ताज़ा खबर
 

‘ज्यादा निरंकुश हुई मोदी सरकार 2.0, सत्ता के सामने संस्थाएं हो रहीं दंडवत’, वरिष्ठ पत्रकार ने लिखा तो हो गए ट्रोल

आशुतोष ने एक लेख लिखा है जिसमें उन्होंने मोदी सरकार को ज़्यादा निरंकुश बताया है। आशुतोष ने अपने इस लेख तो ट्वीट कर शेयर किया है। जिसे शेयर करते ही यूजर्स आशुतोष पर निशाना साधने लगे और उन्हें ट्रोल करने लगे।

इस ट्वीट के बाद पत्रकार आशुतोष ट्विटर यूजर्स के निशाने पर आ गए हैं। फोटो सोर्स – PTI

आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष एक बार फिर सोशल मीडिया पर ट्रोल्स का शिकार हुए हैं। आशुतोष ने एक लेख लिखा है जिसमें उन्होंने मोदी सरकार को ज़्यादा निरंकुश बताया है। आशुतोष ने अपने इस लेख तो ट्वीट कर शेयर किया है। जिसे शेयर करते ही यूजर्स आशुतोष पर निशाना साधने लगे और उन्हें ट्रोल करने लगे।

वरिष्ठ पत्रकार ने लेख शेयर कर लिखा “आशुतोष लिखते हैं- ज़्यादा निरंकुश हुई मोदी सरकार, मजबूत सत्ता के सामने शर्मनाक रूप से संस्थाओं का दंडवत होना क्या है?” उनके इस ट्वीट पर एक यूजर ने लिखा “लोकतंत्र में जनता के द्वारा चुना हुआ शासक निरंकुश कैसे हो गया? ये कमी संविधान की है या संस्थाओं की? संविधान में जनता के अधिकारों से ज्यादा राजनीतिज्ञों को विशेषाधिकार प्राप्त है। अपराधी या आपराधिक प्रवृत्ति वाला भी देश की सत्ता पर अपनी पकड़ बना लेता है तो कौन जिम्मेदार है??

Coronavirus Live update: यहां पढ़ें कोरोना वायरस से जुड़ी सभी लाइव अपडेट….

एक अन्य यूजर ने लिखा “अरे कांग्रेस की तरफ से नहीं मिलेगा राज्यसभा का टिकट जनता सब समझती है तुम जैसे दरबारी लोगो की आदत तुम लोगो को केवल विरोध करना है चाहे देश का विरोध ही क्यो ना करना पड़े कौन सी संस्था को दंडवत करवा दिया झूठे।” एक ने लिखा “एक परिवार के आगे 50 वर्षों से दण्डवत करने वाले आप आज ये सवाल पूछ रहे हैं?? आप शवासन कीजिए वही ठीक है।”

आशुतोष ने अपने लिख में लिखा “मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा हो गया है। पिछले एक साल में मोदी सरकार और ज़्यादा अलोकतांत्रिक और निरंकुश हुई है। लोकतंत्र के जिन खंभों पर संविधान की रक्षा की जिम्मेदारी थी, वे पूरी तरह दंडवत दिखाई दिए। सीएए विरोधी आवाज़ को बेरहमी से कुचला गया और न्यायपालिका आम आदमी के पक्ष में खड़ी नहीं दिखी। जामिया, जेएनयू और दिल्ली दंगों के मामले में भी सुप्रीम कोर्ट का यही रुख रहा। ये स्थिति मुझे बेहद निराश करती है। “

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 PM Modi Mann Ki Baat: देश में कठिनाइयों के बाद हालात संभले, लड़ाई को कमजोर नहीं होने देना, लापरवाही-सावधानी छोड़ना विकल्प नहीं
2 चीन से तनातनी के बीच पीएम मोदी और शी जिनपिंग की चेन्नई में अनौपचारिक मुलाकात को भी MEA ने बताया मोदी सरकार 2.0 की उपलब्धि
3 67 दिन के लॉकडाउन में कोरोना की नहीं थमी रफ्तार, तीन दिन में असम में डबल हो रहे मामले, दोगुनी होने की चाल गुजरात में सबसे ज्यादा
राशिफल
X