ताज़ा खबर
 

NSUI अध्‍यक्ष पर यौन उत्पीड़न के आरोप, पीड़‍िता बोली- बहन और सहेली को भी रात में रुकने को कहा

महिला के मुताबिक फिरोज खान ने बार-बार उसे मैसेज कर अपने होटल में आने और रात में रुकने के लिए कहा। महिला के मना करने पर फिरोज खान ने कहा कि वो उससे बात नहीं करेंगे। महिला पदाधिकारी का आरोप है कि जिस वक्त वो अपनी बहन के साथ बेंगलुरु में मौजूद थी उस वक्त फिरोज खान ने उनसे उनकी बहन का फोन नंबर लिया।

NSUI के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान फोटो सोर्स – फेसबुक

कांग्रेस पार्टी के छात्र संगठन एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान पर एक महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। संगठन की ही एक महिला पदाधिकारी का आरोप है कि फिरोज खान ने उनकी बहन और सहेली को भी रात में उनके कमरे में आकर रुकने के लिए कहा था।

महिला का यह है आरोप: पीड़ित महिला का आरोप है कि 7-8 मई को जिस वक्त पार्टी कर्नाटक चुनाव प्रचार को लेकर व्यस्त थी उस वक्त वो भी एनएसयूआई के सम्मेलन के लिए बेंगलुरु में ही मौजूद थी। महिला के मुताबिक फिरोज खान ने बार-बार उसे मैसेज कर अपने होटल में आने और रात में रुकने के लिए कहा। महिला के मना करने पर फिरोज खान ने कहा कि वो उससे बात नहीं करेंगे। महिला पदाधिकारी का आरोप है कि जिस वक्त वो अपनी बहन के साथ बेंगलुरु में मौजूद थी उस वक्त फिरोज खान ने उनसे उनकी बहन का फोन नंबर लिया। इसके बाद उसने उसी रात को उनकी बहन को दो बार रात 11.30 बजे और फिर 2.30 बजे फोन किया।

इतना ही नहीं उन्होंने उनकी बहन को मैसेज कर रात में होटल के कमरे में आने और उनके साथ ठहरने के लिए भी कहा। महिला पदाधिकारी का आरोप है कि फिरोज ने सोलोन की रहने वाली उनकी सहेली को भी फोन कर दिल्ली के जंगपुरा स्थित अपने आवास में रात में रुकने के लिए कहा। इस घटना के बाद उनकी सहेली दहशत में हैं।

मोतीलाल वोरा के सामने भला-बुरा कहा: फिरोज पर आरोप लगाने वाली महिला पदाधिकारी छत्तीसगढ़ के भिलाई की रहने वाली है और राज्य इकाई की सदस्य है। महिला का कहना है कि उसने फिरोज की बात मानने से इनकार कर दिया और पार्टी नेता मोतीलाल वोरा से फिरोज खान की शिकायत भी की। लेकिन महिला का कहना है कि फिरोज ने मोतीलाल वोरा के सामने ही उसके चरित्र पर सवाल उठाए। इतना ही नहीं महिला ने कहा है कि मोतीलाल वोरा ने उससे ठीक से बातचीत नहीं कि और कहा कि वो फिरोज खान से ना मिले। महिला का यह भी आरोप है कि दिल्ली का इंचार्ज बनाने के बावजूद उसे नियुक्ति पत्र भी नहीं दिया जा रहा है।

ईमेल हुआ है लीक: इधर पीड़ित महिला का कहना है कि उन्होंने ईमेल के जरिए पार्टी को अपनी समस्या से सूचित किया था। लेकिन उन्हें नहीं मालूम की उनका ईमेल कैसे लीक हो गया है। महिला का कहना है कि 17 मई को जब पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के एक कार्यक्रम में उनका फिरोज से आमना-सामना हुआ था तो उन्होंने फिरोज से बातचीत नहीं की थी। जिसके बाद उसी दिन फिरोज ने एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष से कहा कि मुझे नेशनल डेलिगेट के पद से हटा दिया जाए। आपको बता दें कि इस महिला ने 2015 में पार्टी में नेशनल डेलिगेट का चुनाव जीता था। महिला का आरोप है कि पार्टी के कई कार्यकर्ता उसपर अब मामले को रफा-दफा करने का दबाव भी बना रहे हैं।

कांग्रेस ने बैठाई जांच: पार्टी की एक महिला पदाधिकारी के इन आरोपों के बाद कांग्रेस ने तीन सदस्यीय समिति का गठन किया। यह समिति NSUI अध्यक्ष पर लगे आरोपों की जांच करेगी। इस समिति में सुष्मिता देव, रागिनी नायक और दीपेंद्र हुड्डा शामिल हैं। NSUI की इंचार्ज रुचि गुप्ता ने कहा है कि पार्टी इस मामले की जांच करेगी। इधर महिला ने अपनी शिकायत ईमेल की जरिए भी पार्टी को भेजी है। महिला का यह भी आरोप है कि पार्टी के कई कार्यकर्ता उसपर दबाव बना रहे हैं कि वो दिल्ली आकर वरिष्ठ पदाधिकारियों से मिलने के बाद ही वो जांच कमेटी के पास जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App