ताज़ा खबर
 

आएएसएस के पंजाब सह संघ संचालक की मौत, गोली मारकर फरार हो गए थे तीन युवक

जगदीश गगनेजा 6 अगस्त को जब अपनी पत्नी के साथ बाजार से वापस लौट रहे थे उसी समय जालंधर के ज्योति चौक के पास बाइक सवार तीन युवकों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग की थी।

Author लुधियाना | September 22, 2016 2:33 PM
आरएसएस के वरिष्ठ नेता जगदीश गगनेजा का लुधियाना में निधन हो गया। गगनेजा पर 6 अगस्‍त को फायरिंग की गई थी। (Express photo)

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ नेता जगदीश गगनेजा का गुरुवार सुबह 9 बजकर 16 मिनट पर लुधियाना के एक अस्पताल में निधन हो गया। उनका लुधियाना के डीएमसी हीरो हार्ट अस्‍पताल में इलाज चल रहा था। 65 वर्षीय जगदीश गगनेजा पर जालंधर में 6 अगस्‍त को कुछ युवकों ने जानलेवा हमला किया था जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गए थे। आरएसएस के पंजाब प्रांत के सह संघ संचालक रिटायर्ड ब्रिगेडियर जगदीश गगनेजा 6 अगस्त को जब अपनी पत्नी के साथ बाजार से वापस लौट रहे थे उसी समय जालंधर के ज्योति चौक के पास बाइक सवार तीन युवकों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग की थी।

इसके बाद गगनेजा को लुधियाना के डीएमसी हीरो हार्ट अस्‍पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी और वो करीब डेढ़ महीने से जिंदगी तथा मौत के बीच जूझ रहे थे। गगनेजा का इलाज कर रहे डॉक्टर्स ने बताया कि उनकी किडनी में इन्फेक्शन बढ़ गया था जो उनके लिए जानलेवा साबित हुआ। पुलिस द्वारा जगदीश गगनेजा केस में कोई गिरफ्तारी करने में नाकाम रहने के बाद हाल ही में इस मामले को सीबीआई को सौंप दिया गया था।

आरएसएस के वरिष्ठ नेता गगनेजा के निधन की जानकारी मिलने के बाद संघ और भाजपा सहित विभिन्‍न संगठनों से जुड़े लोग अस्‍पताल परिसर में भारी संख्‍या में जुट गए। भाजपा के प्रदेश नेताओं अौर मंत्रियों ने अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए। अस्पताल में गगनेजा के परिवार के सदस्यों के अलावा संघ और भाजपा के कई वरिष्ठ नेता श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए मौजूद थे। डीएमसी के मेडिकल सुपरिडेंटेंट डॉ.संदीप शर्मा ने उनके निधन की पुष्टि की। ब्रिगेडियर जगदीश गगनेजा के निधन के बाद अस्‍पताल और आसपास के क्षेत्र में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

Read Also: गौरक्षकों ने की दिग्विजय सिंह से मुलाकात, गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित कराने में मांगी मदद

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App