ताज़ा खबर
 

केरल हाउस में बीफ फेस्‍ट के आयोजन की खबर, मौके पर बढ़ाई गई पुलिस सुरक्षा

केंद्र सरकार द्वारा पशु-मेलों में वध के लिए जानवरों की बिक्री पर प्रतिबंध का विरोध हो रहा है।

केरल हाउस के बाहर तैनात भारी पुलिसबल। (Source: ANI)

राजधानी दिल्ली के जंतर मंतर रोड स्थित केरल हाउस में शाम में एक राजनीतिक पार्टी द्वारा ‘बीफ फेस्टिवल’ आयोजित करने की सूचना के बाद वहां सुरक्षा बढ़ा दी गई। दिल्ली पुलिस ने कहा कि उन्हें मामले के बारे में केरल हाउस अधिकारियों से एक सूचना मिली। इसके बाद ऐहतियाती कदम के तौर पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। पुलिस उपायुक्त बी के सिंह ने कहा, ‘‘हमें केरल हाउस अधिकारियों ने एक अपुष्ट सूचना के बारे में अलर्ट किया जो उन्हें मिली है कि किसी राजनीतिक पार्टी के कुछ लोग वहां पर शाम साढ़े छह बजे ‘बीफ फेस्टिवल’ आयोजित करने की योजना बना रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए हमने इससे निपटने के लिए पुलिस बल तैनात किया है।’’ पुलिस सूत्रों ने यद्यपि कहा कि सूचना एक अफवाह प्रतीत होती है। ऐसी सूचना थी कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने केरल हाउस में शाम में एक ‘बीफ फेस्टिवल’ की योजना बनायी थी। पार्टी सांसद डी पी त्रिपाठी ने यद्यपि सूचना को ‘‘आधारहीन’’ करार दिया।

पिछले सप्ताह स्वयं को भारतीय गौरक्षा क्रांति का सदस्य बताने वाला एक ‘गौरक्षक’ समूह दक्षिणी राज्य में आयोजित बीफ फेस्टिवल का विरोध करने के लिए केरल हाउस में कथित रूप से घुस गया था। पिकेरल हाउस के रेजीडेंट कमिश्नर ने राज्य गेस्ट हाउस के लिए अधिक सुरक्षा की मांग की थी।

केरल हाउस के बाहर तैनात पुलिसबल। (Express Photo by Amit Mehra) केरल हाउस के बाहर तैनात पुलिसबल। (Express Photo by Amit Mehra)

बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा पशु-मेलों में वध के लिए जानवरों की बिक्री पर प्रतिबंध का केरल में मुखर विरोध हो रहा है। राज्‍य के कई हिस्‍सों में बीते दिनों बीफ फेस्‍ट का आयोजन किया गया था। इसमें इंडियन इंस्‍टिट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी, मद्रास के करीब 50 छात्रों द्वारा की गई बीफ पार्टी पर खासा विवाद हुआ था। इसके बाद यूथ कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं ने सरेआम बछड़ा काटकर सरकार के इस प्रतिबंध के खिलाफ अपना विरोध जताया था। केरल सरकार पहले ही साफ कर चुकी है कि पशुओं की बिक्री रोक को लेकर जारी किसी भी नोटिफिकेशन को वो नहीं मानेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App