ताज़ा खबर
 

बजट से पहले सुब्रमण्यम स्वामी का तंज- चार साल ही बचे हैं, 18.6% चाहिए सालाना GDP ग्रोथ, असंभव!

कहा, "वर्तमान में हमारे पास अच्छी आपूर्ति है, लेकिन मांग की कमी है। देश के सामने यह एक बड़ी समस्या है। कहा कि बेहतर होगा कि सरकार नोट छापे और इसे लोगों के हाथों में दे, जिससे मांग बढ़े।"

BJP leader Subramanian Swamy, country economy, union budget, GDP, annual gdp, gdp growth, jnu, finance sector, banking, finance minister, pm modi, bjp government, central government, hindi news, jansatta news, jansatta onlineसुब्रमण्यम स्वामी (फोटो प्रेम नाथ पांडेय इंडियन एक्सप्रेस)

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने बजट से पहले देश की अर्थव्यवस्था पर तीखी टिप्पणी की। कहा कि जीडीपी काफी कम है और इसको बढ़ाना लगभग मुश्किल हो गया है। देश में निवेशकों को आकर्षित करने के लिए कर व्यवस्था में बदलाव की सख्त जरूरत है। उन्होंने ट्वीट कर अपनी ही पार्टी की सरकार पर तंज कसा। कहा “चार साल बचे हैं। 18.6 फीसदी सालाना जीडीपी ग्रोथ चाहिए। यह असंभव है।” पूछा कि सरकार इसको कैसे करेगी।

स्वामी ने हाल ही में कहा था कि देश की अर्थव्यवस्था “काफी खराब स्थिति” में है। उन्होंने आयकर को खत्म किए जाने की वकालत की थी। कहा था कि “हमारे देश में टैक्स टेररिज्म पर लगाम कसने की जरूरत है। टैक्समैन से लोग डर रहे हैं। यह खत्म हो जाए तो निवेशक आसानी से देश में निवेश करने की सोचेंगे।”

उन्होंने कहा, “वर्तमान में हमारे पास अच्छी आपूर्ति है, लेकिन मांग की कमी है। देश के सामने यह एक बड़ी समस्या है। कहा कि बेहतर होगा कि सरकार नोट छापे और इसे लोगों के हाथों में दे, जिससे मांग बढ़े। कहा कि अर्थव्यवस्था नीचे की ओर जा रही है। यदि ऐसा ही जारी रहा तो बैंकों का कामकाज बंद हो जाएगा। एनबीएफसी बंद हो जाएगी और इसके परिणाम काफी खराब होंगे।”

उन्होंने कहा कि देश में हिंसा की घटनाएं बढ़ी हैं और जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) इसका एक बड़ा केंद्र बन गया है। कहा कि इसको “दो वर्ष के लिए बंद” कर दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अमेरिका की तरह यहां भी विश्वविद्यालय में पुलिस की तैनाती होनी चाहिए। कहा कि जेएनयू में हिंसा की वजह से अच्छे छात्रों की पढ़ाई-लिखाई बाधित हो रही है। उनको व्यवस्था का खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। यह रोका जाना चाहिए।

बजट 2020 से जुड़े लाइव अपडेट्स, हाईलाइट्स, लाइव स्‍ट्रीम‍िंग न्‍यूज, इनकम टैक्‍स स्‍लैब अपडेट और संपूर्ण कवरेज पढ़ें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों के सामने झुकी केंद्र सरकार? रविशंकर प्रसाद बोले- CAA पर दूर करेंगे कन्फ्यूजन, पर रखी ये शर्त
2 SC में केंद्र सरकार से भिड़ेगा चुनाव आयोग, इलेक्टरॉल बॉन्ड का करेगा विरोध, चंदे का स्रोत जानने से किया था मना
3 खैर मनाए कि पोस्टर ही फाड़े, उसके साथ कुछ नहीं किया- छात्रा के लिए बंगाल बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, केस दर्ज
यह पढ़ा क्या?
X