scorecardresearch

दिल्ली में भीषण गर्मी की चेतावनी, अधिकतर इलाकों में पारा चढ़ा

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि दिल्ली के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है।

weather

उत्तर-पश्चिमी भारत में लू का प्रकोप जारी है और इस बीच दिल्ली में बुधवार को ज्यादातर इलाकों में अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की वृद्धि देखी गई। भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार सफदरजंग वेधशाला में गुरुवार को अधिकतम तापमान 43 डिग्री के पार और शुक्रवार को 44 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि दिल्ली के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। विभाग ने दिल्ली में 28 अप्रैल से लू चलने की ‘पीली चेतावनी’ जारी की है। बुधवार को सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान 41.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो मंगलवार को 40.8 डिग्री था। पीतमपुरा में तापमान 43.6 और मुंगेशपुर में 44.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि नजफगढ़ में तापमान 43.7, रिज में 43.6 और स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में 44.2 डिग्री सेल्सियस।

गौरतलब है कि राजधानी में 21 अप्रैल 2017 को अधिकतम तापमान 43.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। अप्रैल में रेकार्ड अधिकतम तापमान 29 अप्रैल 1941 को 45.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। उत्तर-पश्चिमी भारत में मार्च के अंतिम सप्ताह से सामान्य से अधिक तापमान दर्ज किया गया है और मौसम विशेषज्ञ इसके लिए उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ की अनुपस्थिति को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

क्षेत्र को अफगानिस्तान पर पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण बादल छाए रहने की वजह से पिछले सप्ताह थोड़ी राहत मिली थी। दिल्ली में शुक्रवार और रविवार को आंशिक रूप से बादल छाए रहने, हल्की बारिश और 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से धूल भरी हवा चलने का अनुमान है।

नौ केंद्रों पर पारा 45 पार

देश में भीषण गर्मी का दौर फिर शुरू हो गया है। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और उत्तर प्रदेश में इस महीने के अंत तक लू के थपेड़े सहने पड़ेंगे। वहीं बुधवार को भी राजस्थान के कुछ जगहों सहित देश के नौ केंद्रों पर पारा 45 डिग्री के पार चला गया है। मौसम विभाग ने लू को लेकर पीली चेतावनी जारी की है और लोगों को एहतियाती उपाय अपनाने की सलाह दी है।

मैदानी हिस्सों में पश्चिमी मध्य प्रदेश के राजगढ़ में पारा 45.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भारतीय मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा है कि देश के पश्चिमोत्तर, मध्य व पूर्वी हिस्से में भीषण गर्मी आने वाले दिनों में परेशान कर सकती है। इन हिस्सों में आने दिनों में तापमान 43 डिग्री से ऊपर बने रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने बताया कि बुधवार को राजस्थान के बीकानेर व फलौदी में पारा 45.2 और बाड़मेर में 45.1 डिग्री सेल्सियस रहा। उत्तर प्रदेश के झांसी में पारा 45.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अन्य जगहों पर भी अधिकतम तापमान 45 से ऊपर चला गया। उमस भरी गर्मी इस महीने के अंत तक बनी रहेंगी।

हालांकि, मई की शुरुआत में लू में थोड़ी गिरावट देखने को मिल सकती है। 30 अप्रैल के बाद, पश्चिमी विक्षोभ की संभावना बन रही है। जिसके परिणामस्वरूप मई के पहले सप्ताह में उत्तरी मैदानी इलाकों में कुछ बारिश होने की संभावना के साथ थोड़ी राहत देखने को मिलेगी। अभी पश्चिमी विक्षोभ उत्तरी पाकिस्तान और अफगानिस्तान के पास बना हुआ है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट