Separatists should not play politics with future of Kashmiri children because they are Asset of India says Home Minister Rajnath Singh - JK के दौरे पर बोले राजनाथ सिंह, 'कश्मीरी बच्चों के भविष्य से न खेलें अलगाववादी, वे हैं देश की संपत्ति' - Jansatta
ताज़ा खबर
 

JK के दौरे पर बोले राजनाथ सिंह, ‘कश्मीरी बच्चों के भविष्य से न खेलें अलगाववादी, वे हैं देश की संपत्ति’

गृह मंत्री की इस दौरान मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से भी भेंट हुई। दोनों के बीच सरहद पर होने वाली आतंकी गतिविधियों को लेकर चर्चा हुई। साथ ही अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा बंदोबस्त की समीक्षा भी की गई।

केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह। (फोटोः पीटीआई)

गृह मंत्री राजनाथ सिंह अलगाववादियों पर जमकर बरसे हैं। उन्होंने कहा है कि कश्मीरियों के बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए। वे देश की संपत्ति हैं। अलगाववादी अपने बच्चों को तो बढ़िया शिक्षा देते हैं, मगर वे दूसरों के बच्चों को पत्थरबाज क्यों बना देते हैं? गुरुवार (सात जून) को गृह मंत्री श्रीनगर में थे। वह जम्मू-कश्मीर के दो दिवसीय दौरे के तहत यहां आए।

राजनाथ की इस दौरान मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से भी भेंट हुई। दोनों के बीच सरहद पर होने वाली आतंकी गतिविधियों को लेकर चर्चा हुई। साथ ही अमरनाथ यात्रा के सुरक्षा बंदोबस्त की समीक्षा भी की गई।

JK: केरन सेक्टर में PAK ने भारतीय सेना पर फिर किया हमला, 2 जवान जख्मी

केंद्रीय मंत्री ने इसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा, “हमारे रास्ते में कितनी भी बाधाएं आएं, मगर हम कश्मीर में शांति के मकसद को हासिल करने से पीछे नहीं हटेंगे। कठिन घड़ी में भी हमारे सुरक्षाबलों (सेना व पुलिस) ने संयम से काम लिया है। अलगाववादी चाहे किसी प्रकार की भी राजनीति करें, मगर वे बच्चों के भविष्य से न खेंले।”

बकौल राजनाथ, “वे बच्चे न केवल कश्मीर के हैं, बल्कि वे भारत के भी बच्चे हैं। वे हमारी संपत्ति हैं। हम इस बात को दिमाग में रखते हुए सबसे पहले पत्थरबाजी में शामिल बच्चों पर दर्ज किए गए केस वापस लेते हैं।”

सख्त तेवर में गृह मंत्री बोले, “वे अपने बच्चों को तो अच्छी शिक्षा देते हैं, मगर बाकी लोगों के बच्चों को पत्थर थमा देते हैं। ऐसा क्यों? कश्मीर में ढेर सारी प्रतिभा युवाओं में है, जिनमें से कई आईएएस और आईआईएम बने हैं। कुछ लोग बस उन्हें बरलगला देते हैं।”

अपील करते हुए उन्होंने कहा कि हर तरफ एक जैसे युवा हैं। हम जानते हैं कि उन्हें सुरक्षाबलों पर पत्थरबाजी करने के लिए गुमराह किया जाता है। ऐसे में वे विकास का रास्ता चुनें। उन्हें विनाश के रास्ते पर नहीं जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App