ताज़ा खबर
 

संसद में सड़क की तरह नारेबाजी उचित नहीं : गंगवार

संतोष कुमार गंगवार ने आरोप लगाया कि कांग्रेस अपनी नकारात्मक राजनीति से लोकतंत्र की गरिमा गिरा रही है। संसद में बेमतलब के मुद्दे उठाकर कांग्रेस चर्चा से भागती रही है..

Author बरेली | December 26, 2015 12:20 AM
केंद्रीय वित्त ज्यमंत्री संतोष कुमार गंगवार। (फाइल फोटो)

केंद्रीय कपड़ा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संतोष कुमार गंगवार ने आरोप लगाया कि कांग्रेस अपनी नकारात्मक राजनीति से लोकतंत्र की गरिमा गिरा रही है। संसद में बेमतलब के मुद्दे उठाकर कांग्रेस चर्चा से भागती रही है। कांग्रेस के इस रवैए से देश के आर्थिक विकास के लिए जरूरी जीएसटी बिल भी अब तक पारित नहीं हो सका है। उन्होंने कहा कि इस तरह देश के विकास में बाधा डाल रही कांग्रेस को जनता जवाब देगी। गंगवार ने यहां भारत सेवा ट्रस्ट पर पत्रकारों से कहा कि राहुल गांधी और कांग्रेस के दूसरे नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरों पर बेवजह सवाल उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के दौरों से देश की विश्व में साख बढ़ी है।

अंतर्राष्टीय मंचों पर अब भारत को पहले से ज्यादा तरजीह मिल रही है। दूसरे देशों के साथ होने वाले आर्थिक समझौतों से देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी। लोगों को रोजगार के अवसर भी ज्यादा मिलेंगे। उन्होंने कहा कि जापान के साथ बुलेट ट्रेन का समझौता होने के बाद अब रूस के साथ हेलिकॉप्टर निर्माण और परमाणु क्षेत्र में समझौते हुए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मेक इन इंडिया के सपने को साकार करने के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सही दिशा में तेजी से काम कर रही है और इसके नतीजे भी जल्द दिखने लगेंगे। कांग्रेस देश के विकास में सहयोग करने के बजाए केंद्र सरकार और भाजपा पर अनर्गल आरोप लगा कर देश की छवि बिगाड़ने की कोशिश में जुटी है। उन्होंने कहा कि विपक्ष की भूमिका भी सकारात्मक होनी चाहिए। कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल अगर जनहित और विकास से जुड़े कोई मुद्दे उठाए तो सरकार हर समय चर्चा के लिए तैयार है। लेकिन संसद में सड़क की तरह नारेबाजी कर व्यवधान डालना तो किसी भी तरह से उचित नहीं ठहराया जा सकता है। उन्होंने कहा कि देश की जनता सब देख रही है। देश के लोग विकास में बाधक दलों और नेताओं को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

वित्त मंत्री अरुण जेटली पर लगे भष्टाचार के आरोपों के बारे मे बात करने पर उन्होंने कहा कि उन पर लगे आरोप क्रिकेट की राजनीति से प्रेरित हैं। उन पर लगाए जा रहे आरोपों की पहले ही यूपीए सरकार के दौर में जांच हो चुकी है, जिसमें वे बेदाग साबित हुए थे। उन्होने कहा कि राजनीति से प्रेरित बेबुनियाद आरोप लगाने वाले नेताओं पर मानहानि के मामले दर्ज कर अरुण जेटली ने साहस का काम किया है। उनका यह साहस ही दर्शाता है कि वे बेदाग हैं। उन्होंने कहा कि जेटली की छवि शुरू से ही बेदाग रही है। भाजपा के सांसदों कीर्ति आजाद और शत्रुघ्न सिन्हा का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी के कुछ लोग भी राजनीति के तहत उन पर आरोप लगा रहे हैं लेकिन झूठे और बेबुनियाद आरोप कभी टिकते नहीं हैं। भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने भी उन पर लगे सभी आरोपों को खारिज किया है।

Next Stories
1 हार्दिक की रिहाई की मांग, पीएएएस के दो नेता भूख हड़ताल पर
2 देश भर में क्रिसमस की रही धूम
3 मोदी के आकस्मिक लाहौर दौरे का अलगाववादियों ने किया ‘स्वागत’
आज का राशिफल
X