ताज़ा खबर
 

शाहरुख रहते भारत में हैं, पर मन सदा पाकिस्तान में रहता है: कैलाश विजयवर्गीय

भाजपा नेता और मध्य प्रदेश सरकार में पूर्व मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान पर हमला बोलते हुए उनके असहिष्णुता संबंधी टिप्पणी पर करारा प्रहार किया।..

Author नई दिल्ली | November 4, 2015 2:19 AM
बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय। (फाइल फोटो)

भाजपा नेता और मध्य प्रदेश सरकार में पूर्व मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान पर हमला बोलते हुए उनके असहिष्णुता संबंधी टिप्पणी पर करारा प्रहार किया।

विजयवर्गीय ने अपने पहले ट्वीट में कहा, ‘शाहरुख़ खान रहते भारत में हैं पर उनका मन हमेशा पाकिस्तान में रहता है। उनकी फिल्में यहां करोड़ों कमाती हैं पर उनको भारत असहिष्णु नजर आता है।’

दूसरे ट्वीट में उन्होंने शाहरुख खान की देशभक्ति पर सवाल खड़ा किया और लिखा, ‘यह देशद्रोह नहीं तो क्या? भारत संयुक्त-राष्ट्र का स्थाई सदस्य बनने को है, पाकिस्तान समेत सभी भारत विरोधी ताकतें इसके विरुद्ध षडयंत्र रच रही हैं।

तीसरे ट्वीट में विजयवर्गीय ने कहा, ‘भारत में असहिष्णुता का माहौल बनाना षडयंत्र का हिस्सा है। शाहरुख का ‘असहिष्णुता का राग’ पाक व भारत विरोधी ताकतों के सुर में सुर मिलाना है।

चौथे ट्वीट में शाहरुख से सवाल करते हुए उन्होंने लिखा, ‘जब 1993 में बॉम्बे में सैकड़ों लोग मारे गए तब शाहरुख खान कहां थे? जब मुंबई पर 26/11 को हमला हुआ तब शाहरुख कहां थे?

अपने पांचवें और अंतिम ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘आज सारी दुनिया भारत व उसके नेतृत्व को मान कर रही हैं, ऐसे में यहां असहिष्णुता बढ़ने की बात करना, दुनिया के समक्ष भारत को कमजोर करना होगा।

गौ़रतलब है कि अपने 50वें जन्मदिन पर शाहरुख ने कहा था कि स्थितियां बिगड़ रही हैं और असहिष्णुता का वातावरण बन रहा है। उन्होंने कहा कि असहिष्णुता का बढ़ना मूर्खता है और धार्मिक असहिष्णुता का बढ़ना बहुत बड़ा मुद्दा है। देश से प्यार करने वालों की नजर में यह सबसे बड़ा अपराध है। हम सुपर पॉवर कैसे बनेंगे, अगर हम इस बात में विश्वास नहीं करेंगे कि सारे धर्म एक जैसे ही हैं।

लगातार ब्रेकिंग न्‍यूज, अपडेट्स, एनालिसिस, ब्‍लॉग पढ़ने के लिए आप हमारा फेसबुक पेज लाइक करेंगूगल प्लस पर हमसे जुड़ें  और ट्विटर पर भी हमें फॉलो करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App