ताज़ा खबर
 

स्कूलों में होगा स्वच्छता ही सेवा का आयोजन: देशभर के बच्चे ‘बापू को लिखेंगे पत्र’

मंत्रालय के एक अधिकारी ने ‘भाषा’ को बताया कि स्कूल शिक्षा एवं साक्षारता विभाग से 11 सितंबर से 2 अक्तूबर तक ‘स्वच्छता ही सेवा’ कार्यक्रम आयोजित करने का अनुरोध किया गया है। उन्होंने बताया कि इन कार्यक्रमों में ‘‘बापू को पत्र’’ पहल भी होगी।

नई दिल्ली | Updated: September 4, 2019 5:10 PM
mahatma gandhi jayanti: राष्ट्रपिता महात्मा गांधी

विद्यार्थियों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता बढ़ाने की पहल के तहत मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने स्कूलों के लिये ‘‘स्वच्छता पखवाड़ा एवं स्वच्छता ही सेवा’’ कार्यक्रम की योजना बनाई है जिसमें ‘‘बापू को पत्र’’ लिखकर साफ सफाई के महत्व एवं अपने योगदान के बारे में बताने सहित कक्षा की सफाई, स्थानीय समुदाय को पानी के महत्व आदि की जानकारी देने पर जोर दिया गया है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन करने के बारे में सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों के शिक्षा सचिवों / मुख्य सचिवों को पत्र लिखा है।

मंत्रालय के एक अधिकारी ने ‘भाषा’ को बताया कि स्कूल शिक्षा एवं साक्षारता विभाग से 11 सितंबर से 2 अक्तूबर तक ‘स्वच्छता ही सेवा’ कार्यक्रम आयोजित करने का अनुरोध किया गया है। उन्होंने बताया कि इन कार्यक्रमों में ‘‘बापू को पत्र’’ पहल भी होगी। इसमें दो श्रेणियों में बच्चों के लिये पत्र लेखन प्रतियोगिता का आयोजन करने को कहा गया है। इसमें पहली श्रेणी में तीसरी से पांचवी कक्षा के बच्चों को और दूसरी श्रेणी में छठवीं से बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों को रखा गया है।

अधिकारी ने बताया कि बापू को पत्र प्रतियोगिता में बच्चे साफ सफाई के महत्व एवं स्वच्छता में अपने योगदान के बारे में बताएंगे जो महात्मा गांधी को उनकी 150वीं जयंती पर सच्ची श्रद्धांजलि होगी। उन्होंने बताया कि स्कूलों के प्रमुखों से स्वच्छता संबंधी गतिविधियों पर जानकारी देने को भी कहा गया है। उन्होंने बताया कि शिक्षा सचिवों को लिखे गए पत्र में सामुदायिक सम्पर्क कार्यक्रम के तहत आसपास के गांव में स्थानीय समुदाय से सम्पर्क कर शौचालयों का उपयोग, साफ सफाई, कचरा प्रबंधन तथा पानी की बर्बादी रोकने के विषय उठाने की बात कही गई है।

अधिकारी के अनुसार, पत्र में स्वच्छता जागरूकता दिवस के संदर्भ में बैठक आयोजित कर साफ सफाई का महत्व रेखांकित करने तथा जागरूकता पर जोर देने की बात कही गई है। पत्र में स्कूलों में हरित स्कूल कार्यक्रमों का आयोजन करने, इसके लिये स्कूलों में इको क्लब स्थापित करने और पेड़ पौधे लगाने पर भी जोर दिया गया है।

साथ ही पत्र में जिला एवं ब्लाक स्तरों पर स्कूलों में शौचालयों एवं परिसरों के बारे में प्रतियोगिता आयोजन तथा हाथ साफ रखने के बारे में भी बच्चों में जागरूकता पर जोर देने को कहा गया है। इसके अलावा पत्र में स्कूलों में स्वच्छता स्कूल प्रदर्शनी दिवस और इस संबंध में फोटोग्राफ, पेंंिटग, कार्टून, नारे लिखने जैसी गतिविधियों का आयोजन करने की बात भी कही गई है।

Next Stories
1 कुमारी शैलजा बनाई गईं हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष, भूपेंद्र सिंह हुड्डा होंगे विधायक दल के नेता, चुनाव की कमान भी मिली
2 गाड़ी पर ‘जाट’, ‘पत्रकार’, ‘एडवोकेट’ दिखने पर अब जुर्माना! धर्म-पेशे के बारे में लिखवाने पर यहां कटेगा चालान
3 BJP का महाजनसंपर्क अभियान: मिल्खा सिंह से मिले प्रकाश जावड़ेकर, पूरे परिवार को समझाया अनुच्छेद 370 हटाने का फायदा
ये पढ़ा क्या?
X