ताज़ा खबर
 

केंद्र कर रहा हमारे खिलाफ साजिश, सीबीआइ का हो रहा बेजा इस्तेमाल: ममता बनर्जी

तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने भाजपा के खिलाफ अपनी लड़ाई को दिल्ली तक ले जाने की चेतावनी देते हुए कहा कि सारदा घोटाले में अपनी पार्टी को लपेटे जाने का वे राजनीतिक तरीके से जवाब देंगी। उन्होंने भाजपा पर देश में कालाधन वापस लाने के मुद्दे पर भी हमला बोला और चेतावनी भरे अंदाज […]

November 25, 2014 8:28 AM

तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने भाजपा के खिलाफ अपनी लड़ाई को दिल्ली तक ले जाने की चेतावनी देते हुए कहा कि सारदा घोटाले में अपनी पार्टी को लपेटे जाने का वे राजनीतिक तरीके से जवाब देंगी। उन्होंने भाजपा पर देश में कालाधन वापस लाने के मुद्दे पर भी हमला बोला और चेतावनी भरे अंदाज में कहा कि उसका ‘मुखौटा’ उतारा जाएगा। सारदा घोटाले की जांच में सीबीआइ पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ सोमवार को आयोजित रैली में ममता ने कहा- हमने बहुत बर्दाश्त कर लिया और सड़कों पर उतरने को मजबूर हो गए हैं। हमारे बारे में झूठ फैलाया जा रहा है। लेकिन बंगाल की धरती इतनी प्रभावशाली है कि यहां अगर कोई पौधा रोपा जाए तो पेड़ दिल्ली में उगेगा।

तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य सृंजय बोस को सीबीआइ ने सारदा चिटफंड घोटाले में शुक्रवार को गिरफ्तार किया था।

शहर के बीचोंबीच एस्प्लेनेड में एक अस्थायी मंच से लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा- मैं आमतौर पर सड़कें रोककर सभाएं नहीं करती लेकिन हमें ऐसा करना पड़ा और अगर जरूरत हुई तो हम फिर ऐसा करेंगे और दिल्ली में भी ऐसा करेंगे। मुझे नहीं पता कि आपने दूसरों के साथ क्या किया है लेकिन अगर आप बंगाल के साथ कुछ गलत करते हैं तो यहां से ज्यादा विरोध की आवाज कहीं नहीं उठेगी। आपको राजनीतिक और लोकतांत्रिक तरीके से जवाब दिया जाएगा।

कालेधन पर भाजपा को आड़े हाथ लेते हुए ममता ने कहा कि कालाधन वापस लाओ या फिर हम आपको काली कुर्सियों पर बैठाकर आपका मुखौटा उतारेंगे। उन्होंने यह दावा भी किया कि भाजपा चुनाव प्रचार में हजारों करोड़ खर्च कर रही है। इससे पहले उत्तर 24 परगना जिले के बोनगांव में एक समारोह में उन्होंने कहा- हमारे खिलाफ षड्यंत्र चल रहा है। उन्हें (भाजपा को) करने दीजिए। मैं उन्हें दिखाऊंगी कि चाहे जितना षड्यंत्र कर लें लेकिन हमें राज्य का विकास करने से नहीं रोक पाएंगे। ममता ने कहा कि साजिशें कर वे (भाजपा) सफल नहीं हो सकते क्योंकि हम जनता के लिए काम करते हैं। तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने भाजपा नेतृत्व को दिए संदेश में कहा कि आप एक या दो बाहरी लोगों के लिए पूरी पार्टी या सरकार की छवि खराब करने की कोशिश क्यों कर रहे हैं?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बिना ममता ने कहा- सत्ता में आए छह महीने हुए हैं जिनमें से ज्यादातर वक्त विदेश में बीता है इसलिए क्या वे देश को भूल गए हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि रेलवे, बीमा, खुदरा बाजार, पेंशन और रक्षा में 100 फीसद हिस्सेदारी बेची जा रही है। उन्हें देश को बेचने के लिए नोबेल पुरस्कार मिलेगा लेकिन यह नहीं पता कि वे किसे संतुष्ट करने के लिए ऐसा कर रहे हैं।

गुजरात दंगों के संबंध में मोदी के खिलाफ आरोपों को दोहराते हुए ममता ने कहा- आपने गुजरात में बहुत खून बहाया है लेकिन बंगाल को बख्श दीजिए। आपने बहुत दंगे कराए हैं लेकिन हम यहां दंगे नहीं चाहते। उन्होंने कहा कि जब भी चुनाव आते हैं, बांग्लादेशियों का मुद्दा आ जाता है। बांग्लादेशी घुसपैठियों का मुद्दा किसका है? केंद्र सरकार, यह आपका मुद्दा है। बांग्लादेशी किस तरह भारतीय नागरिक बन रहे हैं, यह केंद्र का मुद्दा है। अंतरराष्ट्रीय सीमाओं पर सुरक्षा की जिम्मेदारी केंद्र की है।

ममता ने कहा- हम यहां खुले में खड़े हैं। अगर आपको हमारी गिरफ्तारी से खुशी मिलती है तो ऐसा कर लो और जेल तैयार करो। बंगाल की धरती पर भ्रष्टाचार नहीं पहुंचा है, यहां के लोग ईमानदार हैं।

भाजपा शासित सरकार पर राजनीतिक प्रतिशोध की कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए ममता ने कहा- आप जिस डाल पर बैठे हैं, उसी को काट रहे हैं। यह न तो जनता के लिए ठीक है और न ही देश के लिए और आपकी छवि के लिए भी सही नहीं है। उन्होंने कहा कि चिट फंड को राज्य सरकार नियंत्रित नहीं करती। चिटफंड रिजर्व बैंक और सेबी के अधीन आते हैं। आपने कार्रवाई क्यों नहीं की? हमने गिरफ्तारियां कीं, हमने न्यायिक आयोग बनाया, हमने 17 लाख निवेशकों में से पांच लाख का पैसा लौटाया और अब आप हमें चोर बताने की कोशिश कर रहे हैं?

मुख्यमंत्री ने कहा कि वे चाहती हैं कि सीबीआइ मीडिया को खबरें लीक करने के बजाय जांच की प्रगति पर आधिकारिक बयान दे। दंगा-मास्टरमाइंड की गुंडा सरकार लोगों को गिरफ्तार करने के लिए सीबीआइ को मजबूर कर रही है। प्रशासन का इस तरह दुरुपयोग कैसे किया जा सकता है? ममता ने दावा किया कि केंद्र सरकार कुछ निजी चैनलों को भी प्रभावित करने की कोशिश कर रही है कि कौन से कार्यक्रमों का प्रसारण किया जाए और किसका नहीं। बर्दवान विस्फोट पर ममता ने कहा कि बांग्लादेशी हमारे पड़ोसी और भाई हैं। आतंकवादी तो आतंकवादी होते हैं। उनका कोई देश या धर्म नहीं होता।

 

 

 

Next Stories
1 सृंजय बोस को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया
2 नेहरू सम्मेलन में शामिल होने पर मोदी सरकार ने लिया बदला: ममता बनर्जी
3 सारदा चिटफंड घोटाले में तृणमूल के राज्यसभा सांसद सृंजय बोस गिरफ्तार
ये पढ़ा क्या?
X