हिंदुत्व पर शिवसेना को नसीहत देने वाले आज हिंदुओं के खिलाफ हो रहे हमले पर शांत क्यों? मोदी सरकार पर संजय राउत ने कसा तंज

राउत ने लिखा कि बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों पर हमले हो रहे हैं। हिंदू बस्तियों को जलाया जा रहा है। हिंदू लड़कियों के सम्मान पर हमला हो रहा है। बांग्लादेश में हिंदू समाज किसी न किसी तरह डर के साये में जी रहा है।

Sanjay Raut
राउत ने सामना के संपादकीय में लिखा है कि पिछले 15 दिनों में कश्मीर घाटी के 220 हिंदू-सिख परिवारों ने जम्मू में शरणार्थी शिविरों में शरण ली है।

शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिए एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा है। शिवसेना नेता संजय राउत ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर हो रहे हमले और कश्मीर में पलायन के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरा है।

राउत ने सामना के संपादकीय में लिखा है कि पिछले 15 दिनों में कश्मीर घाटी के 220 हिंदू-सिख परिवारों ने जम्मू में शरणार्थी शिविरों में शरण ली है। जिन लोगों ने शिवसेना को हिंदुत्व का पाठ पढ़ाया था, उन्हें आज कश्मीर में हिंदुओं का पलायन और हत्या नहीं दिख रही है।

राउत ने लिखा कि बांग्लादेश में हिंदू मंदिरों पर हमले हो रहे हैं और हिंदुओं की बस्तियों को जलाया जा रहा है, हिंदूओं की लड़कियों के सम्मान पर हमला हो रहा है। बांग्लादेश में हिंदू समाज किसी न किसी तरह डर के साये में जी रहा है। लेकिन महाराष्ट्र के खोखले हिंदुत्ववादियों को अब बांग्लादेश के हिंदुओं की दुर्दशा से कोई सरोकार नहीं है। कश्मीर और बांग्लादेश में जलते हिंदुओं की रक्षा करना भी तो मोदी सरकार का कर्तव्य है।

इसी के साथ सामना में लिखा गया है कि भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने हिंदुत्व की रक्षा के लिए बांग्लादेश पर सैन्य कार्रवाई का सुझाव दिया है। मोदी सरकार को इस सलाह को मानना चाहिए।

सामना में ये भी लिखा गया है कि लोग कहते हैं कि शिवसेना ने सत्ता के लिए हिंदुत्व छोड़ा, क्या जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती की पार्टी के साथ सत्ता के लिए तय की गई शादी को लोग भूल सकते हैं? राष्ट्रीय हित के नाम पर उन्होंने तो अलगाववादी आतंकियों से सीधे हाथ मिलाकर सत्ता की रौनक खा ली थी।

शिवसेना ने ये भी कहा कि आज न केवल हिंदू खतरे में हैं बल्कि भारत खतरे में है! प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले पर देश का सबसे बड़ा तिरंगा फहराया क्योंकि 100 करोड़ वैक्सीन का लक्ष्य पूरा हो गया था। यह सही है, लेकिन जिस तरह से चीनी, पाकिस्तान, बांग्लादेशी सीमा पर बेधड़क छापेमारी कर रहे हैं, क्या वह भव्य, तेजस्वी तिरंगा सुरक्षित है? इस पर विचार करना होगा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
योगी आदित्यनाथ और भाजपा प्रत्याशी समेत अनेक लोगों पर मुकदमा
अपडेट