ताज़ा खबर
 

इंदिरा गांधी-करीम लाला वाले कमेंट पर बिदकी कांग्रेस, कहा- संजय राउत वापस लें बयान, नहीं पछताना पड़ेगा

कांग्रेस के एक और पूर्व अध्यक्ष मिंलिद देवड़ा ने कहा, ‘‘कांग्रेस की मुम्बई इकाई का पूर्व अध्यक्ष होने के नाते मैं संजय राउत जी से उनके गलत बयान को वापस लेने का अनुरोध करता हूं। राजनेताओं को दिवंगत प्रधानमंत्रियों की विरासत को गलत तरीके से पेश करने से बचना चाहिए।’’

Author मुंबई | Updated: January 16, 2020 2:12 PM
राज्यसभा सांसद और शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत। (ANI)

कांग्रेस नेता मिंलिद देवड़ा और संजय निरुपम ने गुरुवार (16 जनवरी) को शिवसेना सांसद संजय राउत से पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी पर की गई उनकी कथित टिप्पणी वापस लेने को कहा है। राउत ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के अंडरवर्ल्ड डॉन करीम लाला से मिलने का कथित दावा किया था। पूर्व केन्द्रीय मंत्री मिंलिद देवड़ा ने इंदिरा गांधी को एक सच्ची देशभक्त बताया, जिन्होंने कभी भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया।

इंदिरा गांधी करीम लाला से मुम्बई में मुलाकात करती थीं: महाराष्ट्र में राउत की पार्टी शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी के गठबंधन के साथ सत्ता में है। राज्यसभा सदस्य राउत ने बुधवार (15 जनवरी) को दावा किया था कि इंदिरा गांधी करीम लाला से मुम्बई में मुलाकात करती थीं। करीम लाला, मस्तान मिर्जा उर्फ हाजी मस्तान और वरदराजन मुदलियार मुम्बई के बड़े माफिया सरगना थे, जो 1960 से लेकर अस्सी के दशक तक सक्रिय रहे।

Hindi News Live Hindi Samachar 16 January 2020: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बयान वापस लेना चाहिए: मिंलिद देवड़ा ने कहा कि राजनेताओं को उन प्रधानमंत्रियों की विरासत गलत तरीके से पेश करने से बचना चाहिए, जो अब इस दुनिया में नहीं हैं। उन्होंने ट्वीट किया है कि, “इंदिरा जी एक सच्ची देशभक्त थीं, जिन्होंने कभी भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता नहीं किया।” देवड़ा ने कहा, ‘‘कांग्रेस की मुम्बई इकाई का पूर्व अध्यक्ष होने के नाते मैं संजय राउत जी से उनके गलत बयान को वापस लेने का अनुरोध करता हूं।राजनेताओं को दिवंगत प्रधानमंत्रियों की विरासत को गलत तरीके से पेश करने से बचना चाहिए।’’

संजय निरुपम ने कहा ‘‘पछताना’’ पड़ेगा: मुम्बई कांग्रेस के एक और पूर्व अध्यक्ष संजय निरुपम ने कहा कि राउत ने गांधी के खिलाफ अगर ‘‘झूठा अभियान’’ जारी रखा तो उन्हें ‘‘पछताना’’ पड़ेगा। राउत द्वारा ट्विटर पर अक्सर दूसरों की कविताएं साझा किए जाने का संदर्भ देते हुए निरुपम ने कहा कि बेहतर होगा कि अगर शिवसेना नेता कविताओं से महाराष्ट्र का मनोरंजन करने पर भी ध्यान दें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 CM नीतीश पर लालू यादव-राबड़ी का हमला, कहा- CAA व NRC खत्म करने के लिए RJD सब कुछ न्यौछावर करने को तैयार
2 गुजरातः बढ़ीं Sabarmati University की मुश्किलें, अनियमितताओं पर नोटिस जारी, रूपाणी सरकार बोली- हफ्ते भर में दो जवाब
3 CAA के खिलाफ केरल सरकार ने डाली SC में याचिका, नाराज हुए गवर्नर आरिफ मोहम्मद, बोले- मैं कोई रबर स्टांप नहीं हूं
ये पढ़ा क्‍या!
X