ताज़ा खबर
 

खाई में गिरी जीप, बिहार के सात मजदूरों की मौत

कांगड़ा व मंडी में काम करने वाले जयंती टैंट हाउस के मालिक ने बड़ी संख्या में विवाह समारोहों के कारण लुधियाना से सात मजदूर काम के लिए बुलाए थे। ये मजदूर रात्रिकालीन बस में मंडी के लिए रवाना हुए। उन्हें मंडी सुंदरनगर मार्ग पर मंडी से आठ किलोमीटर दूर गुटकर में उतर कर उसके सामने बल्ह घाटी के गांव बैहना (जहां टैंट हाउस मालिक का स्टोर व कार्यालय है) पहुंचना था। आधी रात को ये मजदूर गुटकर में नहीं उतर पाए और सीधे मंडी बस अड्डे पर पहुंच गए।

फाइज फोटो।

यहां रविवार देर रात करीब ढाई बजे मंडी के पास एक जीप के सुकेती खड्ड में जा गिरने से बिहार के सात मजदूरों की मौत हो गई जबकि जीप का चालक (कांगड़ा जिले से) बुरी तरह से घायल हो गया। मंडी जोनल अस्पताल में उसका उपचार चल रहा है। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक ट्वीट में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘हिमाचल प्रदेश के मंडी में सड़क हादसे की खबर से अत्यंत दुख हुआ है। सरकार राहत और बचाव कार्य में जुटी हुई है। इस दुर्घटना में मृतकों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’

जानकारी के अनुसार कांगड़ा व मंडी में काम करने वाले जयंती टैंट हाउस के मालिक ने बड़ी संख्या में विवाह समारोहों के कारण लुधियाना से सात मजदूर काम के लिए बुलाए थे। ये मजदूर रात्रिकालीन बस में मंडी के लिए रवाना हुए। उन्हें मंडी सुंदरनगर मार्ग पर मंडी से आठ किलोमीटर दूर गुटकर में उतर कर उसके सामने बल्ह घाटी के गांव बैहना (जहां टैंट हाउस मालिक का स्टोर व कार्यालय है) पहुंचना था। आधी रात को ये मजदूर गुटकर में नहीं उतर पाए और सीधे मंडी बस अड्डे पर पहुंच गए।

यहां से उन्होंने टैंट हाउस मालिक को फोन लगाया और कहा कि वे मंडी बस स्टैंड पर हैं, उन्हें ले जाएं। इस पर मालिक ने अपनी जीप एचपी 40 -9079 उन्हें बैैहना लाने के लिए भेजी। जीप चला रहा चालक विपिन कुमार (पुत्र सरवन कुमारी निवासी कालीजन, डाकघर लीली तहसील नगरोटा बगवां जिला कांगड़ा) बस अड्डे से कुछ ही दूरी पर पुलघराट में सुकेती पुल से गुजरते हुए नियंत्रण खो बैठा और जीप सीधे सुकेती खड्ड में जा गिरी। मजदूरों को जीप के डाले में बिठाया गया था। सात मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक ने अस्पताल पहुंच कर दम तोड़ दिया।

चालक को गंभीर हालत में अस्पताल में दाखिल करवाया गया है। मंडी सदर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आशीष शर्मा ने बताया कि चालक पर लापरवाही का मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि सभी शवों को जोनल अस्पताल में रखा गया है। परिजनों को सूचित कर दिया गया है। उनके आने के बाद ही शवों का पोस्टमार्टम होगा। मरने वालों में सभी की उम्र 16 से 28 साल के बीच थी और सभी बिहार में जिला कटिहार के रहने वाले थे। इनमें दो सगे भाई भी मौत का शिकार हुए हैं।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने हादसे पर शोक जताते हुए कहा कि जिला प्रशासनिक टीम सूचना मिलते ही तत्काल दुर्घटना स्थल पर पहुंची और राहत व बचाव कार्य शुरू करा दिया। संकट की घड़ी में सरकार पीड़ित परिवारों के साथ है और उन्हें हरसंभव सहायता प्रदान की जाएगी। उन्होंने घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की भी कामना की।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सम-सामयिक:क्यों बेलगाम बन गई महंगाई की रफ्तार
2 शोध: ब्रह्मांड में 10 गुना बढ़ गया तापमान
3 कोरोना: कितने कारगर सीरो सर्वे? क्या विकसित होने लगी प्रतिरोधक क्षमता??
ये पढ़ा क्या?
X