ताज़ा खबर
 

गाय को मां नहीं मानते थे सावरकर, क्या इस ‘ज्ञानवादी’ सोच को मानेगी BJP? राहुल गांधी पर NCP नेता ने कही यह बात

एनसीपी नेता छगन भुजबल ने पूछा कि क्या सावरकर के सभी विचारों को बीजेपी स्वीकार करती है। बताया, "सावरकर ने कहा था कि गाय हमारी माता नहीं है, जबकि बीजेपी कहती है कि गाय माता है।"

Author मुंबई | Published on: December 15, 2019 4:04 PM
एनसीपी नेता छगन भुजबल (फोटो सोर्स- एएनआई)

नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता छगन भुजबल ने रविवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी के सावरकर वाले बयान पर उनका बचाव किया। उन्होंने कहा, “जब बड़े व्यक्तित्व की बात होती है तो हर कोई हर चीज पर सहमत नहीं होता है। सावरकर पर राहुल की अपनी सोच है।” छगन भुजबल का बयान राहुल गांधी के बयान के एक दिन बाद आया है। कांग्रेस पार्टी हमेशा सावरकर की आलोचना करती रही है, लेकिन महाराष्ट्र सरकार में एनसीपी के साथ सरकार बनाई शिवसेना इस पर अलग रुख रखती है।

दिल्ली की रैली में राहुल गांधी ने दिया था बयान : राहुल गांधी ने शनिवार को दिल्ली के रामलीला मैदान पर आयोजित कांग्रेस रैली में कहा था “मेरा नाम राहुल सावरकर नहीं, राहुल गांधी है। और मैं सच बोलने पर माफी नहीं मांगूंगा।” एनसीपी नेता छगन भुजबल ने पूछा कि क्या सावरकर के सभी विचारों को बीजेपी स्वीकार करती है। बताया, “सावरकर ने कहा था कि गाय हमारी माता नहीं है, जबकि बीजेपी कहती है कि गाय माता है।” पूछा कि क्या बीजेपी सावरकर के इस ज्ञानवादी सोच को मानती है। कहा कि बीजेपी इसको नहीं मानती है।

Hindi News Today, 15 December 2019, Hindi Samachar LIVE Updates: आज की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

महाराष्ट्र सरकार में उभर सकते हैं वैचारिक मतभेद : अब सावरकर मुद्दे पर शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी की साझेदारी से बनी तीन दलों की महाराष्ट्र सरकार में जल्द ही वैचारिक चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। एनसीपी नेता अजित पवार से जब पूछा गया कि क्या सावरकर मुद्दे से महा विकास अघाड़ी गठबंधन पर कोई प्रभाव पड़ेगा तो उन्होंने कहा, “शिवसेना नेता और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, कांग्रेस नेता सोनिया गांधी और एनसीपी नेता अजित पवार काफी समझदार और परिपक्व हैं। वे इस पर सही रास्ता निकाल लेंगे।”

राहुल गांधी के बयान का संजय राउत ने किया था विरोध : राहुल गांधी के बयान के बाद शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा था कि हिंदुत्व के शिखर पुरुष विनायक दामोदर सावरकर ने जवाहर लाल नेहरू और महात्मा गांधी की तरह अपना जीवन देश के लिए बलिदान कर दिया था। उन्होंने शनिवार को एक ट्वीट करके कहा था सावरकर का नाम श्रद्धा और आदर से लिया जाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 यूपी की महिला निशानेबाज ने अमित शाह को खून से लिखा पत्र, दिल्ली गैंगरेप के दोषियों को फांसी पर लटकाने की मांगी इजाजत
2 Citizenship Act, CAB Protest: आग लगाने वालों के कपड़े से ही पता चल जाता है, ये कौन लोग हैं- PM मोदी बोले
3 CAA के चलते हुआ 13000 करोड़ का नुकसान! जापानी निवेशक जा सकते हैं वापस
ये पढ़ा क्‍या!
X