंतजार करना पड़ रहा है।

Coronavirus Lockdown in India LIVE Updates in Hindi

यह है असल संदर्भ: बात 2017 की है। प्रधानमंत्री यूपी में एक चुनावी रैली कर रहे थे। जगह थी- फतेहपुर। वहां उन्होंने कहा था कि गांव में अगर कब्रिस्तान बनता है तो श्मशान भी बनना चाहिए। मोदी का बयान था, “‘गांव में अगर कब्रिस्तान बनता है तो श्मशान भी बनना चाहिए, रमज़ान में बिजली मिलती है तो दिवाली में भी मिलनी चाहिए, होली में बिजली आती है तो ईद पर भी आनी चाहिए।” ऐसे में समझा जा सकता है कि राहुल का निशाना इसी संदर्भ में है।

“रणनीति सिर्फ ‘तुगलकी लॉकडाउन’ की है”: गांधी ने इससे पहले शुक्रवार को कोरोना महामारी से निपटने की रणनीति को लेकर केंद्र पर जुबानी हमला बोला था। आरोप लगाया कि सरकार की रणनीति सिर्फ ‘तुगलकी लॉकडाउन’ लगाने और घंटी बजवाने की है। उन्होंने ट्वीट किया था, ‘‘केंद्र सरकार की कोविड रणनीति- पहला चरण- तुग़लक़ी लॉकडाउन लगाओ। दूसरा चरण- घंटी बजाओ। तीसरा चरण- प्रभु के गुण गाओ।’’

बाद में उन्होंने पिछले साल के अपने एक बयान का वीडियो इंस्टाग्राम पर पोस्ट करते हुए कहा कि एक साल बाद भी लोग परेशानी का सामना कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘एक साल बाद भी लोग पीड़ा झेल रहे हैं, हमारा स्वास्थ्य संबंधी बुनियादी ढांचा ध्वस्त पड़ा है और हमारे प्रधानमंत्री अपनी जिम्मेदारियों से निरंतर पल्ला झाड़ रहे हैं।’’

देश में लगातार तीसरे दिन 2 लाख के पार मिले नए केस!: भारत में कोविड-19 के रिकॉर्ड 2,34,692 नए मामले सामने आने के बाद देश में अब तक संक्रमित हो चुके लोगों की कुल संख्या बढ़कर 1,45,26,609 हो गई है, वहीं एक दिन में अब तक सर्वाधिक 1,341 लोगों की मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 1,75,649 हो गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के शनिवार आठ बजे के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या 16 लाख से अधिक हो गई है। संक्रमण के मामलों में लगातार 38वें दिन वृद्धि हुई है। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 16,79,740 हो गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 11.56 प्रतिशत है जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 87.23 प्रतिशत रह गई है।

Next Stories
1 राष्ट्रीय नेता, CM बनना चाहते हैं?- प्रभु चावला का सवाल, कांग्रेसी शशि थरूर ने दिया ये जवाब
2 सुप्रीम कोर्ट से सीबीआई को “पिंजरे में क़ैद तोता” कहलवाने वाले पूर्व निदेशक रंजीत सिन्हा की कोरोना से मौत, चारा घोटाले में भी लालू को बचाने का लगा था आरोप
3 कोरोनाः बढ़ते केस, कम पड़ती ऑक्सीजन के बीच कहां और कैसे आती है इसे लाने-ले-जाने में मुश्किल? जानें
आज का राशिफल
X