ताज़ा खबर
 

अयोध्या मामलाः मध्यस्थता प्रक्रिया के नतीजों पर मांगी रिपोर्ट

पीठ ने अयोध्या विवाद से जुड़े दस्तावेजों के अनुवाद में कथित विसंगतियों की ओर ध्यान आकर्षित करने वाली अर्जी का भी गुरुवार को संज्ञान लिया। इस विवाद में मूल वादियों में एम सिदीक (अब दिवंगत) के प्रतिनिधियों ने अंतिम सुनवाई के दौरान इन विसंगतियों बाकी पेज 8 पर की ओर ध्यान आकर्षित करने की अनुमति चाही है। पां

Author Published on: July 19, 2019 12:08 AM
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (एएनआई फोटो)

सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में गुरुवार को मध्यस्थता प्रक्रिया की अनुमति देते हुए उसके नतीजों पर एक अगस्त तक रिपोर्ट मांगी है। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाले पांच सदस्यीय संवैधानिक पीठ ने कहा कि मध्यस्थता समिति द्वारा दायर रिपोर्ट पर विचार करने के बाद वह दो अगस्त को फैसला लेगी कि क्या मामले में सुनवाई की जरूरत है। अदालत के पूर्व न्यायाधीश एफएमआइ कलीफुल्ला की अध्यक्षता वाली समिति की रिपोर्ट पर विचार करने करते हुए पीठ ने कहा कि उसके पूर्व के आदेश के अनुसार रिपोर्ट की बातें गोपनीय रहेंगी।

पीठ में न्यायमूर्ति एसके बोबडे, न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति एसए नजीर शामिल हैं। पीठ ने कहा- उक्त रिपोर्ट में जो बातें हमारे संज्ञान में लाई गई हैं, उसे ध्यान में रखते हुए हम मामले की सुनवाई जरूरत पड़ने पर दो अगस्त को या उसके बाद से तय करते हैं। शीर्ष अदालत ने समिति से उसे 31 जुलाई तक हुई कार्यवाही के नतीजों के बारे में एक अगस्त तक सूचित करने को कहा।

पीठ ने अयोध्या विवाद से जुड़े दस्तावेजों के अनुवाद में कथित विसंगतियों की ओर ध्यान आकर्षित करने वाली अर्जी का भी गुरुवार को संज्ञान लिया। इस विवाद में मूल वादियों में एम सिदीक (अब दिवंगत) के प्रतिनिधियों ने अंतिम सुनवाई के दौरान इन विसंगतियों बाकी पेज 8 पर की ओर ध्यान आकर्षित करने की अनुमति चाही है। पांच सदस्यीय संविधान पीठ के समक्ष दायर इस अर्जी में न्यायिक रिकार्ड के अनुवाद में कथित रूप से ‘गंभीर त्रुटियों’ की एक सूची शामिल है। पीठ ने अपने आदेश में कहा, ‘आवेदन रिकार्ड पर लिया गया और इसमें किए गए अनुरोध की छूट प्रदान की गई। तद्नुसार आवेदन का निस्तारण किया जाता है।’

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 लोकसभा के मौजूदा सत्र में 20 वर्षों में सबसे ज्यादा हुए कामकाज, स्कोर 128 फीसदी
2 कुलभूषण जाधव पर ICJ के फैसले को तत्काल लागू करे पाकिस्तान, MEA प्रवक्ता
3 एंकर से भिड़ा मुस्लिम पैनलिस्ट, बोला- दलाली करनी है तो मुझे मत बुलाओ, शो से फौरन निकाला बाहर