पेगागस कांडः आप जासूस कमाल के हैं, राजा कैसे बन गए?- रवीश कुमार का मोदी सरकार पर तीखा तंज

पेगासस स्पाईवेयर से पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और राजनेताओं की जासूसी के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पांच अगस्त को सुनवाई करने का निर्णय लिया है।

spyware, israel
तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (Pixabay.com)

पेगासस जासूसी कांड को लेकर केंद्र की मोदी सरकार चौतरफा हमला झेल रही है। पेगासस स्पाईवेयर से पत्रकारों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और राजनेताओं की जासूसी के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पांच अगस्त को सुनवाई करने का निर्णय लिया है। पत्रकारों की ओर से सुप्रीम कोर्ट में इस मामले में सुनवाई करने के लिए याचिका डाली गई थी। वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट से इस मामले में सुनवाई करने की मांग की थी। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एन वी रमण की बेंच ने इस मामले में सुनवाई करने का फैसला किया है।

वहीं पेगासस जासूसी कांड को लेकर पत्रकार रवीश कुमार ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री मोदी पर करारा तंज कसा है। रवीश कुमार ने अपने फेसबुक पोस्ट में एक कहानी लिखकर केंद्र सरकार पर तंज कसा है जिसका शीर्षक रखा गया है “आप जासूस कमाल के हैं, राजा कैसे बन गए”। इस कहानी में कहा गया है कि एक राजा ने एक महिला की बात पर दूसरों की फोन की जासूसी कराने की सोची। जिसके बाद राजा के आदेश पर टेक्नॉलजी की टीम बुलाई गई। वायरस का फार्मूला तैयार हुआ और यह तय किया गया राजा वायरस बन कर हर दिन सौ फ़ोन में जाएगा। सौ घरों की बात लेकर आएगा।  

इसके बाद राजा दिन रात लोगों की बातें सुनने लगा। रात को जब फोन वाला सो रहा होता, राजा जाग रहा होता। राजा सब देखने लगा। फोन वाला नहा रहा है। फोन वाला खा रहा है। फोन वाला बाहर जाने के लिए पैंट बदल रहा है। फोन वाली साड़ी बदल रही है। फोन वाला फोटो खींच रहा है। फोन वाला बतिया रहा है। फोन वाला बाहर जा रहा है। फोन वाला किसी उद्योगपति से मिल रहा था।

आगे रवीश ने लिखा कि इस दौरान गलती से राजा का सच भी फोन वाले के फोन में पहुंच गया. थोड़े दिनों के बाद राजा खुद भी फोन वाले का जीवन जीने लगा। वह भूल गया कि वह एक राजा है। अब वह फोन वाला बन गया। कई दिन के बाद जब राजा की टीम के सदस्यों ने उसका अनुभव पूछा तो राजा ने कहा कि अब मैं वह नहीं हूं जो था। मेरा सच उन लोगों को मिल गया है। मैं ग़लती से उन्हें अपना सच दे दिया। उनकी जासूसी करते करते वो मेरी जासूसी करने लगे। इसपर राजा की एक उस महिला सदस्य ने कहा कि आप जासूस कमाल के हैं। राजा कैसे बन गए।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में पत्रकारों की तरफ से दायर याचिका में पूछा गया है कि क्या भारत सरकार ने इजरायली स्पाईवेयर पेगासस की खरीद की थी या इसके इस्तेमाल की मंजूरी किसी सरकारी एजेंसी को भी दी थी। वहीं मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कई देशों में पेगासस को लेकर उपजे विवाद के बीच इस स्पाईवेयर को बनाने वाली कंपनी एनएसओ ने इसकी बिक्री बंद कर दी है। एनएसओ ने यह फैसला इजरायल सरकार के द्वारा की गई जांच के बाद लिया है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।